मुख्य समाचार:

जब टूट रहा है शेयर बाजार तो म्यूचुअल फंड से कमाई बढ़ाने का मौका! निवेश के लिए अपनाएं ये तरीका

Mutual Fund: बाजार में गिरावट चल रही हो तो म्यूचुअल फंड निवेशकों को क्या करना चाहिए?

February 28, 2020 9:40 AM
mutual fund investment strategy when stock market falling, multi cap mutual fund, asset allocation strategy, SIP Top Up, invest in mutual fund, best mutual fund strategyबाजार में गिरावट चल रही हो तो म्यूचुअल फंड निवेशकों को क्या करना चाहिए?

Mutual Fund Investment Strategy: कोरोना वायरस के चलते दुनियाभर के शेयर बाजारों में गिरावट है. इसका असर घरेलू शेयर बाजार पर भी दिख रहा है. बीते 1 माह की बात करें तो सेंसेक्स में 1700 अंकों से ज्यादा या करीब 4.25 फीसदी और निफ्टी में 600 अंकों से ज्यादा या करीब 4.5 फीसदी की गिरावट आ चुकी है. लॉर्जकैप में गिरावट ज्यादा रही है, मिडकैप और स्मालकैप भी दबाव में रहे हैं. ऐसे में इक्विटी फंडों में निवेश करने वाले म्यूचुअल फंड निवेशक भी अपने अलोकेशन को लेकर डरे हुए हैं. लेकिन एक्सपर्ट इसे म्यूचुअल फंड में कमाई का अच्छा मौका मान रहे हैं. उनका कहना है कि यह यूनिट बढ़ाने और अपने निवेश की एवरेजिंग करने का समय है. लो वेल्युएशन पर चल रहे शेयरों में निवेश आगे अच्छी ग्रोथ दिला सकता है.

BPN फिनकैप के सीईओ और डायरेक्टर एके निगम का कहना है कि शेयर बाजार में गिरावट म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए बेहतर मौका है. पिछले दिनों जिन्होंने बाजार की तेजी में हॉयर बॉइंग की है, वे नए निवेश के जरिए अपने निवेश की एवरेजिंग कर सकते हैं. वहीं, इससे उन्हें यूनिट बढ़ाने का भी मौका मिलेगा. उनका कहना है कि मौजूदा समय में निवेशकों के लिए एसेट अलोकेशन स्ट्रैटेजी बेहतर हो सकती है. इसके अलावा मल्टीकैप फंड भी अच्छे विकल्प हैं. इससे निवेशक अपना पोर्टफोलियो भी डाइवर्सिफाई कर सकते हैं.

रिटायरमेंट फंड में बढ़ी दिलचस्पी! ये स्कीम हो सकती हैं बेस्ट, चेक करें लॉन्चिंग के बाद से रिटर्न

उनका कहना है कि बाजार की मौजूदा गिरावट कोरोना वायरस के चलते है. एक बार जब इसके मामले कंट्रोल होने लगेंगे, बाजार में फिर तेजी आएगी. इस ग्रोथ का फायदा म्यूचुअल फंड निवेशकों को भी मिलेगा. निवेश के लिए चुनें ये तरीका…….

1. एसेट अलोकेशन स्ट्रैटेजी

अगर निवेशक एसेट अलोकेशन स्ट्रैटेजी पर चलते हैं तो उन्हें रिस्क लेने की क्षमता के आधार पर इक्विटी और डेट फंड में निवेश करना चाहिए. अगर रिस्क लेने की क्षमता ज्यादा है तो इक्विटी में 80 फीसदी और डेट में 20 फीस दी अलोकेशन होना चाहिए. वहीं, अगर रिस्क लेने की क्षमता मॉडरेट है तो इक्विटी और डेट में 50:50 फीसदी निवेश करें. लेकिन अगर कन्जर्वेटिव इन्वेस्टर हैं तो यह रेश्यो 30:70 का होना चाहिए.

2. मल्टीकैप म्यूचुअल फंड अच्छे विकल्प

बाजार के उतार चढ़ाव में मल्टीकैप म्यूचुअल फंड अच्छे विकल्प हैं. यहां भी आपका निवेश लॉर्जकैप, मिडकैप और स्मालकैप में होता है, जिससे जहां पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई होता है, वहीं रिस्क कम हो जाता है. मसलन अगर लॉर्जकैप में गिरावट हो तो मिडकैप या स्मालकैप इसे बैलेंस कर सकते हैं. इसी तरह से मिडकैप या स्मालकैप में गिरावट हो तो लॉर्जकैप इसे बैलेंस कर सकते हैं.

3. SIP रोकने की बजाए टॉप-अप कराएं

एक्सपर्ट का कहना है कि मार्केट में जो गिरावट है, उससे SIP निवेशकों को घबराने की जरूरत नहीं है. मार्केट के मौजूदा करेक्शन में बहुत से शेयर सस्ते भाव पर आ गए हैं. इस गिरावट में म्यूचुअल फंड निवेशकों के लिए SIP रोकने की बजाए टॉप-अप कराने का मौका है. इससे उन्हें ज्यादा यूनिट मिलेगी. आगे जब शेयर बाजार में तेजी का रुख आएगा, उन्हें इसका फायदा मिलेगा. अभी जो SIP चल रही है, उसे रोकने या पैसे निकालने से नुकसान होगा.

 

(Disclaimer: म्यूचुअल फंड में निवेश बाजार के जोखिमों के अधीन है. निवेश से पहले अपने स्तर पर पड़ताल कर लें या अपने फाइनेंशियल एडवाइजर से परामर्श कर लें. फाइनेंशियल एक्सप्रेस किसी भी फंड में निवेश की सलाह नहीं देता है.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. जब टूट रहा है शेयर बाजार तो म्यूचुअल फंड से कमाई बढ़ाने का मौका! निवेश के लिए अपनाएं ये तरीका

Go to Top