मुख्य समाचार:

बैंक मर्जर: PSU बैंक शेयरों में क्या करें निवेशक? जानिए एक्सपर्ट की सलाह

एक्सपर्ट का कहना है कि PSU बैंक मर्जर को लेकर कई क्लेरिटी नहीं है. अगले 6 से 9 महीने पीएसयू बैंक सेक्टर में रिटर्न नहीं दिख रहा है. निवेशकों को सेक्टर से दूर रहने की सलाह है.

September 19, 2018 7:49 AM
stock market, bank sector, PSU bank, merger, stocks, investors, sensex, nifty, BSE, NSEएक्सपर्ट का कहना है कि PSU बैंक मर्जर को लेकर अभी कई तरह की क्लेरिटी नहीं है. अगले 6 से 9 महीने पीएसयू बैंक सेक्टर में रिटर्न नहीं दिख रहा है. निवेशकों को सेक्टर से दूर रहने की सलाह है. (Reuters)

3 सरकारी बैंकों के मर्जर के एलान के बाद बैंक शेयरों में तेज गिरावट रही. निफ्टी पर पीएसयू बैंक इंडेक्स 5.4 फीसदी टूट गया. मार्केट के जानकारों का कहना है कि मर्जर को लेकर अभी कई तरह की क्लेरिटी नहीं आ पाई है. यह साफ नहीं है कि बैंकों की जरूरतों को पूरा करने के लिए किस बैंक को कितना कैपिटल सपोर्ट मिलेगा. आगे भी सेक्टर को लेकर निवेशकों का उदासीन रुख देखने को मिल सकता है. फिलहाल अगले 6 से 9 महीने पीएसयू बेंक सेक्टर में रिटर्न नहीं दिख रहा है. निवेशकों को सेक्टर से दूर रहने की सलाह है.

मंगलवार को भारी बिकवाली

मर्जर के एलान के बाद मंगलवार को निफ्टी पीएसयू बैंक इंडेक्स में 5.4 फीसदी गिरावट रही. बैंक आॅफ बड़ौदा में सबसे ज्यादा 17% फीसदी गिरावट रही. केनरा बैंक 8%, PNB 4.4%, यूनियन बैंक 9%, BOI 4%, IDBI 3%, SBI 3.63%, ओरिएंटल बैंक 4%, इलाहाबाद बैंक 2% और सिंडिकेट बैंक 6% टूट गए.

शेयर से दूर रहें निवेशक

फॉर्च्यून फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर का कहना है कि पीएसयू बैंकों के मर्जर को लेकर जो स्ट्रैटजी है, उससे फायदा नहीं दिख रहा है. बैंक आॅफ बड़ौदा का प्रदर्शन बेहतर है, लेकिन देना बैंक और विजया बैंक दोनों की ही वित्तीय स्थिति ठीक नहीं है. ग्रॉस एनपीए दोनों का ज्यादा है. ऐसे में इसका दबाव बैंक आॅफ बड़ौदा पर होगा, जिसका असर मंगलवार की ट्रेडिंग में दिखा. सरकार इसी स्ट्रैटजी को आगे भी अपनाने वाली है. इसी वजह से पीएसयू बैंक सेक्टर को लेकर सेंटीमेंट और बिगड़ सकता है. फिलहाल निवेशकों को शेयरों से अभी दूरी बनाकर रखनी चाहिए.

मार्केट स्टेबल होने तक इंतजार करें निवेशक

कैपिटल सिंडिकेट के मैनेजिंग पार्टनर पशुपति सुब्रमण्यम का कहना है कि कमजोर बैंकों को सेहतमंद बैंक में मर्ज करने से कई तरह की चुनौतियां सामने आएंगी. मसलन मैनेजमेंट और कामकाज को लेकर भी चुनौतियां होंगी. यह भी साफ नहीं है कि सरकार किस बैंक को कितना कैपिटल सपोर्ट मिलेगा. सरकार अभी यह देखना चाहेगी कि विलय के बाद बैंकों को कितने सपोर्ट की जरूरत है. इन सबमें समय लग सकता है, तबतक सेक्टर पर दबाव बना रहेगा. ऐसे में जबतक मार्केट पूरी तरह से स्अेबल न हो जाए, निवेशकों को पीएसयू बैंक शेयरों में फ्रेश निवेश से बचने की सलाह है. जिन्होंने निवेश किया है, वे मार्केट स्टेबल होने तक इंतजार करें.

तीनों बैंकों की स्थिति

source: finance ministry

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बैंक मर्जर: PSU बैंक शेयरों में क्या करें निवेशक? जानिए एक्सपर्ट की सलाह

Go to Top