मुख्य समाचार:

Vodafone Idea: 17% तक चढ़ने के बाद 17% तक टूटे वोडाफोन आइडिया के शेयर, क्या है वजह?

शुक्रवार के कारोबार में टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया के शेयरों में 17 फीसदी तक तेजी दिख रही है.

February 14, 2020 2:35 PM
vodafone idea, supreme court, AGR, Airtel, Tata Tele Services, Jio, vodafone idea stock rose ahaed of AGR hearing in supreme court, Dot, department of telecommunication, vodafone idea Q3, वोडाफोन आइडिया, एजीआरशुक्रवार के कारोबार में टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया के शेयरों में 17 फीसदी तक तेजी दिख रही है.

Vodafone Idea Stock Rose: शुक्रवार के कारोबार में टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन आइडिया के शेयरों में भारी उतार चढ़ावे देखने को मिल रहा है. इंट्राडे कारोबार में कंपनी के शेयरों में 17 फीसदी तक की तेजी दर्ज हुई. लेकिन कुछ देर बाद ही वोडाफोन आइडिया में 17 फीसदी से ज्यादा गिरावट आ गई. असल में एजीआर मामले में आज सुप्रीम कोर्ट से टेलिकॉम कंपनियों को राहत नहीं मिली है. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कोर्ट ने सभी आवेदन खारिज करते हुए एजीआर न वसूले जाने पर डीओटी को भी फटकार लगाई है. वहीं टेलिकॉम कंपनियों पर एक्शन न लेने के चलते नोटिस भी जारी किया है. फिलहाल सुप्रीम कोर्ट ने आज ही कंपनियों को बकाया जमा करने को कहा है.

आज सुप्रीम कोर्ट में दूरसंचार कंपनियों पर सरकार के एजीआर के भुगतान की नई समयसीमा तय करने संबंधी याचिका पर सुनवाई थी. ऐसे में टेलिकॉम कंपनियों को उम्मीद थी कि कोर्ट की ओर से कुछ राहत मिल सकती है. यह याचिका भारती एयरटेल, वोडाफोन आइडिया और टाटा टेलिसविर्सिज ने दायर की है. याचिका में दूरसंचार सेवा देने वाली इन कंपनियों ने एजीआर संबंधी बकाये का भुगतान करने के लिये न्यायालय से अधिक समय दिये जाने की गुहार लगाई है. इन कंपनियों को दूरसंचार विभाग को 1.47 लाख करोड़ रुपये के पुराने सांविधिक बकाये का भुगतान करना है.

वोडाफोन आइडिया पर 53,038 करोड़ का बकाया

वोडाफोन आइडिया लि. (वीआईएल) पर 53,038 करोड़ रुपये का वैधानिक बकाया है. इसमें 24,729 करोड़ रुपये का स्पेक्ट्रम बकाया और 28,309 करोड़ रुपये लाइसेंस शुल्क शामिल हैं. कंपनी ने पिछले दिनों कहा था कि उसे अगर राहत नहीं मिली तो अपना कारोबार बंद कर देगी. वोडाफोन आइडिया के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला पहले ही कह चुके हैं कि अगर सरकार या न्यायालय ने राहत नहीं दी तो कंपनी बंद हो जाएगी.इसमें सबसे ज्यादा हिस्सेदारी वोडाफोन आइडिया की है.

आज ही कंपनियां जमा करें बकाया

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सुप्रीम कोर्ट ने टेलिकॉम कंपनियों को आज ही बकाया जमा करने को कहा है. पहले शीर्ष अदालत ने दूरसंचार कंपनियों को 23 जनवरी 2020 तक बकाये का 1.47 लाख करोड़ रुपये चुकाने का आदेश दिया था. इसी आदेश की समीक्षा की कंपनियों की याचिका को कोर्ट ने यह कहते हुये खारिज कर दिया कि इसमें उसे ‘कोई न्यायोचित कारण’ नहीं दिखा. सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 24 अक्टूबर को अपने फैसले में दूरसंचार विभाग की दलील को सही ठहराते हुये कहा था कि सरकारी सांविधिक देनदारियों में दूरसंचार कंपनियों की गैर-दूरसंचार आय को भी शामिल किया जाना चाहिये.

वोडाफोन आइडिया को 6453.2 करोड़ का घाटा

दिसंबर तिमाही में वोडाफोन आइडिया को 6,453.2 करोड़ का भारी भरकम घाटा हुआ है जो एक साल पहले की समान अवधि में 5,004.6 करोड़ रुपये था. वहीं, रेवेन्यू भी इस दौरान 5.7 फीसदी गिरकर 11,089.4 करोड़ रहा जो एक साल पहले की समान अवधि में 11,764 करोड़ रुपये था. हालांकि तिमाही आधार पर रेवेन्यू 2.3 फीसदी बढ़ा है, जिसके पीछे 4जी में ग्राहकों की संख्या बढ़नी है. दिसंबर तिमाही में EBITDA तिमाही आधार पर 0.7 फीसदी बढ़कर 3,420 करोड़ रुपये हो गया है, जबकि EBITDA मार्जिन 10.2 फीसदी से बढ़कर 11.6 फीसदी हो गया है. ARPU में सुधार हुआ है और यह 107 रुपये से बढ़कर 109 रुपये हो गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Vodafone Idea: 17% तक चढ़ने के बाद 17% तक टूटे वोडाफोन आइडिया के शेयर, क्या है वजह?

Go to Top