सर्वाधिक पढ़ी गईं

YES बैंक के हर ग्राहक का पैसा सुरक्षित, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिलाया भरोसा

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, ‘‘हमारी इस मामले पर पूरी पकड़ है. रिजर्व बैंक के गवर्नर ने मुझे भरोसा दिलाया है कि यस बैंक के किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं होगा.’’

Updated: Mar 06, 2020 3:39 PM
Yes Bank depositors' money safe and RBI working on early resolution assured Finance Minister Nirmala Sitharamanवित्त मंत्री ने कहा कि बैंक के ग्राहक 50,000 रुपये की सीमा में पैसे निकाल सकें, यह सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है.

Yes Bank Crisis: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शुक्रवार को यस बैंक (Yes Bank) के खाताधारकों को भरोसा दिलाया कि उनका पैसा सुरक्षित है और रिजर्व बैंक (RBI) यस बैंक से जुड़े मुद्दों का तेजी से समाधान करने के लिए काम कर रहा है. सीतारमण ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं रिजर्व बैंक के साथ लगातार संपर्क में हूं. केंद्रीय बैंक की इस मामले पर पूरी पकड़ है और उसने इसके जल्द समाधान के लिए आश्वस्त किया है. मैं भरोसा दिलाना चाहती हूं कि यस बैंक के हर जमाकर्ता का पैसा सुरक्षित है.’’ उन्होंने कहा कि यह कदम जमाकर्ताओं, बैंक और अर्थव्यवस्था के हित में उठाए गए हैं.

वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, ‘‘हमारी इस मामले पर पूरी पकड़ है. रिजर्व बैंक के गवर्नर ने मुझे भरोसा दिलाया है कि यस बैंक के किसी भी ग्राहक को कोई नुकसान नहीं होगा.’’ रिजर्व बैंक ने गुरुवार को सरकार से मशविरा करने के बाद यस बैंक पर रोक लगाई और उसके बोर्ड को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया है. वहीं, बैंक के ग्राहकों पर भी 50,000 रुपये मासिक तक निकासी करने की लिमिट लगाई है. येस बैंक किसी भी तरह का नया लोन नहीं दे सकेगा या न ही नया निवेश कर सकेगा.

क्या आप Yes bank के ग्राहक हैं? जानिए किस स्थिति में निकाल सकते हैं 5 लाख रुपये तक रकम

वित्त मंत्री ने कहा कि बैंक के ग्राहक 50,000 रुपये की सीमा में पैसे निकाल सकें, यह सुनिश्चित करना सबसे पहली प्राथमिकता है. अगले एक महीने के लिए रिजर्व बैंक ने भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व मुख्य वित्त अधिकारी प्रशांत कुमार को येस बैंक का प्रशासक नियूक्त किया है. वहीं देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई के निदेशक मंडल ने नकदी संकट से जूझ रहे येस बैंक में निवेश के लिए ‘सैद्धांतिक’ स्वीकृति दे दी है. वहीं,  मुख्य आर्थिक सलाहकार (CEA) कृष्णमूर्ति सुब्रमण्यम ने शुक्रवार को यस बैंक के ग्राहकों के हितों की सुरक्षा का आश्वासन दिया. उन्होंने कहा कि बैंक के जमाकर्ताओं का धन सुरक्षित है और बैंक के पुनर्गठन के लिए सभी विकल्पों पर विचार किया जा रहा है.

बहुत जल्दी हो जाएगा समाधान: शक्तिकांत दास

संकट में फंसे यस बैंक पर मौजूदा समय में रोक लगाने के निर्णय का बचाव करते हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को कहा कि बैंक से जुड़े मुद्दों का समाधान ‘बहुत जल्दी’ कर लिया जाएगा. यहां संवाददाताओं से बातचीत में दास ने कहा, ‘‘यस बैंक का समाधान बहुत तेजी से कर लिया जाएगा. हमने इस पर रोक के लिए 30 दिन की समय सीमा तय की है. रिजर्व बैंक की ओर से इस दिशा में आप बहुत जल्द कार्रवाई होते देखेंगे.’’

उन्होंने कहा कि यस बैंक पर रोक लगाने का निर्णय किसी एक इकाई को ध्यान में रखकर नहीं किया गया. बल्कि यह निर्णय देश के बैंकिंग क्षेत्र और वित्तीय प्रणाली की सुरक्षा और स्थिरता को बनाए रखने के ‘व्यापक संदर्भ’ को लक्ष्य करके किया गया है. दास ने कहा, ‘‘ मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हमारा बैंकिंग क्षेत्र पूरी तरह से सुचारू और सुरक्षित बना रहेगा. वित्तीय और बैंकिंग क्षेत्र की स्थिरता को बनाए रखने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं.’’

YES बैंक पर RBI की पाबंदी से ग्राहकों में खलबली, JP Morgan ने शेयर का टारगेट घटाकर 1 रुपया किया

दास ने कहा कि हमेशा रिजर्व बैंक के सक्रियता से काम करने या किसी काम में बहुत समय लेने को लेकर बहस बनी रहती है. उन्होंने कहा, ‘‘मेरे मत में यह उपयुक्त समय है. मैं आश्वस्त कर सकता हूं कि आरबीआई बहुत जल्द यस बैंक के रिज्योलुशन के लिए एक योजना लेकर आएगा.’’ उन्होंने कहा कि बैंक के प्रबंधन को एक विश्वसनीय रिज्योलुशन प्लान तैयार करने के लिए पूरा अवसर दिया गया. बैंक ने प्रयास भी किए, लेकिन जब हमें लगा कि हम और इंतजार नहीं कर सकते तथा हमें और इंतजार नहीं करना चाहिए तो हमने हस्तक्षेप का निर्णय किया.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. YES बैंक के हर ग्राहक का पैसा सुरक्षित, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिलाया भरोसा

Go to Top