मुख्य समाचार:

भारत में तेजी से बढ़ रही है आॅनलाइन गेमिंग, 50-100% है ग्रोथ रेट, तीन पत्ती-रम्मी और पोकर हैं किंग

ऑनलाइन कार्ड गेम्स साल दर साल 50-100 फीसदी की दर से बढ़ रहे हैं. KPMG के मुताबिक साल 2023 तक भारत में ऑनलाइन गेमिंग इंडस्ट्री 11,880 करोड़ रुपये की हो सकती है.

Updated: Sep 30, 2018 3:39 PM
poker, teen patti, rummy, online gaming, online game, online game in india, games, financial express hindiऑनलाइन कार्ड गेम्स साल दर साल 50-100 फीसदी की दर से बढ़ रहे हैं. KPMG के मुताबिक साल 2023 तक भारत में ऑनलाइन गेमिंग इंडस्ट्री 11,880 करोड़ रुपये की हो सकती है. (Photo source- Reuters)

भारत में भले ही लास वेगास और मकाउ की तरह बड़े पैमाने पर कसीनों कल्चर न हो लेकिन ऑनलाइन गेमिंग के जरिए कार्ड गेम तेजी से लोगों के बीच फैल रहा है. वित्त वर्ष 2018 में भारत में ऑनलाइन गेम इंडस्ट्री करीब 4,380 करोड़ का आंकड़ा छू सकती है तो वहीं 22.1 फीसदी CAGR के साथ वित्त वर्ष 2023 तक इसके 11,880 करोड़ रुपये का होने की उम्मीद है.

ऑनलाइन कार्ड गेम्स साल दर साल 50-100 फीसदी के हिसाब से बढ़ रहे हैं. इनमें सबसे फेमस तीन पत्ती, रम्मी और पोकर रहे हैं. कॉरपोरेट लॉयर एंड फाउंडर ऑफ Glaws जय सायता ने कहा कि असम और ओडिसा में पोकर खेलना गैरकानूनी है वहीं गुजरात और तेलंगाना में पोकर के जरिए जीता हुआ पैसा न विड्रा किया जा सकता है और न ही उसके लिए पैसा डिपॉजिट करा सकते हैं.

हालांकि, इन राज्यों के बाहर अगर आपका पैसा 10,000 से ज्यादा है तो उसे विड्रो करने पर 30 फीसदी का TDS लगेगा, जिसके बाद वो पैसा पूरी तरह से लीगल होगा. लेकिन, अगर पोकर को इंटरनेशनल स्तर पर खेला जाएगा तो वो FEMA गाइडलाइंस का उल्लंघन होगा, जिसके लिए पेनल्टी लग सकती है.

Adda52 (पोपुलर पोकर प्लेटफॉर्म) के को-फाउंडर मोहित अग्रवाल का कहना है कि बड़े टीवी चैनल्स और दूसरे प्लेटफॉर्म पोकर के विज्ञापन करने से मना करते हैं लेकिन, फिर भी चीजें बेहतर हुई हैं, पहले अगर 10 चैनल्स विज्ञापन के लिए तैयार होते थे तो अब 50 तैयार हो जाते हैं. मोहित अग्रवाल के मुताबिक देश में एक लाख पोकर खिलाड़ी अपने असली पैसे से पोकर खेलते हैं, जिसमें 25-40 साल के ज्यादा यूजर है.

वर्तमान में भारत में ऑनलाइन पोकर स्पेस के 700 करोड़ रुपये के होने का अनुमान है. डाबर के वाइस चेयरमैन अमित बर्मन ने कहा कि उनका मानने है कि पोकर कोई जुआ नहीं, बल्कि खेल है. इसीलिए वो पोकर लीग करा रहे हैं, जहां फ्रेंचाइजी और टीम एक दूसरे के खिलाफ खेलेंगी. बता दें कि इन्होंने 2 साल पहले भी 20 करोड़ रुपये लगाकर पोकर लीग कराई थी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. भारत में तेजी से बढ़ रही है आॅनलाइन गेमिंग, 50-100% है ग्रोथ रेट, तीन पत्ती-रम्मी और पोकर हैं किंग

Go to Top