सर्वाधिक पढ़ी गईं

2019 में मिडकैप फिर सकता है आउटपरफॉर्म, इन 15 शेयरों में अच्छे रिटर्न की उम्मीद

2019 में एक्सपर्ट मान रहे हैं कि मिडकैप दूसरे सेग्मेंट की तुलना में आउटपरफॉर्म कर सकता है.

January 14, 2019 8:43 AM
Stock Market, Midcap stocks, Midcap Shares, Midcap Outlook 2019, Why Midcap Will Outperforn, Invest In Midcap stocks, Invest & Return, मिडकैप2019 में एक्सपर्ट मान रहे हैं कि मिडकैप दूसरे सेग्मेंट की तुलना में आउटपरफॉर्म कर सकता है.

2107 में तेज रैली के बाद 2018 में मिडकैप अंडरपरफॉर्मर साबित हुआ. साल 2019 के शुरूआती कारोबारी दिनों में भी मिडकैप में गिरावट जारी है. महंगा वैल्युएशन मिडकैप सेग्मेंट में गिरावट की सबसे बड़ी वजह रही. वहीं, पूरे साल क्रूड और रुपये में वोलेटिलिटी, NBFCs में लिक्विडिटी क्राइसिस, उंची ब्याज दरें, घरेलू निवेशकों द्वारा सुस्त निवेश और अतिरिक्त सर्विलांस भी मिडकैप में करेक्शन की बड़ी वजह रही है. फिलहाल 2019 में एक्सपर्ट मान रहे हैं कि मिडकैप दूसरे सेग्मेंट की तुलना में आउटपरफॉर्म कर सकता है.

क्यों आएगी मिडकैप में तेजी

मैक्रो लेवल पर स्थिति बाजार के अनुकूल होने और मिडकैप में एक बार फेयर वैल्युएशन 2 बड़ी वजह है, जिससे इस सेग्मेंट में एक बार फिर तेजी आने की उम्मीद है. वहीं, बाजार को लेकर बहुत से निगेटिव फैक्टर भी अब धीरे धीरे डिस्काउंट हो चुके हैं या हो रहे हैं. ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल की रिपोर्ट के मुताबिक क्रूउ में बड़ा करेक्शन, रुपये में रिकवरी और बॉन्ड यील्ड में स्थिरता से मैक्रो कंडीशन बाजार के फेवर में आया है. हालांकि कंजम्पशन स्टोरी में सुस्ती और NBFCs में कैश क्राइसिस चिंता बनाए हुए हैं.

आगे की बात करें तो अर्निंग सीजन से बहुज ज्यादा उम्मीद नहीं दिख रही है, लेकिन फाइनेंशियल सेक्टर इसे ड्राइव कर सकता है. खासतौर से कॉरपोरेट बैंक में अर्निंग बेहतर रह सकती है. दूसरी ओर जनरल इलेक्शन तक बाजार स्टेबल होने के मौके बनाएगा, जिसके बाद इसमें सिथरता आएगी. इस दौरान निवेशकों के पास सस्ते वैल्युएशन पर आ चुके बेहतर मिडकैप को अपने पोर्टफोलियो में शामिल करने के बेहतर अवसर बने हैं.

आम चुनाव 2019 के बाद बाजार होगा स्टेबल

एपिक रिसर्च के सीईओ नदीम मुस्तफा का कहना है कि इस साल की बात करें तो आने वाले दिनों में आम चुनाव होने हैं. पिछले कुछ साल की बात करें तो देखा गया है कि आमतौर पर चुनाव से 2 महीने पहले बाजार में अस्थिरता बढ़ जाती है और चुनाव के बाद अचानक से खत्म हो जाती है. ऐसे में साल का पहला फेज बाजार के लिए अस्थिरता भरा होगा. वहीं, दूसरे फेज में यानी चुनाव के बाद बाजार को स्थिर होने का मौका मिलेगा.

कंपनी का प्रदर्शन देखकर करें निवेश

फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि मिडकैप सेग्मेंट में कई कंपनियां हैं, जिनकी ग्रोथ मजबूत है. लेकिन पिछले साल के करेक्शन में उनमें भी अच्छी खासी गिरावट आ चुकी है. सस्ते मिल रहे इन शेयरों में निवेशकों को लंबी अवधि के लिए निवेश करना चाहिए. बाजार में सिथरता आने पर ये शेयर फिर परफॉर्म करेंगे.

टॉप पिक्स

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल

फेडरल बैंक, LIC हाउसिंग फाइनेंस, माइंडट्री, ओबेरॉय रियल्टी, इंडियन होटल, मैरिको और IGL

ब्रोकरेज हाउस कार्वी स्टॉक ब्रोकिंग

बजाज इलेक्ट्रिकल्स, जैन इरीगेशन, रिलैक्सो फुटवियर, सनटेक रियल्टी, केआरआर मिल्स लिमिटेड, टेक सॉल्यूशन, मेनन बियरिंग और फिनोलेक्स केबल

(नोट-निवेश की सलाह एक्सपर्ट्स व ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई हैं. कृपया अपने स्तर पर या अपने एक्सपर्ट्स के जरिए किसी भी तरह की सलाह की जांच कर लें. मार्केट में निवेश के अपने जोखिम हैं, इसलिए सतर्कता जरूरी है.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 2019 में मिडकैप फिर सकता है आउटपरफॉर्म, इन 15 शेयरों में अच्छे रिटर्न की उम्मीद

Go to Top