मुख्य समाचार:

म्यूचुअल फंड: मंदी के दौर में ऐसे बनाएं पोर्टफोलियो, जिससे भरती रही आपकी जेब

स्लोडाउन के दौर में म्यूचुअल फंडों में कैसे करें निवेश

September 14, 2019 8:32 AM
Mutual Fund, best mutual fund idea, mutual fund portfolio, how can you invest in slowdown, म्यूचुअल फंडों में कैसे करें निवेश, equity mutual fund, debt fund, largecap fund, multicap fundस्लोडाउन के दौर में म्यूचुअल फंडों में कैसे करें निवेश

पिछले कुछ महीनों से अर्थव्यवस्था में जारी मंदी के बीच कैपिटल मार्केट में पैसा लगाने को लेकर निवेशकों में डर बन गया है. खासतौर से शेयर बाजार में गिरावट रही है, जिसका असर इक्विटी फंड के रिटर्न पर भी पड़ा है. लेकिन अच्छे संकेत ये हैं कि इक्विटी म्यूचुअल फंड सेग्मेंट में निवेशक भरोसा बनाए हुए हैं. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया के आंकड़ों के अनुसार अगस्त में इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेशकों ने 9 हजार करोड़ रुपये से अधिक निवेश किया. एक्सपर्ट का कहना है कि इक्विटी सेग्मेंट हमेशा से सबसे ज्यादा रिटर्न देने वाला रहा है. वहीं, मंदी टेम्परेरी है, जिसे जल्द दूर करने के उपाय हो रहे हैं. ऐसे में जरा भी रिस्क ले सकते हैं तो कम से 5 साल का लक्ष्य लेकर क्वालिटी फंड में पैसा लगा सकते हैं.

ऐसे तैयार कर सकते हैं पोर्टफोलियो

फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म BPN फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि सबसे पहले तो यह समझना जरूरी है कि ये जो मंदी है, वह स्थाई नहीं रहने वाली है. लंबी जरूर खिंच सकती है, लेकिन अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आएगी. सरकार इसकी कोशिशों में लगी है. दूसरा यह कि मंदी के इस फेज में बहुत से क्वालिटी इक्विटी फंड हैं, जिनमें ज्यादा गिरावट आ चुकी है. निवेशकों के लिए यहां से पोर्टफोलियो तैयार करने का अच्छा मौका है. लेकिन उनका लक्ष्य कम से कम 5 से 7 साल को होना चाहिए. हां यह ध्यान रखना होगा कि मिडकैप और स्मालकैप अभी रिस्की हैं, इसलिए खासतौर से स्मालकैप से दूर रहें.

निवेशकों को लॉर्जकैप, मल्टीकैप, लॉर्ज एंड मिडकैप सेग्मेंट से बेहतर फंड का चुनाव करना चाहिए. अगर पिछले 5 साल और 10 साल के रिटर्न पर नजर डालें तो लॉर्जकैप सेग्मेंट ने इस दौरान 7.13 फीसदी और 9.65 फीसदी, लॉर्ज एंड मिडकैप सेग्मेंट ने 8.05 फीसदी और 11.33 फीसदी, जबकि मल्टीकैप ने 7.64 फीसदी और 11.26 फीसदी रिटर्न दिया है.

उनका कहना है कि अगर निवेश का लक्ष्य 3 साल या इससे कम है तो इक्विटी सेग्मेंट से दूर रहें. बल्कि डेट फंड का चुनाव कर सकते हैं. इनमें भी शॉर्ट ड्येरेशन फंड बेहतर विकल्प हैं, जहां अपना पोर्टफोलियो जल्द बदलने का मौका मिलता है. लांग ड्यूरेशन फंडामें रिटर्न पहले ही बहुत ज्यादा मिल गया है, ऐसे में आगे अनिश्चितता का रिस्क इसमें हो सकता है.

इन फंडों पर डालें नजर

मिराए एसेट लॉर्जकैप फंड

कटेगिरी: इक्विटी लॉर्जकैप
एसेट: 13,946 करोड़ रु (31 अगस्त, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.75% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 4 अप्रैल, 2008
लांच के बाद से रिटर्न: 14.94%
5 साल का रिटर्न: 10.66%
10 साल का रिटर्न: 15.09%
मिनिमम SIP: 500 रुपये

केनरा रोबेको इमर्जिंग इक्विटीज फंड

कटेगिरी: इक्विटी लॉर्ज एंड मिड कैप
एसेट: 4669 करोड़ रु (31 अगस्त, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 1.93% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 11 मार्च, 2005
लांच के बाद से रिटर्न: 16.04%
5 साल का रिटर्न: 11.67%
10 साल का रिटर्न: 18.44%
मिनिमम SIP: 1000 रुपये

Axis फोकस्ड 25 फंड

कटेगिरी: इक्विटी मल्टीकैप
एसेट: 7841 करोड़ रु (31 अगस्त, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.03% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 29 जून, 2012
लांच के बाद से रिटर्न: 14.95%
5 साल का रिटर्न: 11.58%
मिनिमम SIP: 1000 रुपये

SBI मैगनम मल्टीकैप फंड

कटेगिरी: इक्विटी मल्टीकैप
एसेट: 7549 करोड़ रु (31 अगस्त, 2019)
एक्सपेंस रेश्यो: 2.13% (31 अगस्त, 2019)
लांच डेट: 29 सितंबर, 2005
लांच के बाद से रिटर्न: 11%
5 साल का रिटर्न: 11.67%
मिनिमम SIP: 1000 रुपये

(Disclaimer: हम यहां निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. म्यूचुअल फंड: मंदी के दौर में ऐसे बनाएं पोर्टफोलियो, जिससे भरती रही आपकी जेब

Go to Top