मुख्य समाचार:
  1. इलेक्शन वोलेटिलिटी का है डर तो निवेश के लिए चुनें ये डिविडेंड स्टॉक, मिल सकता है 42% तक रिटर्न

इलेक्शन वोलेटिलिटी का है डर तो निवेश के लिए चुनें ये डिविडेंड स्टॉक, मिल सकता है 42% तक रिटर्न

Dividend Stocks: उतार-चढ़ाव के दौर में डिविडेंड देने वाले स्टॉक होते हैं सुरक्षित विकल्प

April 8, 2019 7:58 AM
Dividend Stocks, Volatility, Election Volatility, Safe Investment, Stock Market, डिविडेंड देने वाले स्टॉक, डिविडेंड स्टॉक, Invest In Dividend StocksDividend Stocks: उतार-चढ़ाव के दौर में डिविडेंड देने वाले स्टॉक होते हैं सुरक्षित विकल्प

Dividend Stocks: पिछले हफ्ते में शेयर बाजार में बड़ा एक्शन देखने को मिला. निफ्टी और सेंसेक्स दोनों इंडेक्स ने अपना रिकॉर्ड हाई बनाया. निफ्टी ने जहां 11753 का स्तर तोड़ दिया, वहीं सेंसेक्स 39271 के स्तर तक पहुंचा. आने वाले दिनों की बात करें तो शेयर बाजार में इलेक्शन रिजल्ट के बाद रैली बढ़ने की उम्मीद जताई जा रही है. हालांकि एक्सपर्ट इलेक्शन के पहले वोलैटिलिटी से भी इंकार नहीं कर रहे हैं. आने वाले दिनों में बाजार में रैली की उम्मीद से अपने पोर्टफोलियो में बेहतर शेयरों को शामिल करना चाहिए. वहीं कुछ ऐसे भी शेयर होने चाहिए जो उतार चढ़ाव में भी सुरक्षित माने जाते हों. ऐसे में आपके लिए डिविडेंड देने वाले शेयर बेहतर विकल्प हो सकते हैं.

क्या है Dividend Stocks?

कुछ कंपनियां अपने शेयरधारकों को समय-समय पर अपने मुनाफे का कुछ हिस्सा देती रहती हैं. मुनाफे का यह हिस्सा वे शेयरधारकों को डिविडेंड के रूप में देती हैं. इन्हें डिविडेंड यील्ड स्टॉक भी कहते हैं. गर इन कंपनियों के शेयर खरीदते हैं तो इसमें 2 तरह से फायदा होगा.

-एक तो फायदा यह होगा कि कंपनी होने वाले मुनाफे का कुछ हिस्सा आपको देगी.
-दूसरी ओर शेयर में तेजी आने से भी आपको मुनाफा होगा. मसलन किसी कंपनी के शेयर में आपने 10 हजार रुपए निवेश किए हैं और एक साल में शेयर की कीमत 25 फीसदी चढ़ती है तो आपका निवेश एक साल में बढ़कर 12500 रुपये हो जाएगा.

मुनाफे वाली कंपनियां देती हैं डिविडेंड

आमतौर पर पीएसयू कंपनियां डिविडेंड के लिहाज से अच्छी मानी जाती हैं. जानकारों का कहना है कि अगर कोई कंपनी डिविडेंड दे रही है तो इसका मतलब साफ है कि उस कंपनी को मुनाफा आ रहा है. कंपनी के पास कैश की कमी नहीं है. डिविडेंड देने के ऐलान से शेयर को लेकर भी सेंटीमेंट अच्छा होता है और उसमें तेजी आती है. हालांकि ऐसे शेयर चुनते समय यह ध्‍यान रखना चाहिए कि निवेश उसी कंपनी में करें जिनका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर ग्रोथ के साथ रेग्युलर डिविडेंड देने का हो.

क्या सभी डिविडेंड शेयर हैं सेफ

फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि जरूरी नहीं है कि सभी डिविडेंड देने वाले शेयरों में अच्छा रिटर्न मिले. अगर किसी कंपनी के साथ कोई निगेटिव इश्यू है तो उसमें निवेश से बचना चाहिए. अच्छे डिविडेंड देने वाली कंपनियों की पहचान उनकी वित्तीय स्थिति देखकर की जा सकती है. निवेश के लिए डिविडेंड देने वाली उन कंपनियों का चुनाव किया जा सकता है, जिनमें मुनाफा आ रहा हो. मौजूदा दौर में किसी भी शेयर में लंबी अवधि के लिहाज से ही निवेश करना बेहतर विकल्प है. अच्छी कंपनियों का रिटर्न भी स्लो हो सकता है. लेकिन डिविडेंड देने की वजह से लंबी अवधि में रिटर्न कवर हो सकता है.

डिविडेंड देने वाली कंपनियां

ग्रेफाइट इंडिया, ITC, कोल इंडिया, इंडियन आॅयल कॉरपोरेशन, HUL, NMDC, वेदांता, REC, नाल्को, SJVN, आॅयल इंडिया, HPCL, चेन्नई पेट्रोलियम, BPCL, इंफोसिस, NHPC, ONGC, मन्नापुरम फाइनेंस, इरकॉन इंटरनेशनल, हीरो मोटोकॉर्प, सोनाटा सॉफ्टवेयर.

किन शेयरों में करें निवेश

ONGC

ONGC इंडिया की टॉप एनर्जी कंपनी है. कंवनी का बिजनेस बेहतर है और तीसरी तिमाही में कंपनी के मुनाफे में फीसदी ग्रोथ रही थी. वहीं, रेवेन्यू में 20 फीसदी ग्रोथ रही थी. ONGC में ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने 196 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 156 रुपये के लिहाज से शेयर में 25 फीसदी के करीब रिटर्न मिल सकता है.

HUL

HUL लीडिंग एफएमसीजी कंपनी है जो फूड्स, बेवरेजेज, क्लीनिंग एजेंट्स, पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स, वाटर प्यूरीफायर और कंज्यूमर गुड्स बनाती है. कंपनी के होम केयर कारोबार में तेजी है. तीसरी तिमाही के नतीजों के अनुसार ब्यूटी एंड पर्सनल केयर कारोबार, फूड्स एंड रिफ्रेशमेंट कारोबार में भी बढ़त रही है. कंपनी मुनाफे के रास्ते पर है और मैनेजमेंट को उम्मीद है कि आगे भी डिमांड स्टेबल रहेगी. ब्रोकरेज हाउस रिलायंस सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 2000 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 1662 के लिहाज से शेयर में 20 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

ग्रेफाइट इंडिया

ग्रेफाइट इंडिया ग्रेफाइट इलेक्ट्रोड्स, कॉर्बन और ग्रफाइट स्पेशिएलिटी प्रोडक्ट बनाने वाली इंडिया की बड़ी कंपनी है. कंपनी के 6 प्लांट देश में काम कर रहे हैं. प्रोडक्ट की कीमतें बढ़ी हैं, वहीं डिमांड भी तेज है. इन सबका फायदा कंपनी को मिलेगा. ग्रेफाइट इंडिया में ब्रोकरेज हाउस ICICI डायरेक्ट ने 650 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 457 रुपये के लिहाज से शेयर में 42 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

स्वराज इंजन

स्वराज इंजन 22 एचपी से 54 एचपी की रेंज में डीजल इंजन की मैन्युफैक्चरिंग और सप्लाई करता है. इसके अलावा कंपनी हाईटेक इंजन कंपोनेंट भी बनाती है. कंपनी की खासियत है कि वह इंजन बनाने के लिए आधुनिक मशीनों का सहारा लेती है. ब्रोकरेज हाउस एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने शेयर के लिए 1828 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 1380 रुपये के लिहाज से शेयर में 33 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

(Discliamer: हमने यहां निवेश की सलाह नहीं दी है. यह जानकारी ब्रोकरेज हाउस और अन्य रिपोर्ट के आधार पर दी गई है. बाजार में जोखिम होते हैं, निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop