मुख्य समाचार:

Yes Bank Q4: यस बैंक पर कमजोर बिजनेस की मार! Q4 में 4000 करोड़ से ज्यादा घाटे का अनुमान

Yes Bank Q4 Preview: निजी क्षेत्र के यस बैंक को मार्च तिमाही में भारी भरकम घाटे का अनुमान जताया गया है.

May 6, 2020 3:25 PM
Yes Bank Q4 today on 6 may 2020, Experts seen Yes Bank to report bigg loss, Yes Bank weak business, high provisioning in Yes Bank, Yes Bank NII, NPA, यस बैंक, यस बैंक को घाटे का अनुमानYes Bank Q4 Preview: निजी क्षेत्र के यस बैंक को मार्च तिमाही में भारी भरकम घाटे का अनुमान जताया गया है.

निजी क्षेत्र के यस बैंक को मार्च तिमाही में भारी भरकम घाटे का अनुमान जताया गया है. ब्रोकरेज हाउस की अलग अलग रिपोर्ट के अनुसार जनवरी से मार्च तिमाही के दौरान यस बैंक को 4000 करोड़ से ज्यादा का घाटा हो सकता है. बिजनेस में लगातार गिरावट और एनपीए के चलते हायर प्रोविजनिंग से बैंक को बड़ा घाटा हो सकता है. एक साल पहले की समान तिमाही में यस बैंक को करीब 1507 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. वहीं दिसंबर तिमाही में बैंक को रिकॉर्ड 18,559.6 करोड़ का घाटा हुआ था.

बिगाड़ सकता है पूरे सेक्टर की तस्वीर

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अुनसार मार्च तिमाही में हाई प्रोविजनिंग और बिजनेस में लगातार गिरावट से बैंक को भारी घाटा उठाना पड़ सकता है. ब्रोकरेज का अनुमान है कि यस बैंक को भारी घाटा होने के चलते मार्च तिमाही में प्राइवेट सेक्टर के बैंकों की अर्निंग में 7 फीसदी गिरावट आ सकती है.

रिपोर्ट के अनुसार यस बेंक का नेट इंटरेसट इनकम (NII) सालाना आधार पर करीब 67 फीसदी गिरकर 818 करोड़ के आस पास रह सकता है. बैंक को मार्च तिमाही में 188.5 करोड़ का आपरेटिंग लॉस हो सकता है. एक साल पहले की समान अवधि में बैंक को 1323 करोड़ का आपरेटिंग प्रॉफिट हुआ था.

NII में बड़ी गिरावट का अनुमान

ब्रोकरेज हाउस कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज के अनुसार मार्च तिमाही में बैंक को 4400 करोड़ का घाटा उठाना पड़ सकता है. ब्रोकरेज के अनुसार कमजोर लोन ग्रोथ की वजह से नेट इंटरेस्ट इनकम में सालाना आधार पर 60 फीसदी की कमी आ सकती है. आउटस्टैंडिंग लोन में सालाना आधार पर 40 फीसदी गिरावट आ सकती है. कमजोर फी इनकम से रेवेन्यू पर भी दबाव बढ़ेगा.

यस बैंक का रेस्क्यू प्लान

इसी साल मार्च में सरकार ने यस बैंक का रेस्क्यू प्लान मंजूर किया था. प्लान के अनुसार एसबीआई आगे यस बैंक में 7250 करोड़ रुपये निवेश करेगा. यह बैंक की 49 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है. इस प्लान के तहत एसबीआई 10 रुपये प्रति शेयर के आधार पर कुल 725 करोड़ शेयर खरीदेगा. इसके अलावा आईसीआईसीआई बैंक और HDFC बैंक ने भी यस बैंक में 1 हजार करोड़ रुपये निवेश करने की योजना साफ कर दी है. एसबीआई के अलावा दूसरे इन्वेस्टर्स यस बैंक में 5000 करोड़ रुपये निवेश करेंगे. इस लिहाज से बैंक में कुल 12500 करोड़ का निवेश होने की उम्मीद है.

दिसबंर तिमाही में रिकॉर्ड घाटा

दिसबंर तिमाही में यस बैंक को 18,564 करोड़ रुपये का भारी भरकम घाटा हुआ था. बैड लोन की वजह से बैंक को इतना बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है. एक साल पहले की समान अवधि में बैंक को 1001.8 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. बैंक का ग्रॉस NPA दिसंबर तिमाही में बढ़कर 18.87 फीसदी हो गया है जो एक साल पहले की समान अवधि में 2.10 फीसदी था. वहीं, पिछली तिमाही में यह 7.39 फीसदी था.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Yes Bank Q4: यस बैंक पर कमजोर बिजनेस की मार! Q4 में 4000 करोड़ से ज्यादा घाटे का अनुमान

Go to Top