सर्वाधिक पढ़ी गईं

रिकॉर्ड तेजी में क्यों ‘संभले’ म्यूचुअल फंड निवेशक? नवंबर में इक्विटी से निकाल लिए 30760 करोड़

Mutual Fund Investors: नवंबर में शेयर बाजार में रिकॉर्ड तेजी आई तो म्यूचुअल फंड निवेशकों ने इसका फायदा उठाकर मुनाफा वसूली की.

December 6, 2020 1:11 PM
equity mutual fund investorsMutual Fund Investors: नवंबर में शेयर बाजार में रिकॉर्ड तेजी आई तो म्यूचुअल फंड निवेशकों ने इसका फायदा उठाकर मुनाफा वसूली की.

Mutual Fund Investors: नवंबर महीने में शेयर बाजार में रिकॉर्ड तेजी आई तो म्यूचुअल फंड निवेशकों ने इसका फायदा उठाकर जमकर मुनाफा वसूली की. लेटेस्ट डाटा के मुताबिक नवंबर में इक्विटी म्यूचुअल फंड से निवेशकों ने 30760 करोड़ रुपये निकाले हैं. सेबी के इस नए डाटा के साथ ही जून के बाद से अबतक इक्विटी फंडों से निवेशकों ने नेट 68,400 करोड़ रुपये की निकासी कर ली है. एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार की तेजी में इक्विटी फंडों का रिटर्न बेहतर हुआ है, इस वजह से मुनाफा वसूली बढ़ गई है. असल में कोरोना महामारी के चलते ज्यादातर फंडों का रिटर्न बिगड़ गया था. ऐसे में जरा भी बेहतर रिटर्न देखकर वे मुनाफा वूसी कर रहे हैं.

क्यों इक्विटी फंडों से बढ़ी निकासी

PrimeInvestor.in के को-फाउंडर बिद्या बाला का कहना है कि नवंबर में बाजार लगातार नए हाई पवर पहुंचा है. बाजार ने जहां रिकॉर्ड हाई टच किया और निफ्टी PE वैल्युएशन 36 गुना से ज्यादा क्रॉस कर गया, बाजार में मुनाफा वसूली बढ़ी है. इसी वजह से सितंबर और अक्टूबर की तुलना में नवंबर में बाजार से निवेशकों ने ज्यादा निकासी की है. उनका कहना है कि भले ही विदेशी निवेशक बाजार में पैसे लगा रहे हैं, लेकिन कोरोना महामारी से हुए नुकसान को देखते हुए अभी तक रिटेल निवेशकों द्वारा निवेश नॉर्मल नहीं हो पाया है.

सैमको सिक्योरिटीज के हेड रैंक MF, ओमकेश्वर सिंह का कहना है कि नवंबर में बाजार में अच्छी खासी रैली देखने को मिली है. जिसके बाद से बहुत से निवेशक मुनाफा वसूली करने के लिए प्रेरित हुए हैं. अगर बाजार में करेक्यान नहीं हुआ तो यह मुनाफा वसूली और बढ़ सकती है. मॉर्निंगस्टार इंडिया के डायरेक्टर कौस्तुभ बेलापुरकर का कहना है कि आगे की बात करें तो अगर इकोनॉमी के मजबूती से रिकवरी का ट्रिगर मिलता है या मार्केट में करेक्शन आता है, तो इक्विटी फंडों में एक बार फिर निवेशक पैसा लगाएंगे.

किस महीने में कितनी निकासी

म्यूचुअल फंड निवेशकों ने अक्टूबर में इक्विटी फंडों से 30,760 करोड़ रुपये निकाले हैं. जिससे जून के बाद से अबतक कुल निकासी 68,400 करोड़ रुपये की हो चुकी है. अक्टूबर में निवेशकों ने 14,492 करोड़ रुपये, सितंबर में 4,134 करोड़ रुपये, अगस्त में 9,213 करोड़ रुपये, जुलाई में 9,195 करोड़ और जून में 612 करोड़ रुपये की निकासी हुई थी.

पहले 5 महीने में 40,200 करोड़ हुआ था निवेश

इस साल जनवरी से मई तक यानी 5 महीने में इक्विटी फंडों में 40200 करोड़ रुपये निवेश हुआ था. सिर्फ मार्च में ही इक्विटी फंडों में 30,285 करोड़ का निवेश आया था. हालांकि जून के बराद से इसमें निकासी शुरू हो गई. ग्रीन पोर्टफोलियो के को फाउंडर दिवम शर्मा का कहना है कि मार्केट में आई हालिया रैली और बाजार का हाई वैल्युएशन निकासी की वजह बन रहा है. वहीं, बाला का कहना है कि गर इक्विटी मार्केट में आगे कुछ करेक्शन नहीं आया तो निकासी का यह ट्रेंड बना रहेगा.

विदेशी निवेशक लगा रहे हैं पैसा

एक ओर भले ही इक्विटी फंडों के निवेशक बाजार से पैसा निकाल रहे हैं, फॉरेन पोर्टफोलियो इन्वेस्टर्स (FPIs) बाजार मेे लगातार पैसे लगा रहे हैं. इस साल जनवरी से अबतक विदेशी निवेशकों ने इक्विटी मार्केट में 1.08 लाख करोड़ का निवेश किया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. रिकॉर्ड तेजी में क्यों ‘संभले’ म्यूचुअल फंड निवेशक? नवंबर में इक्विटी से निकाल लिए 30760 करोड़

Go to Top