सर्वाधिक पढ़ी गईं

M&M: मुनाफे में 97% गिरावट के बाद भी बना ब्रोकरेज की पसंद, निवेशकों को मिल सकता है 25% रिटर्न

M&M: जून तिमाही में वॉल्यूम घटने की वजह से महिंद्रा और महिंद्रा के मुनाफे में 97 फीसदी की गिरावट रही है.

Updated: Aug 10, 2020 11:34 AM
What Brokerage Says on M&M Stocks, Mahindra & Mahindra, Buy M&M, M&M profit fall by 97% in june quarter, M&M may give 25% return, auto company, tractor making company, rural demand of M&M, महिंद्रा और महिंद्राM&M: जून तिमाही में वॉल्यूम घटने की वजह से महिंद्रा और महिंद्रा के मुनाफे में 97 फीसदी की गिरावट रही है.

Brokerage Houses on M&M: आटो कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा पर लॉकडाउन की जमकर मार पड़ी है. जून तिमाही में वॉल्यूम घटने की वजह से महिंद्रा और महिंद्रा के मुनाफे में 97 फीसदी की गिरावट रही है. वहीं, इनकम भी 56 फीसदी से ज्यादा घट गई है. हालांकि इसके बाद भी महिंद्रा एंड महिंद्रा पर एक्सपर्ट का भरोसा बना हुआ है. एक्सपर्ट को उम्मीद है कि खासतौर से रूरल एरिया में मांग सुधरने से कंपनी आगे आटो सेक्टर में विनर साबित हो सकती है. रूरल एरिया में डिमांड बढ़ने से कंपनी को आनाप मार्केट शेयर बढ़ाने का मौका मिल सकता है. एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस मौजूदा स्तर से 20 से 25 फीसदी ग्रोथ देखते हुए कंपनी के शेयर में पैसा लगाने की सलाह दे रहे हैं.

नतीजों के बाद 1 साल के हाई पर

तिमाही नतीजों के बाद महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयरों में शानदार तेजी देखने को मिल रही है. कंपनी का शेयर आज के काराबार में करीब 6 फीसदी मजबूत होकर 638 रुपये के भाव पर पहुंच गया जो शेयर के लिए 52 हफ्तों का हाई है. शेयर शुक्रवार को 600.45 रुपये के भाव पर बंद हुआ था. शेयर के लिए 52 हफ्तों का लो 245 रुपये है, जो मार्च की गिरावट में बना था.

नतीजे एक नजर में

महिंद्रा एंड महिंद्रा को जून तिमाही में 68 करोड़ का मुनाफा हुआ है जो सालाना आधार पर 97 फीरसदी कम है. 1 साल पहले की समान तिमाही में कंपनी का मुनाफा 2,260 करोड़ रुपये रहा था. वहीं कंपनी की सेल्स सालाना आधार पर 56 फीसदी कमजोर हुई है और यह 12805 करोड़ से घटकर 5,589 करोड़ हो गई.

जीरो सेल्स से रिकवरी तेज

अप्रैल महीने में कंपनी की सेल्स जीरो रही थी. जिसके बाद से आटो सेक्टर में डिमांड सुधरी है. जून में कंपनी के मुख्य ब्रांड की रूरल डिमांड मजबूत रही है. जून तिमाही में कंपनी ने 27565 यूनिट गाड़ियां और 64140 यूनिट ट्रैक्टर सेल की है. हालांकि इसमें सालाना आणार पर 78 फीसदी और 22 फीसदी गिरावट रही है. टोटक एक्सपोट्र भी 71 फीसदी घटकर 3,109 यूनिट रही.

क्या कहना है एक्सपर्ट का

एक्सपर्ट के अनुसार लॉकडाउन की वजह से डिमांड कमजोर रही है, जिससे कंपनी के प्रदर्शन पर असर पड़ा. हालांकि अब अनलॉक की स्थिति में डिमांड फिर सुधर रही है. इस बार मॉनसून बेहतर जा रहा है. इसलिए रूरल एरिया में आगे मांग बढ़ने की उम्मीद है. इसके संकेत भी मिलने लगे हैं. उम्मीद है कि आगे डिमांड से कंपनी को अपना मार्केट शेयर सुधारने का मौका मिलेगा. दूसरा यह कि हाल ही में आउटपरफॉर्म करने के बाद भी शेयर अपने 5 साल के एवरेज से डिस्काउंट पर ट्रेड कर रहा है. ऐसे में यहां से अभी भी 20 से 25 फीसदी रिटर्न की गुंजाइश है.

ब्रोकरेज की राय

मोतीलाल ओसवाल

रेटिंग: Buy
लक्ष्य: 720 रुपये
रिटर्न अनुमान: 20 फीसदी

ICICI डायरेक्ट

रेटिंग: Buy
लक्ष्य: 700 रुपये
रिटर्न अनुमान: 17 फीसदी

शेयरखान

रेटिंग: Buy
लक्ष्य: 750 रुपये
रिटर्न अनुमान: 25 फीसदी

प्रभुदास लीलाधर

रेटिंग: Buy
लक्ष्य: 702 रुपये
रिटर्न अनुमान: 17 फीसदी

(नोट: हमने यहां जानकारी कंपनी के तिमाही प्रदर्शन और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार में जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले अपने स्तर पर एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. M&M: मुनाफे में 97% गिरावट के बाद भी बना ब्रोकरेज की पसंद, निवेशकों को मिल सकता है 25% रिटर्न

Go to Top