मुख्य समाचार:

भारतीय रेलवे के विरोध में एकजुट हुईं Jio, airtel और Voda idea, जानिए क्या है पूरा मामला

दिलचस्प यह है कि, मोबाइल कंपनियां कई मुद्दों पर एक राय नहीं बना पाता लेकिन इस मामले में सभी एक सुर में बोल रही हैं.

July 30, 2019 12:32 PM
Jio airtel and voda idea oppose allocation of premium 700 MHz spectrum to Railwaysदिलचस्प यह है कि, मोबाइल कंपनियां कई मुद्दों पर एक राय नहीं बना पाता लेकिन इस मामले में सभी एक सुर में बोल रही हैं.

रिलायंस जियो (Jio), भारती एयरटेल (airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vodafone Idea) जैसे मोबाइल आपरेटर भारतीय रेलवे को विशिष्ट सेवाओं के लिए प्रीमियम 700 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम आवंटन के विरोध में एक साथ आ गए हैं. इन आपरेटरों ने इस स्पेक्ट्रम के कॉर्मिशयल स्वरूप और 4G व 5G सेवाओं के लिए क्षमताओं का हवाला दिया है. यह मामला इस लिहाज से भी दिलचस्प है कि, मोबाइल दूरसंचार उद्योग विभिन्न मुद्दों पर एक राय नहीं बना पाता लेकिन इस मामले में सभी दूरसंचार आपरेटर एक सुर में बोल रहे हैं.

आपरेटरों का कहना है कि रेलवे को खुद के इस्तेमाल के लिए आवंटित स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल यात्रियों के लिए कॉमर्शियल सेवाओं (वाईफाई और इंटरनेट) को लेकर नहीं किया जाना चाहिए. इस तरह की सेवाएं वे इकाइयां दे सकती हैं जिसके पास इसके लिए वैध लाइसेंस है.

Jio ने कहा- नीलामी के जरिए हासिल करे स्पेक्ट्रम

रिलायंस जियो का कहना है कि रेलवे को यूनिफाइड लाइसेंस के तहत अधिकृत किए जाने तक वाईफाई और वॉयस तथा वीडियो संचार जैसी कॉमर्शियल सेवाएं शुरू करने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. जियो ने कहा कि रेलवे को कॉमर्शियल इस्तेमाल के लिए अन्य कंपनियों की तरह नीलामी के जरिये स्पेक्ट्रम हासिल करना चाहिए.

जियो ने इस मामले में नियामकीय विचार-विमर्श में अपने प्रतिक्रिया में कहा, ‘‘हम 700 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम बैंड में 15 मेगाहर्ट्ज स्पेक्ट्रम एलटीई आधारित संचार कॉरिडोर के लिए आरक्षित करने के पक्ष में नहीं हैं. 700 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम भारतीय रेलवे को ट्रेन और ट्रैकसाइड (आरएसटीटी) के बीच रेडियो संचार प्रणाली के लिए आवंटित नहीं किया जाना चाहिए.’’

4G और 5G सेवाओं पर होगा असर: वोडा आइडिया

वोडाफोन आइडिया की दलील है कि यदि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड में स्पेक्ट्रम भारतीय रेलवे के लिए आरक्षित किया जाता है तो 4जी और 5जी सेवाओं के लिए स्पेक्ट्रम अपर्याप्त रहेगा जिससे दूरसंचार आपरेटरों की वृद्धि की योजना प्रभावित होगी.

वोडाफोन आइडिया ने कहा कि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड का स्पेक्ट्रम सिर्फ अंतरराष्ट्रीय मोबाइल दूरसंचार (आईएमटी) सेवाओं के लिए किया जाना चाहिए.

रेलवे को न मिले 700 मेगाहर्ट्ज बैंड का स्पेक्ट्रम: एयरटेल

भारती एयरटेल का भी कहना है कि 700 मेगाहर्ट्ज बैंड का स्पेक्ट्रम भारतीय रेलवे को आवंटित नहीं किया जाना चाहिए. यह स्पेक्ट्रम लाइसेंस वाले आपरेटरों को सिर्फ नीलामी के जरिये दिया जाना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. भारतीय रेलवे के विरोध में एकजुट हुईं Jio, airtel और Voda idea, जानिए क्या है पूरा मामला

Go to Top