मुख्य समाचार:
  1. विप्रो का Q1 मुनाफा 12.5% बढ़कर 2,388 करोड़ रुपये

विप्रो का Q1 मुनाफा 12.5% बढ़कर 2,388 करोड़ रुपये

विप्रो की इनकम पहली तिमाही में करीब 5 फीसदी बढ़कर 15,566.6 करोड़ रुपये हो गई.

July 17, 2019 5:48 PM
wipro Q1 profitविप्रो की इनकम पहली तिमाही में करीब 5 फीसदी बढ़कर 15,566.6 करोड़ रुपये हो गई.

आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी विप्रो लिमिटेड का चालू वित्त वर्ष 2019-20 की अप्रैल-जून तिमाही में कंसॉलिडेटेड शुद्ध लाभ 12.5 फीसदी बढ़कर 2,387.6 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. कंपनी ने बुधवार को यह जानकारी दी.

कंपनी के अनुसार, एक साल पहले इसी तिमाही में उसे 2,120.8 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ था. समीक्षाधीन अवधि के दौरान, कंपनी की कुल कंसॉलिडेटेड आय करीब 5 फीसदी बढ़कर 15,566.6 करोड़ रुपये हो गई. वर्ष 2018-19 की पहली तिमाही में उसकी आय 14,827.4 करोड़ रुपये रही थी.

विप्रो का प्रमुख बिजनेस आईटी सर्विसेज से रेवेन्यू पहली तिमाही में सालाना आधार पर 4.3 फीसदी बढ़कर 2038.8 मिलियन डॉलर हो गया. कंपनी ने पहले ही कहा था कि उसका आईटी सर्विसेज रेवेन्यू जून 2019 तिमाही में 2046 से 2087 ​मिलियन डॉलर रह सकता है.विप्रो, टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज और इन्फोसिस की प्रमुख प्रतिद्वंद्वी कंपनी है.

विप्रो के चीफ फाइनेंशियल आफिसर जतिन दलाल का कहना है कि हमारा आईटी सर्विसेज मार्जिन 18.4 फीसदी रहा. वहीं, कैश फ्लो हमारी नेट इनकम का 98.8 फीसदी रहा. इस साल की शुरुआत हमारी सुस्त रही, हालांकि हमने आपरेशंस पर फोकस रखा और टैलेंट और क्षमता विस्तार करने पर निवेश किया.

मार्च 2019 तिमाही में विप्रो का मुनाफा 3.8 फीसदी गिरकर 2483.5 करोड़ रुपये रहा था. जबकि रेवेन्यू 1.9 फीसदी गिरकर 15,006.3 करोड़ रुपये दर्ज किया गया था.

BFSI से आय 4539.5 करोड़

वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही में विप्रो की आईटी सर्विसेस एबिट 5.5 फीसदी घटकर 2652 करोड़ रुपये रही है जो वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में 2808 करोड़ रुपये रही थी. तिमाही आधार पर पहली तिमाही में विप्रो की एबिट मार्जिन 19.3 फीसदी से घटकर 18.4 फीसदी पर आ गई है. वहीं कंपनी की BFSI बिजनेस से होने वाली आय पिछली तिमाही के 4604 करोड़ रुपये से घटकर 4539.5 करोड़ रुपये रही है.

Go to Top