सर्वाधिक पढ़ी गईं

राकेश झुनझुनवाला ने कहा- कभी नहीं खरीदूंगा बिटक्वॉइन, 2030 तक Nifty छू सकता है 1 लाख का स्तर

Rakesh Jhunjhunwala on Bitcoin: दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का कहना है कि वह जिंदगी में कभी बिटक्वॉइन या किसी और क्रिप्टोकरंसी में पैसे नहीं लगाएंगे.

Updated: Feb 24, 2021 9:00 AM
Rakesh Jhunjhunwala on BitcoinRakesh Jhunjhunwala on Bitcoin: दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला का कहना है कि वह जिंदगी में कभी बिटक्वॉइन या किसी और क्रिप्टोकरंसी में पैसे नहीं लगाएंगे.

Rakesh Jhunjhunwala on Bitcoin: शेयर बाजार के दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला ने पॉपुलर क्रिप्टोकरंसी बिटक्वॉइन पर बड़ा बयान दिया है. उनका कहना है कि वह जिंदगी में कभी बिटक्वॉइन या किसी और क्रिप्टोकरंसी में पैसे नहीं लगाएंगे. उन्होंनें सरकार से क्रिप्टोकरंसी को बैन करने की मांग की है. CNBC के साथ बात चीत में उन्होंने ये बात कही है. वहीं इस इंटरव्यू में शेयर बाजार को लेकर वह बुलिश दिखे और कहा कि साल 2030 तक निफ्टी 90,000 से 1,00,000 के स्तर तक पहुंच सकता ​है. यानी मौजूदा लेवल से निफ्टी 50 में करीब 580 फीसदी तेजी आ सकती है.

पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की मांग

झुनझुनवाला ने मंगलवार को क्रिप्टोकरंसी की खामियां बताईं. उन्होंने नियामकों से इस पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की भी मांग की. CNBC से बातचीत में उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि नियामकों को हस्तक्षेप करना चाहिए और इस पर रोक लगानी चाहिए. इसमें बहुत ज्यादा सट्टेबाजी होती है. झुनझुनवाला ने कहा कि वह कभी भी बिटक्वॉइन नहीं खरीदेंगे, भले ही उन्हें यह 5 डॉलर में मिल जाए. बता दें कि बिटक्वॉइन का भाव अभी 56 हजार डॉलर के आस पास है. सिर्फ सरकार को ही ऐसी करंसी लॉन्च करने का अधिकार है

बाजार पर भरोसा

राकेश झुनझुनवाला के अनुसार 10 साल के अंदर निफ्टी 1 लाख का स्तर टच कर सकता है. यह पहली बार नहीं है, जब उन्होंने बाजार पर इस तरह की भविष्यवाणी की हो. इसके पहले साल 2014 में उन्होंने कहा था कि निफ्टी 50 2030 तक 1,25,000 तक का स्तर दिखा सकता है. उन्होंने कहा कि भारत शेयर बाजार की तेजी से हैरान हो सकता है. मार्केट डेप्थ कई सेक्टर्स पर निर्भर करेंगे. भारत में जो बदलाव हो रहे हैं लोग उसे अंडरएस्टिमेट कर रहे हैं.

लांग टर्म में ज्यादा चिंता नहीं

राकेश झुनझुनवाला का कहना है कि लांग टर्म के लिहाज से देखें तो बाजार के लिए ज्यादा चिंता नजर नहीं आ रही है. लांग टर्म रिस्क की बात करें तो पाकिस्तान के साथ भारत का विवाद ही एक बड़ा फैक्टर है. कोविड-19 पर उन्होंने कहा कि वह भारत में कोरोना वायरस की दूसरी लहर नहीं देख रहे हैं. उन्होंने कहा कि अब इसे लेकर लोग और सरकार ज्यादा अलर्ट हैं. 85 फीसदी नए केस सिर्फ 2 राज्यों महाराष्ट्र और कर्नाटक में हैं. ऐसे में मुझे नहीं लगता है कि भारत में दूसरी लहर का खतरा है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. राकेश झुनझुनवाला ने कहा- कभी नहीं खरीदूंगा बिटक्वॉइन, 2030 तक Nifty छू सकता है 1 लाख का स्तर

Go to Top