मुख्य समाचार:

कोरोना संकट से क्वालिटी स्टॉक की लगी ‘सेल’, 1 साल में 80% तक सस्ते हुए मिडकैप में निवेश का मौका

पिछले एक साल में मिडकैप शेयरों में 89 फीसदी तक गिरावट आई है. कई क्वालिटी शेयर भी बेहद सस्ते भाव पर मिल रहे हैं.

Updated: Jun 10, 2020 8:56 AM

 

Mid Cap stocks, these quality midcap stocks trading at attractive valuation, midcaps fall up to 89% in 1 years, should you buy midcap, quality Mid Capsपिछले एक साल में मिडकैप शेयरों में 89 फीसदी तक गिरावट आई है. कई क्वालिटी शेयर भी बेहद सस्ते भाव पर मिल रहे हैं.

कोरोना माहामारी संकट के चलते शेयर बाजार का पिछले 1 साल का रिटर्न बिगड़ गया है. लॉर्जकैप हो या मिडकैप या स्मालकैप सेग्मेंट सभी में गिरावट रही है. पिछले एक साल में सेंसेक्स में 14 फीसदी और निफ्टी में 15 फीसदी गिरावट रही तो बीएसई मिडकैप इंडेक्स करीब 16 फीसदी कमजोर हुआ है. इंडेक्स में शामिल 72 फीसदी शेयर इस दौरान निगेटिव रिटर्न में चले गए हैं. वहीं पिछले एक साल में मिडकैप शेयरों में 89 फीसदी तक गिरावट आई है. इस गिरावट में कई क्वालिटी शेयर भी बेहद सस्ते भाव पर मिल रहे हैं. इनमें से कुछ क्वालिटी शेयरों में एक्सपर्ट ने निवेश की सलाह दी है.

1 साल में इन शेयरों में सबसे ज्यादा गिरावट

इंडियन बैंक में 80 फीसदी, आरबीएल बैंक में 79 फीसदी, फ्यूचर रिटेल में 78 फीसदी, पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस में 75 फीसदी, वैरोक इंजीनियरिंग में 64 फीसदी, NBCC में 64 फीसदी, महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंस में 62 फीसदी, केनरा बैंक में 62 फीसदी, यूनियन बैंक आफ इंडिया में 62 फीसदी और भेल में 55 फीसदी, फेडरल बैंक में 54 फीसदी, एलआईसी हाउसिंग में 54 फीसदी और चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस में 50 फीसदी गिरावट रही है.

किन शेयरों में कर सकते हैं निवेश

चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस

चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस में पिछले 1 साल के दौरान करीब 50 फीसदी गिरावट आई है. कंपनी का शेयर 295 रुपये के भाव से टूटकर 150 रुपये पर आ गया है. यानी शेयर में 145 रुपये की गिरावट रही. शेयर के 1 साल का हाई 348.85 रुपये है. चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस में एचडीएफसी सिक्युरिटीज ने 225 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस 150 रुपये के लिहाज से शेयर में 50 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. रिपोर्ट के अनुसार कंपनी का पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई है और एसेट क्वालिटी की हिस्ट्री बेहतर रही है. लोन बुक मजबूत है.

Exide इंडस्ट्रीज

आटो एंसिलियरी कंपनी एक्साइड इंडस्ट्री में पिछले एक साल के दौरान 25 फीसदी गिरावट आ चुकी है. शेयर का भाव 210 रुपये से 158 रुपये पर आ गया है. यानी इसमें 52 रुपये की गिरावट आई है. शेयर के लिए 1 साल का हाई 214.45 रुपये है. ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने शेयर के लिए 205 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस के लिहाज से इसमें 30 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. रिपोर्ट के अनुसार कंपनी का आपरेटिंग परफॉर्मेंस अनुमान के मुताबिक रहा है. लॉकडाउन के चलते बिजनेस पर असर आया. आगे लॉकडज्ञउन खुलने का फायदा कंपनी को मिलेगा.

फेडरल बैंक

फेडरल बैंक में पिछले एक साल में 54 फीसदी गिरावट आ चुकी है. इस दौरान शेयर का भाव 106 रुपये से घटकर 48.40 रुपये पर आ गया. यानी करीब 57.60 रुपये की गिरावट रही है. शेयर के लिए 1 साल का हाई 110.35 रुपये है. फेडरल बैंक में ब्रोकरेज हाउस ICICI सिक्युरिटीज ने 60 तो मोतीलाल ओसवाल ने 65 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस के लिहाज से इसमें 35 फीसदी रिटर्न मिल सकता है. चौथी तिमाही में फेडरल बैंक का मुनाफा 21 फीसदी गिरा है. ऐसा प्रोविजनिंग बढ़ने की वजह से हुई. हालांकि एसेट क्वालिटी स्टेबल है.

आरबीएल बैंक

आरबीएल बैंक में पिछले एक साल में 79 फीसदी की गिरावट आ चुकी है और शेयर 670 रुपये के भाव से घटकर 140 रुपये पर आ गया है. 1 साल का हाई 679 रुपये रहा है. ब्रोकरेज हाउस आईआईएफएल ने शेयर में 190 रुपये का लक्ष्य दिया है. करंट प्राइस के लिहाज से इसमें 36 फीसदी रिटर्न मिल सकता है.

(नोट: हमने यहां जानकारी शेयर के प्रदर्शन और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. कोरोना संकट से क्वालिटी स्टॉक की लगी ‘सेल’, 1 साल में 80% तक सस्ते हुए मिडकैप में निवेश का मौका

Go to Top