मुख्य समाचार:

मई में निर्यात 3.9% बढ़ा, व्यापार घाटा भी बढ़कर 6 महीने के रिकॉर्ड स्तर पर

शुक्रवार को कॉमर्स मिनिस्ट्री ने आंकड़ा जारी किया है.

June 14, 2019 10:16 PM
india trade, inida import, india export, import, export, crude oil import, gold import, trade balance, trade deficitकच्चे तेल के अधिक आयात से व्यापार घाटा बढ़ रहा है.

देश का निर्यात मई महीने में 3.93 प्रतिशत बढ़कर 30 अरब डॉलर पर पहुंच गया. शुक्रवार को कॉमर्स मिनिस्ट्री द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार इलेक्ट्रॉनिक्स और रसायन क्षेत्र के बेहतर प्रदर्शन से कुल निर्यात बढ़ा है. हालांकि, इस दौरान व्यापार घाटा बढ़कर छह महीने के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया है. आंकड़ों के अनुसार मई में आयात भी 4.31 प्रतिशत बढ़कर 3.17 लाख करोड़ रुपये (4535 करोड़ डॉलर) रहा. इस तरह व्यापार घाटा बढ़कर 1.07 लाख करोड़ रुपये (1536 करोड़ डॉलर) पर पहुंच गया. पिछले साल मई में निर्यात और आयात का अंतर 1.02 लाख करोड़ रुपये (1462 करोड़ डॉलर) रहा था. व्यापार घाटे का यह स्तर नवंबर, 2018 के बाद से सबसे ऊंचा है. उस समय व्यापार घाटा 1.17 लाख करोड़ रुपये (1667 करोड़ डॉलर) रहा था.

मई में इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र का निर्यात 51 फीसदी बढ़ा

मई महीने में इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र का निर्यात 51 प्रतिशत बढ़ा. इस दौरान इंजीनियरिंग निर्यात में 4.4 प्रतिशत, रसायन में 20.64 प्रतिशत, फार्मा में 11 प्रतिशत तथा चाय में 24.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई. हालांकि, समीक्षाधीन अवधि में पेट्रोलियम उत्पादों, कृत्रिम धागे, रत्न एवं आभूषण, समुद्री उत्पाद, कॉफी और चावल के निर्यात में गिरावट आई. समीक्षाधीन महीने में कच्चे तेल का आयात 8.23 प्रतिशत की बढ़ोतरी के साथ 86.9 हजार करोड़ रुपये (1244 करोड़ डॉलर) रहा, जबकि नॉन-ऑयल आयात 2.9 प्रतिशत बढ़कर 2.30 लाख करोड़ रुपये (3291 करोड़ डॉलर) पर पहुंच गया. मई में सोने का आयात 37.43 प्रतिशत बढ़कर 33.4 हजार करोड़ रुपये (478 करोड़ डॉलर) पर पहुंच गया.

कच्चे तेल के अधिक आयात से बढ़ रहा व्यापार घाटा

चालू वित्त वर्ष के पहले दो माह अप्रैल-मई में निर्यात 2.37 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 3.91 लाख करोड़ रुपये (5600 करोड़ डॉलर) रहा है. इस दौरान आयात 4.39 प्रतिशत बढ़कर 6.06 लाख करोड़ रुपये (8675 करोड़ डॉलर) पर पहुंच गया. इस तरह अप्रैल-मई में व्यापार घाटा 2.14 लाख करोड़ रुपये (3069 करोड़ डॉलर) रहा है.

निर्यातकों के प्रमुख संगठन फियो के अध्यक्ष गणेश कुमार गुप्ता ने कहा कि मई में निर्यात में वृद्धि मामूली रही जिसके कारण वैश्विक व्यापार में सुस्ती है. गुप्ता ने कच्चे तेल के आयात का बिल बढ़ने की वजह से व्यापार घाटे में बढ़ोतरी पर चिंता जताई. उन्होंने कहा कि सरकार को वस्तुओं के निर्यातकों के लिए कर्ज की उपलब्धता, कर्ज की लागत के साथ सभी कृषि निर्यात पर ब्याज सब्सिडी के मुद्दे पर ध्यान देना चाहिए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. मई में निर्यात 3.9% बढ़ा, व्यापार घाटा भी बढ़कर 6 महीने के रिकॉर्ड स्तर पर

Go to Top