मुख्य समाचार:

यस बैंक में आठ निवेशक दो अरब डॉलर की फंडिंग के लिये तैयार, राकेश झुनझुनवाला की पत्नी भी शामिल

यस बैंक ने कहा कि इरविन सिंह ब्रैच के नेतृत्व में आठ निवेशकों ने पूंजी की कमी से जूझ रहे निजी क्षेत्र के बैंक में दो अरब डॉलर निवेश करने में रुचि दिखाई है.

Updated: Nov 30, 2019 2:20 PM
yes bank says eight investors ready to invest 2 billion dollar in bank यस बैंक ने कहा कि इरविन सिंह ब्रैच के नेतृत्व में आठ निवेशकों ने पूंजी की कमी से जूझ रहे निजी क्षेत्र के बैंक में दो अरब डॉलर निवेश करने में रुचि दिखाई है.

यस बैंक (Yes Bank) ने कहा कि इरविन सिंह ब्रैच के नेतृत्व में आठ निवेशकों ने पूंजी की कमी से जूझ रहे निजी क्षेत्र के बैंक में दो अरब डॉलर निवेश करने में रुचि दिखाई है. बैंक के निदेशक मंडल के सदस्य पूंजी की कमी पूरी करने संबंधी जानकारियों को अंतिम रूप और मंजूरी देने के लिए 10 दिसंबर को फिर बैठक करेंगे. बैंक ने बताया कि बैंक में निवेश करने में रुचि दिखाने वालों में आदित्य बिड़ला फैमिली ऑफिस और शेयर बाजार निवेशक राकेश झुनझुनवाला की पत्नी रेखा झुनझुनवाला भी शामिल हैं.

शुक्रवार को बैंक के शेयर 2.5 फीसदी गिरे

बैंक के शेयर शुक्रवार को 2.50 फीसदी गिकर 68.30 रुपये पर बंद हुए थे. बैंक के शेयरों में निवेशकों की रुचि येस बैंक के लिये अच्छी खबर है. बैंक के बुरे कर्ज और मैनेजमेंट में बदलाव की वजह से निवेशकों का भरोसा घट गया था. बैंक को कर्ज चुकाने के लिये बड़ी राशि का भुगतान करना था, वहीं CG पावर और Cox & Kings जैसी कंपनियों में कॉरपोरेट फ्रॉड की वजह से हालत और खराब हो गई.

यस बैंक के फाउंडर राणा कपूर को आरबीआई ने सीईओ के तौर पर एक और कार्यकाल देने से पिछले साल मना कर दिया था. भुगतान न करने की वजह से करदाताओं ने उनके शेयर बेच दिये. उसके बाद जनवरी में रवनीत गिल को सीईओ के पद पर नियुक्त किया गया और उन्होंने मार्च में अपने तीन साल के कार्यकाल की शुरुआत की.

उद्योग जगत को अगली तिमाही में GDP बेहतर होने की उम्मीद, सरकार के कदमों का असर दिखने का भरोसा

बैंक को सितंबर तिमाही में 600 करोड़ का घाटा

यस बैंक को सितंबर तिमाही में 600 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. बैंक का ग्रॉस बैड लोन जून के आखिर के 5 फीसदी से बढ़कर 7.4 फीसदी पर पहुंच गया. अगस्त में बैंक ने कुछ घरेलू निवेशकों और फॉरेन पोर्टफोलियो एनवेस्टर्स को अपने शेयर बेचकर 275 मिलियन डॉलर जुटाये थे. इससे पहले मार्च तिमाही में हॉयर प्रोविजनिंग की वजह से पहली बार 1,506.64 करोड़ रुपये का तिमाही घाटा हुआ था. जबकि एक साल पहले मार्च तिमाही में बैंक को 1,179.44 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. हालांकि जून तिमाही में बैंक फिर मुनाफे में आ गया और 114 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ. यस बैंक को वित्तवर्ष 2018 में 25,491 करोड़ रुपए की आय हुई थी. वहीं 4225 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. यस बैंक में आठ निवेशक दो अरब डॉलर की फंडिंग के लिये तैयार, राकेश झुनझुनवाला की पत्नी भी शामिल

Go to Top