मुख्य समाचार:

रुचि सोया: 2 महीने में 55% टूटा शेयर, पतंजलि ग्रुप की इस कंपनी ने 5 महीने में ही 95 गुना बढ़ाई थी दौलत

तिमाही नतीजों के बाद योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि ग्रुप की कंपनी रुचि सोया के शेयरों में गुरुवार को 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा.

August 20, 2020 1:04 PM
Patanjali Group, Baba Ramdev Patanjali, Ruchi Soya Stocks Performance, ruchi soya stocks tank, ruchi soya has given 95 times return after relisting, SEBI eyen on ruchi soya, experts on ruchi soya, why ruchi soya stocks falling after given huge return, Securities & Exchange Board of India, bankruptcy resolutionतिमाही नतीजों के बाद योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि ग्रुप की कंपनी रुचि सोया के शेयरों में गुरुवार को 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा.

Ruchi Soya Stocks Performance: दोबार लिस्ट होने के बाद बाबा रामदेव की पंतजलि ग्रुप की कंपनी रुचि सोया के शेयर ने महज 5 महीनों में 95 गुना या 9400 फीसदी तक रिटर्न दिया. लेकिन अब उसमें गिरावट आने लगी है. रुचि सोया का शेयर 2 महीने में 55 फीसदी से ज्यादा टूट चुका है. असल में भारी तेजी के बाद मार्केट रेगुलेटर सेबी की नजर, एक्सपर्ट द्वारा उठाए जाने वाले सवाल और कमजोर तिमाही प्रदर्शन की वजह से शेयर को लेकर सेंटीमेंट कमजोर बने हैं. फिलहाल तिमाही नतीजों के बाद योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि ग्रुप की कंपनी रुचि सोया के शेयरों में गुरुवार को 5 फीसदी का लोअर सर्किट लगा.

आज के कारोबार में रुचि सोया का शेयर 683 रुपये के भाव तक कमजोर हुआ. रुचि सोया का वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में मुनाफा 13 फीसदी घटकर 12.25 करोड़ रुपये रहा है, जो पिछले साल की समान अवधि में 14.01 करोड़ रुपये था. वहीं, कुल आय भी घटकर 3,057.15 करोड़ रुपये रही. आचार्य बालकृष्ण ने व्यस्तता का हवाला देते हुए कंपनी के प्रबंध निदेशक पद से इस्तीफा भी दे दिया है.

मार्च तिमाही में भी हुआ था घाटा

रुचि सोया को मार्च तिमाही में 41.25 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. जबकि वित्त वर्ष 2019 की चौथी तिमाही में कंपनी को 32.11 करोड़ का घाटा हुआ था. जबकि दिसंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा पिछले साल की तिमाही में 6.29 करोड़ रुपये से 24 गुना बढ़ कर 151 करोड़ रुपये रहा था.

5 महीने में 95 गुना बढ़ गई थी दौलत

रुचि सोया के शेयरों में 26 जून के पहले लगातार रैली दिखी थी. रुचि सोया की दोबारा लिस्टिंग 27 जनवरी 2020 को हुई थी. तब शेयर का भाव 16 रुपये था. जबकि 26 जून को शेयर 1520 रुपये के हाई पर पहुंच गया. यानी इस दौरान निवेशकों की दौलत 95 गुना या 9400 फीसदी बढ़ी थी.

दिवालिया बिक्री में योग गुरू रामदेव ने खरीदा था

रुचि सोया भारत में मौजूद सबसे बड़ी खाद्य तेल कंपनियों में से एक है. पिछले साल ये कंपनी दिवालिया हो गई थी और तब दिवालिया बिक्री में बाबा रामदेव की पतंजलि ने रुचि सोया को खरीद लिया था. कंपनी की करीब 99.03 फीसदी हिस्सेदारी यानी 27 करोड़ शेयर पतंजलि ग्रुप की 15 कंपनियों के पास है. सिर्फ 0.97 फीसदी शेयर ही निवेशकों के पास है.

शेयर गिरावट के पीछे कारण

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक सिर्फ 0.97 फीसदी पब्लिक शेयरहोल्डिंग वाली कंपनी के शेयरों में इतना भारी उछाल ने भारत के शेयर बाजार नियामक को राष्ट्र की दिवाला प्रक्रिया से निकलने वाली फर्मों के लिए अपने नियमों को बदलने पर विचार करने के लिए प्रेरित किया है.

सेबी ने बैंकरप्सी रिजॉल्यूशन के बाद कंपनियों को दोबारा लिस्ट यारी रीलिस्ट कराने के लिए दिये जाने वाली समयावधि के प्रस्ताव पर कमेंट मांगे है. प्रावधान के मुताबिक कंपनियां अब बैंकरप्सी रिजॉल्यूशन के छह महीने के भीतर रीलिस्ट करा सकती है. अभी यह समय सीमा 18 महीने की है. इस नियम के तहत ऐसी कंपनियों को अनिवार्य रूप से रीलिस्टिंग के तीन साल के भीतर न्यूनतम सार्वजनिक हिस्सेदारी 25 फीसदी करना होता है.  

असल में शेयर में इस भारी तेजी के चलते ही कंपनी के लिए मुसीबत खड़ी हो गई है. असल में एक दिवालिया कंपनी के लिस्ट होते ही इतनी भारी तेजी देखकर एक्सपर्ट भी इसका कारण खोजने में लग गए. ऐसी मीडिया रिपोर्ट आई कि एक्सपर्ट रुचि सोया के शेयर में इतनी तेजी के देखते हुए बाजार नियामक सेबी से जांच कराना चाहते हैं. इन सब वजहों से निवेशक भी सतर्क दिख रहे हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. रुचि सोया: 2 महीने में 55% टूटा शेयर, पतंजलि ग्रुप की इस कंपनी ने 5 महीने में ही 95 गुना बढ़ाई थी दौलत

Go to Top