सर्वाधिक पढ़ी गईं

बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार; क्यों आ रही है गिरावट, निवेशकों को क्या करना चाहिए?

Stock Market Outlook: वित्त वर्ष 2021 के आखिरी महीने में शेयर बाजार पर सेलिंग प्रेशर देखने को मिल रहा है.

Updated: Mar 22, 2021 10:49 AM
Stock Market OutlookStock Market Outlook: वित्त वर्ष 2021 के आखिरी महीने में शेयर बाजार पर सेलिंग प्रेशर देखने को मिल रहा है.

Stock Market Outlook: वित्त वर्ष 2021 के आखिरी महीने में शेयर बाजार पर सेलिंग प्रेशर देखने को मिल रहा है. 10 मार्च के बाद से बाजार में उतार चढ़ाव बहुत ज्यादा है. सेंसेक्स अपने रिकॉर्ड हाई से करीब 3000 अंक कमजोर होकर ट्रेड कर रहा है. 16 फरवरी 2021 को सेंसेक्स ने 52516 का आल टाइम हाई टच किया था. एक्सपर्ट मान रहे हैं कि बॉन्ड यील्ड और कोरोना वायरस के बढ़ रहे मामलों मुख्य तौर पर बाजार पर दबाव के लिए जिम्मेदार हैं. आगे निफ्टी के लिए 14,450 का स्तर बेहद अहम है. अगर नीचे की ओर यह ब्रेक होता है तो करेक्शन तेज हो सकता है. वहीं बाजार इससे उपर बने रहने में कामयाब रहा तो इसमें स्टेबिलिटी देखने को मिल सकती है.

बाजार में सेलिंग प्रेशर की वजह

सैमको सिक्योरिटीज के हेड आफ इक्विटी रिसर्च, निराली शाह का कहना है कि बीते हफ्ते घरेलू बाजार और यूएस मार्केट में अपोजिट ट्रेंड देखने को मिला. यूएस मार्केट जहां आल टाइम बनाने में था, वहीं भारतीय बाजारों में गिरावट रही. वैसे यूएस फेड द्वारा ब्याज दरों में बदलाव न करने और बॉन्ड की खरीददारी जारी रखने के संकेत से निवेशकों का सेंटीमेंट बेहतर हुआ, लेकिन बॉन्ड मार्केट का व्यवहार इसका बिल्कुल उल्टा था. बॉन्ड यील्ड के साथ कमोडिटी की कीमतों में लगातार तेजी देखने को मिल रही है.

उनका कहना है कि इसके अलाचा देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर तेजी से बढ़ रही है, जिसने बाजार की टेंशन बढ़ा दी है. रिटेल इनफ्लेशन का बढ़ना भी सेंटीमेंट खराब करने वाला फैक्टर है. इन वजहों से बाजार पर लगातार दबाव देखने को मिल रहा है. मार्च में विदेशी निवेशक भी नेट सेलर रहे हैं और उन्होंने बाजार से लगातार पैसे निकाले हैं. घरेलू स्तर पर बाजार में जो लिक्विडिटी बढ़ी है, वह मुख्य तौर पर प्राइमरी मार्केट में आईपीओ की वजह से है. पिछले 7 से 8 दिनों में 6 आईपीओ आए हैं.

निवेशकों को क्या करना चाहिए

निराली शाह का कहना है कि बाजार पर अभी दबाव बना रह सकता है. ऐसे में निवेशकों को सतर्क रहकर कारोबार करने की सलाह है. उन निवेशकों के लिए बाजार बेहतर है, जो लंबी अवधि के लिए बाजार में पैसा लगाना चाहते हैं. बाजार अपने टॉप लेवल से कुछ नीचे आया है, ऐसे में 5-10 साल का निवेश लक्ष्य लेकर अच्छे और मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों में निवेश करना चाहिए. वहीं मिडटर्म या शॉर्ट टर्म के लिए निवेश करना है तो बाजार के स्अेबल होने का इंतजार करें.

14450 का स्तर अहम

एक्सपर्ट का कहना है कि पिछले दिनों निफ्टी में 14,450 से 15,350 की एक रेंज देखने को मिली है. नीचे की ओर 14,450 का स्तर बेहद अहम है. अगर यह ब्रेक होता है तो निफ्टी 14000 के स्तर तक कमजोर हो सकता है. लेकिन बाजार इससे उपर बने रहने में कामयाब रहा तो आगे स्टेबिलिटी देखने को मिलेगी. फिलहाल टेडर्स को अभी स्टॉप लॉस लगाकर ट्रेड करना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बिकवाली के दबाव में शेयर बाजार; क्यों आ रही है गिरावट, निवेशकों को क्या करना चाहिए?

Go to Top