मुख्य समाचार:

गिल्ट फंडों ने एक साल में दिया 17% तक रिटर्न, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें

पिछले एक साल के दौरान जहां म्यूचुअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी के रिटर्न पर दबाव है, गिल्ट फंडों ने शानदार रिटर्न दिया ​है.

August 25, 2019 10:32 AM
Gilt Funds, Mutual Funds, MF, should you invest in gilt funds, म्यूचुअल फंड, गिल्ट फंड, Invest In Mutual Fund, rate cut, long duration bondपिछले एक साल के दौरान जहां म्यूचुअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी के रिटर्न पर दबाव है, गिल्ट फंडों ने शानदार रिटर्न दिया ​है.

पिछले एक साल के दौरान जहां म्यूचुअल फंड की ज्यादातर कटेगिरी के रिटर्न पर दबाव है, गिल्ट फंडों ने शानदार रिटर्न दिया ​है. अलग अलग फंड की बात करें तो इन फंडों ने 17 फीसदी तक रिटर्न दिया. वहीं पूरे सेग्मेंट का रिटर्न भी 1 साल के दौरान करीब 15 फीसदी रहा है. खास बात यह है कि सेग्मेंट में ज्यादातर फंड का रिटर्न इस दौरान डबल डिजिट में रहा है. सवाल उठता है कि जहां दूसरे म्यूचुअल फंड में दबाव है, गिल्ट फंड क्यों ऊंचा रिटर्न दे रहे हैं. क्या निवेशकों को गिल्ट फंड में निवेश करना चाहिए.

रेट सेंसिटिव स्कीम

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि गिल्ट फंड रेट सेंसिटिव स्कीम होती हैं. अगर ब्याज दरों में कमी आती है तो इन फंडों का रिटर्न तेजी से बढ़ता है. वहीं अगर ब्याज दरों में बढ़ोत्तरी होती है तो इनका रिटर्न घट जाता है. असल में गिल्ट फंडों के रिटर्न सरकारी यील्ड में गिरावट से सीधे तौर पर जुड़े हैं. 10 साल के सरकारी बॉन्ड की बेंचमार्क यील्ड अभी घटकर 7 फीसदी से नीचे आ गई है. ऐसे में लांग ड्यूरेशन बांड की वैल्यू बढ़ जाती है.

उनका कहना है कि महंगाई अभी ​कंट्रोल में है. वहीं मॉनसून की स्थिति बेहतर हुई है. ऐसे में आगे भी रेट कट की पूरी गुंजाइश है. यह गिल्ट फंडों के लिए अच्छी खबर है. ब्याज दरें नीचे बनी रहती हैं तो गिल्ट फंडों में आगे भी बेहतर रिटर्न मिल सकता है. हालांकि सिर्फ इसी वजह से निवेशकों को बिना सोचे समझे गिल्ट फंडों में पैसा नहीं लगाना चाहिए. क्योंकि गिल्ट फंडों सहित लॉन्ग ड्यूरेशन सेगमेंट जोखिम मुक्त नहीं होते और रेट घटने या बढ़ने से इनमें अस्थिरता बढ़ जाती है. ऐसे में रिटेल इन्वेस्टर्स को एक्सपर्ट से सलाह लेकर ही निवेश करना चाहिए.

क्या करें निवेशक

निवेशकों को केवल उन्हीं फंड का चुनना चाहिए, जो हाई रेटेड (AAA) सिक्युरिटीज में निवेश करते हैं. जहां फंड मैनेजर ओवरआल पोर्टफोलियो का ज्यादातर आवंटन गवर्नमेंट सिक्युरिटीज में करते हैं. उन्हीं निवेशकों को इन फंड में निवेश करना चाहिए जो रिस्क ले सकते हैं. निवेश का लक्ष्य लंबी अवधि का रखना चाहिए, क्योंकि रेट कम होने से लांग ड्यूरेशन बांड की वैल्यू बढ़ती है.

1 साल में बेस्ट रिटर्न देने वाले फंड

IDFC गवर्नमेंट सिक्युरिटीज फंड

1 साल का रिटर्न: 17.24 फीसदी

Reliance ​गिल्ट सिक्युरिटीज फंड

1 साल का रिटर्न: 16.59 फीसदी

DSP गवर्नमेंट सिक्युरिटीज फंड

1 साल का रिटर्न: 16 फीसदी

SBI मैगनम गिल्ट फंड

1 साल का रिटर्न: 15.59 फीसदी

(Disclaimer: हम यहां निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. गिल्ट फंडों ने एक साल में दिया 17% तक रिटर्न, निवेश से पहले जान लें जरूरी बातें

Go to Top