मुख्य समाचार:
  1. नवंबर के बाद से 25% सस्ता हुआ मेंथा ऑयल, मुनाफे के लिए कैसे बनाएं स्ट्रैटेजी

नवंबर के बाद से 25% सस्ता हुआ मेंथा ऑयल, मुनाफे के लिए कैसे बनाएं स्ट्रैटेजी

मेंथा ऑयल में आएगी तेजी या बिकवाली का दबाव

May 4, 2019 8:05 AM
Mentha Oil, मेंथा ऑयल, Mentha Oil Price, Mentha Oil Price Outlook, मेंथा ऑयल में आएगी तेजी या बिकवाली, mentha oil rate, mentha oil price history, mentha oil tips, mentha oil in hindiMentha Oil: मेंथा ऑयल में आएगी तेजी या होगी बिकवाली

Mentha Oil: शुक्रवार को मेंथा ऑयल में करीब 23 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी रही है. हालांकि शुक्रवार के पहले मेंथा ऑयल नवंबर 2018 के बाद से करीब 25 फीसदी तक सस्ता हो चुका है. वहीं, पिछले एक महीने की गिरावट 7.5 फीसदी के करीब रही है. ऐसे में निवेशकों में मन में सवाल उठता है कि आगे मेंथा ऑयल में तेजी रहेगी या खरीददारी. एक्सपर्ट का कहना है कि फिलहाल मेंथा ऑयल में निवेशकों को स्टॉप लॉस रखकर स्ट्रैटेजी बनानी चाहिए. हालांकि लंबी अवधि के लिए बेहतर रिटर्न दिख रहा है. नवंबर में मेंथा ऑयल ने 840 रुपये का भाव टच किया था. वहीं, शुक्रवार को यह 1348 रुपये पर खुला और 1369 रुपये पर बंद हुआ.

ऐसे तैयार करें मुनाफे की रणनीति

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि पिछले दिनों मेंथा ऑयल कंज्यूम करने वाली इंडस्ट्री की ओर से डिमांड सुस्त रहने की वजह से मेंथा ऑयल में गिरावट आई है. वहीं, हालिया तेजी गिरावट पर खरीददारी बढ़ने से आई है. शॉर्ट टर्म की बात करें तो 20 मई से 20 अगस्त के बीच मेंथा ऑयल नि​काला जाता है.

ऐसे में 20 मई के पहले तक मेंथा ऑयल में तेजी आ सकती है. क्योंकि किसान भी दाम बढ़ने की उम्मीद से मेंथा ऑयल होल्ड कर सकते हैं. फिलहाल अगले 20 दिनों में एक बार फिर मेंथा ऑयल 1450 रुपये का भाव छू सकता है. लेकिन 20 अगस्त के बाद इसमें कुछ दिनों की फिर सुस्ती आ सकती है और रेट 1100 के स्तर पर आ सकते हैं.

एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसिडेंड रिसर्च, कमोडिटी एंड करंसी अनुज गुप्ता भी मानते हैं कि मेंथा ऑयल में इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने तक सुस्ती रह सकती है. तेल की आवक तेज होने के बाद से बिकवाली का प्रेशर देखने को मिल सकता है. हालांकि सिंतबर महीने से डिमांड आने के बाद कीमतों को सपोर्ट मिलेगा.

आगे डिमांड बेहतर रहने की उम्मीद

अजय केडिया का कहना है कि पिछले साल मेंथा ऑयल में किसानों को अच्छा भाव मिला था. इस वजह से इस साल फसल की पैदावार पिछले साल से बेहतर हुई है. बुआई रकबा पिछले साल से करीब 17 फीसदी बढ़ा है. गर्मी चालू होने से ऑयल प्रोडक्शन भी ठीक हो रहा है. मानसून बेहतर रहने की उम्मीद है. ऐसे में आगे डिमांड बढ़ेगी. दूसरी ओर यूएस और चीन के बीच ट्रेड वार भी हल्का हुआ है, जिससे चीन की ओर से डिमांड बढ़ने की उम्मीद है. लंबी अवधि के लिहाज से सेंटीमेंट ठीक दिख रहे हैं.

Mentha Oil: किन इंडस्ट्री में डिमांड

मेंथा एक खुशबूदार जड़ी बूटी और भारत में इसे जापानी पुदीना के नाम से जाना जाता है. मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स को बड़े पैमाने पर भोजन, दवा, इत्र और फ्लेवरिंग इंडस्ट्री में उपयोग किया जाता है. फार्मा और एफएमसीजी इंडस्ट्री में इसकी डिमांड ज्यादा रहती है. भारत मेंथा तेल और उसके डेरिवेटिव्स का सबसे बड़ा उत्पादक और निर्यातक है. इसकी कीमतों पर उत्पादन और घरेलू मांग के अलावा चीन, अमेरिका और सिंगापुर जैसे प्रमुख आयातक देशों से आयात की मांग और डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत का भी असर होता है.

Go to Top

FinancialExpress_1x1_Imp_Desktop