scorecardresearch

New IPO: उत्कर्ष स्माल फाइनेंस बैंक ने आईपीओ के लिए दोबारा किया आवेदन, आधी से भी कम रह गई इश्यू साइज

Utkarsh SFB IPO: उत्कर्ष स्माल फाइनेंस बैंक ने सेबी के पास आईपीओ के लिए दोबारा आवेदन किया है. हालांकि इस बार इश्यू साइज आधे से भी कम रह गया है.

New IPO: उत्कर्ष स्माल फाइनेंस बैंक ने आईपीओ के लिए दोबारा किया आवेदन, आधी से भी कम रह गई इश्यू साइज
उत्कर्ष एसएफबी का गठन 2016 में हुआ था और इसने 2017 में कामकाज शुरू किया था.

Utkarsh SFB IPO: उत्कर्ष स्माल फाइनेंस बैंक (Utkarsh Small Finance Bank) ने बाजार नियामक सेबी (SEBI) के पास आईपीओ के लिए दोबारा आवेदन किया है. हालांकि इस बार इश्यू साइज आधे से भी कम रह गया है. सेबी के पास दाखिल ड्राफ्ट रेड हेरिंग प्रॉस्पेक्टस के मुताबिक उत्कर्ष एसएफबी (Utkarsh SFB) अब 500 करोड़ रुपये का आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है जबकि पहले 1350 करोड़ रुपये का इश्यू लाने की योजना थी.

Stock Tips: 70% कमाई कराएगा Tata Group का यह शेयर, अभी मिल रहे हैं भारी डिस्काउंट पर

पिछले साल आईपीओ को मिल गई थी मंजूरी

पिछले साल मार्च 2021 में उत्कर्ष एसएफबी ने 1350 करोड़ के आईपीओ के लिए कागजात फाइल किए थे जिसके तहत 750 करोड़ रुपये का नए शेयर और शेष 600 करोड़ रुपये के शेयर ऑफर फॉर सेल विंडो के तहत जारी किए जाने थे. सेबी ने जून 2021 में इस इश्यू को लाने की मंजूरी दे दी थी. हालांकि कंपनी ने इश्यू नहीं लाया और सेबी की मंजूरी का पीरियड खत्म हो गया. सेबी के नियमों के मुताबिक आईपीओ की मंजूरी मिलने के एक साल के भीतर इश्यू लाना जरूरी होता है और अगर कंपनी ऐसा करने में असफल रहती है तो आईपीओ के लिए दोबारा कागजात दाखिल करने होते हैं. उत्कर्ष एसएफबी को जो मंजूरी मिली थी, वह पिछले महीने एक्सपायर हो गई तो इसने फिर से आवेदन किया है.

इंडस्ट्रियल वर्कर्स को पिछले महीने महंगाई से मिली राहत, लेकिन सालाना आधार पर बढ़ गया खर्च, सरकारी आंकड़ों से खुलासा

500 करोड़ रुपये के नए शेयर होंगे जारी

पहले उत्कर्ष एसएफबी ने जो आईपीओ प्रॉस्पेक्टस फाइल किया था, उसमें नए शेयर और ओएफएस विंडो के तहत शेयरों की बिक्री का प्रावधान था. अब उत्कर्ष एसएफबी ने जो ड्राफ्ट फाइल किया है, उसके मुताबिक 500 करोड़ रुपये के नए शेयर जारी किए जाएंगे. हालांकि एसएफबी 100 करोड़ रुपये प्री-आईपीओ प्लेसमेंट पर भी विचार कर सकता है और अगर ऐसा होता है तो फ्रेश इश्यू साइज भी घट सकता है. इश्यू के जरिए जुटाए गए पैसों का इस्तेमाल उत्कर्ष एसएफबी के टियर-1 कैपिटल बेस में किया जाएगा ताकि भविष्य की पूंजी जरूरतों को पूरा किया जा सके. इस इश्यू के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर्स आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज और कोटक महिंद्रा कैपिटल हैं.

Maharashtra Politics: शिंदे सरकार को एक महीना पूरा, लेकिन कैबिनेट विस्तार के अभी भी कोई संकेत नहीं

Utkarsh SFB की डिटेल्स

उत्कर्ष एसएफबी का गठन 2016 में हुआ था और इसने 2017 में कामकाज शुरू किया था. इसमें सेविंग अकाउंट्स, सैलरी खाते, चालू खाते, आवर्ती खाते, एफडी और लॉकर फैसिलिटीज जैसी सर्विसेज मिलती हैं. 31 मार्च 2022 तक उपलब्ध आंकड़ों के मुताबिक इसका कारोबार 22 राज्यों व यूनियन टेरीटरीज में फैला हुआ है और इसके 686 बैंकिंग आउटलेट्स व 12617 एंप्लाई हैं. इसका कारोबार मुख्य रूप से बिहार, उत्तर प्रदेश और झारखण्ड के गांवों और अर्द्ध-शहरी इलाकों में है. इसका ग्रॉस लोन पोर्टफोलियो 31 मार्च 2020 को 6,660.95 करोड़ रुपये से बढ़कर 31 मार्च 2022 तक 10,630.72 करोड़ रुपये तक पहुंच गया. इसका डिपॉजिट्स भी इस अवधि में 5,235.21 करोड़ रुपये से बढ़कर 10,074.18 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.
(इनपुट: पीटीआई)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News