मुख्य समाचार:

Vocal for Local: मोदी सरकार ने रंगीन TV के आयात पर लगाई रोक, हर साल करोड़ों रुपये का है इम्पोर्ट

हाल ही में सरकार ने लोकल मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और गैर जरूरी आयात में कटौती करने के कई कदम उठाए गए हैं.

Updated: Jul 31, 2020 1:48 PM
Vocal for Local: Modi govt restricts ‘Colour TV’ importsभारत में वित्त वर्ष 2019 में रंगीन टीवी का आयात 7,120 करोड़ रुपये का हुआ था. (Image: Reuters)

Ban on Colour TV’ imports: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) के आत्मनिर्भर भारत (aatm nirbhar bharat) मिशन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने देश में कलर टीवी (रंगीन टेलीविजन) के आयात पर रोक लगा दी है. विदेश व्यापार महानिदेशालय (DGFT) ने एक नोटिफिकेशन में कहा है कि कलर टेलीविजन के लिए आयात नीति को संसोधित कर मुक्त से प्रतिबंधित कर दिया गया है. हाल ही में सरकार ने लोकल मैन्युफैक्चरिंग को बढ़ावा देने और गैर जरूरी आयात में कटौती करने के कई कदम उठाए गए हैं. भारत चीन और वियतनाम के अलावा हांगकांग, मलयेशिया, कोरिया, इंडोनेशिया, जर्मनी और थाईलैंड जैसे देशों से भी कलर टीवी का आयात करता है.

वाणिज्य विभाग के अनुसार, भारत में रंगीन टीवी का सबसे अधिक आयात चीन और वियतनाम से होता है. वित्त वर्ष 2019 में रंगीन टीवी का आयात 7,120 करोड़ रुपये का हुआ था. वित्त वर्ष 20 में यह 22.56 फीसदी घटकर 5,514 करोड़ रुपये रह गया. हालांकि वित्त वर्ष 2019 में रंगीन टीवी का आयात 52.86 फीसदी बढ़ा था. सरकारी की तरफ ये यह प्रतिबंध 14 इंच से शुरू होने वाले टीवी से लेक 41 इंच तक और उससे ज्यादा बड़े टीवी पर लगाया गया है. नोटिफिकेशन के अनुसार, लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले टीवी सेट, जिसकी स्क्रीन 24 इंच से कम है उस पर भी प्रतिबंध लगा है.

सोने ने 7 महीने में 37% दिया रिटर्न, निवेशकों को हर 10 ग्राम पर 14418 रुपये का मुनाफा; अब क्या होगा

DGFT के नोटिफिकेशन के अनुसार, कलर यानी रंगीन टीवी के आयात पर रोक लगाने वाली नीति में कुछ संशोंधन भी है. इसका मतलब हुआ कि अगर कोई व्यक्ति प्रतिबंधित श्रेणी में रखी गई किसी वस्तु को आयात करना चाहता है तो उसे पहले DGFT से लाइसेंस लेना होगा. लाइसेंस देने की प्रक्रिया अलग से डीजीएफटी द्वारा जारी की जाएगी.

TV मैन्युफैक्चरिंग के लिए इकोसिस्टम जरूरी

सुपर प्लास्ट्रिॉनिक्स प्राइवेट लिमिटेड, कोटक ब्रांड की लाइसेंसी, के निदेशक एवं सीईओ अवनीत सिंह मारवाह ने फाइनेंशियल एक्सप्रेस आनलाइन को बताया, ”DGFT की ओर से किए गए एलान से घरेलू मैन्युफैक्चरिंग क्षमता और भागीदारी बढ़ाने के लिए स्थानीय कंपनियां निवेश करेंगी.” उन्होंने कहा कि यह स्वागत योग्य पहल है. इससे आत्मनिर्भरता हासिल करने में मदद मिलेगी. हमें इसके वैल्यू एडिशन के पूरे इकोसिस्टम को खड़ा करने की जरूरत है.

अवनीत का कहना है कि करीब 30 फीसदी टीवी कई देशों से आयात किए जाते हैं. करीब 80-85 फीसदी टीवी कंपोनेंट आयात होते हैं क्योंकि इनकी लोकल मैन्युफैक्चरिंग नहीं होती है. भारत को टीवी मैन्युफैक्चरिंग को सपोर्ट करने के लिए कंपोनेंट और पैनल डिस्प्ले मैन्युफैक्चरिंग प्लांट लगाने की जरूरत है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Vocal for Local: मोदी सरकार ने रंगीन TV के आयात पर लगाई रोक, हर साल करोड़ों रुपये का है इम्पोर्ट

Go to Top