सर्वाधिक पढ़ी गईं

9650 के स्तर तक टूट सकता है निफ्टी, इन 4 वजहों से आम चुनावों तक बाजार में रहेगा दबाव

आगे निफ्टी के लिए 9950 का स्तर बेहद अहम है, जिसके टूटने पर बाजार 9650 के स्तर तक कमजोर हो सकता है.

October 29, 2018 6:40 AM
stock market outlook, correction in stock market, bearish mode, Nifty, Sensex, invest, investors, general electionआगे निफ्टी के लिए 9950 का स्तर बेहद अहम है, जिसके टूटने पर बाजार 9650 के स्तर तक कमजोर हो सकता है.

शेयर बाजार पिछले 2 महीने से करेक्टिव मोड में है. इस दौरान बाजार में करीब 16 फीसदी तक गिरावट आ चुकी है. 28 अगस्त के बाद से सेंसेक्स करीब 5000 अंक और निफ्टी 1600 अंक टूट चुका है. अर्निंग सीजन से बाजार को सपोर्ट मिलने की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा नहीं हो पाया है. एक्सपर्ट का मानना है कि बाजार को न सिर्फ घरेलू स्तर पर, ब​ल्कि ग्लोबल स्तर पर कई निगेटिव फैक्टर का सामना करना पड़ रहा है. कंजम्पशन स्टोरी भी कमजोर है. ऐसे में आम चुनावों तक बड़ी रैली की उम्मीद नहीं है. ​इस दौरान निफ्टी के लिए 9950 का स्तर बेहद अहम है. इसे ब्रेक होने पर निफ्टी 9650 से 9700 का स्तर देख सकता है.

मार्केट पर ये फैक्टर हावी

घरेलू स्तर पर कमजोर मैक्रो फैक्टर, NBFC में लिक्विडिटी की समस्या, डोमेस्टिक म्यूचुअल फंड के फ्लो में कमी, कमजोर कंजम्पशन स्टोरी, अर्निंग सीजन उम्मीद से कमजोर रहने, रुपये में पॉलिटिकल अनसर्टेनिटी ऐसे फैक्टर हैं जो मार्केट पर दबाव डाल रहे हैं.

वहीं, ग्लोबल स्तर पर यूएस में 10 साल के बॉन्ड यील्ड में तेजी, दुनियाभर के कई प्रमुख बाजारों में कमजोरी, विदेशी संस्थागत निवेशकों का बाजार में आकर्षण कम होना, क्रूड की कीमतों में तेजी, ट्रेड वार और जियो पॉलिटिकल टेंशन.

अर्निंग सीजन से बाजार को नहीं मिला सपोर्ट

एपिक रिसर्च के सीइओ नदीम मुस्तफा का कहना है कि अर्निंग सीजन में अबतक की बात करें तो सबसे ज्यादा ध्यान इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी ने ही खींचा है. रुपये में गिरावट का सेक्टर को फायदा मिला है. फार्मा सेक्टर में भी रुपये की गिरावट से अर्निंग बेहतर रहने की उम्मीद है. बैंकों के नतीजे ठीक जरूर रहे लेकिन प्रोविजनिंग ज्यादा रहने से स्टॉक अट्रैक्टिव नहीं दिख रहे हैं. दूसरे सेक्टर या मिडकैप या स्मालकैप की बात करें तो उनमें लोअर गाइडलाइन, हॉयर प्रोविजनिंग या मार्जिन घटने के केस ज्यादा रहे हैं. ऐसे में बाजार को इसका सपोर्ट नहीं मिल रहा है.

इक्विटी 99 के सीनियर एनालिस्ट राहुल शर्मा का कहना है कि अर्निंग सीजन की बात करें तो पहली तिमाही की तुलना में म्यूटेड ग्रोथ ही देखने को मिली है. आईटी और बैंकिंग सेक्टर में सलसना आधार पर बेहतर ग्रोथ रही है, लेकिन तिमाही आधार पर ग्रोथ ठंडी ही रही है. दूसरे सेक्टर की बात करें तो FMCG, आॅटो, सीमेंट और NBFCs में ग्रोथ इंडी रहने की उम्मीद है, जबकि फार्मा को लो बेस का फायदा मिल सकता है. हालांकि बाजार को बेहतर अर्निंग की उम्मीद थी.

9650 से 9700 के स्तर तक गिर सकता है निफ्टी

नदीम मुस्तफा का कहना है कि शेयर बाजार लंबे समय से करेक्टिव मोड में है. न सिर्फ घरेलू स्तर पर बल्कि ग्लोबल स्तर पर भी कई निगेटिव फैक्टर बाजार के सेंटीमेंट खराब कर रहे हैं. दुनियाभर के प्रमुख बाजारों में भी गिरावट है, जिसका असर बाजार पर हो रहा है. बाजार में हाई वोलैटिलिटी अभी बनी हुई है जो आगे भी जारी रहने की उम्मीद है. नियर टर्म की बात करें तो निफ्टी के लिए 9950 का स्तर बेहद अहम हो गया है, जो 52 हफ्तों का लो है. यह लेवल ब्रेक हुआ तो निफ्टी 9650-9700 के स्तर तक टूट सकता है.

PE रेश्यो

राहुल शर्मा का कहना है कि निफ्टी 50 में अपने पीक लेवल 11700 से 10030 के स्तर पर आ गया है. यानी बाजार में 15 से 18 फीसदी का करेक्शन आ चुका है. निफ्टी का PE रेश्यो अभी 24.41 बना हुआ है जो पहले 27-28 था. वहीं, मिडकैप की बात करें तो निफ्टी मिडकैप इंडेक्स का PE रेश्यो 17-18 से बढ़कर जनवरी 2018 में 53 के पीक लेवल पर पहुंच गया. हालांकि जनवरी 2018 के बाद से मिडकैप इंडेक्स 26 फीसदी करेक्ट हुआ है लेकिन PE अभी भी 43 पर बना हुआ है जो सेग्मेंट के लिए ओवरहीटेड है. हिस्टोरिदक कंफर्ट लेवल 35 से 40 के बीच में है. ऐसे में अभी भी सेग्मेंट में करेक्शन के चांस हैं.

VIX 19.23 के स्तर पर

मार्केट में उतार-चढ़ाव का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि निफ्टी वोलैटिलिटी इंडेक्स VIX 19.23 के स्तर पर आ गया है. पिछले 4 हफ्ते से VIX में लगातार अपसाइड मूवमेंट देखी जा रही है. मार्केट के लिए कई निगेटिव फैक्टर काम कर रहे हैं, जिससे आगे भी मार्केट वोलेटाइल रहने के पूरे आसार हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 9650 के स्तर तक टूट सकता है निफ्टी, इन 4 वजहों से आम चुनावों तक बाजार में रहेगा दबाव

Go to Top