सर्वाधिक पढ़ी गईं

ये 3 मिडकैप बैंक स्टॉक निवेशकों को करा सकते हैं अच्छी कमाई, लेकिन इन शेयरों से रहें दूर

Mid & Small Size bank Stocks: स्माल और मिड साइज बैंकों का फोकस अपनी बैलेंसशीट को दुरुस्त कर एसेट क्वालिटी बेहतर करने पर बढ़ रहा है.

February 26, 2021 8:32 AM
Mid & Small Size bank StocksMid & Small Size bank Stocks: स्माल और मिड साइज बैंकों का फोकस अपनी बैलेंसशीट को दुरुस्त कर एसेट क्वालिटी बेहतर करने पर बढ़ रहा है.

Mid & Small Size bank Stocks: स्माल और मिड साइज बैंकों का फोकस अपनी बैलेंसशीट को दुरुस्त कर एसेट क्वालिटी बेहतर करने पर बढ़ रहा है. लॉर्जकैप बैंकी की ही तरह मिड और स्माल साइज बैंकों ने भी कॉरपोरेट और एसएमई लोन की जगह रिटेल लोन पर फोकस करना शुरू कर दिया है. दिसंबर तिमाही के नतीजों से यह दिख भी रहा है कि एनपीए में पहले से सुधार हुआ है. कोविड-19 के बाद अब बैंकों ने अपनी प्रोविजनिंग या कैपिटल बफर को बढ़ाया है, जिससे इस तरह के किसी भी शॉक से लांग टर्म में निपटने में मदद मिले. नतीजों के दौरान कुछ बैंकों की मैनेजमेंट कमेंट्री पॉजिटिव रही है और ज्यादातर का मानना है कि एसेट क्वालिटी पर दबाव कम हो रहा है और नियर टर्म में यह और कम होगा. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार आने वाले दिनों में कुछ मिड और स्माल साइज के बैंकों में अच्छी तेजी दिख रही है.

प्रोविजनिंग/कैपिटल बफर

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल के अनुसार कोविड 19 को देखते हुए ज्यादातर मिड और स्मालसाइज के बैंकों ने प्रोविजनिंग या कैपिटल बफर बढ़ाया है. यह मौजूदा समय में तो कैपिटल पर दबाव बए़ा सकता है, लेकिन लांग टर्म के लिए यह बेहतर उपाय है. इस बफर से कोविड 19 जैसे किसी भी शॉक से लांग टर्म में निपटने में मदद मिलेगी. फेडरल बैंक, CSB, इक्विटास फाइनेंस बैंक और उज्जीवन स्माल फाइनेंस बैंक ने हॉयर प्रोविजनिंग की है. जबकि SIB की प्रोविजनिंग सबसे कम है. ब्रोकरजे के अनुसार इससे प्रोविजनिंग कास्ट बढ़ेगी जरूर, लेकिन अर्निंग वोलेटिलिटी में कमी आएगी. बैंकों की मार्केट कंडीशन में सुधार होगा.

कम हो रहा है कॉरपोरेट स्ट्रेस

बैंकों की मैनेजमेंट कमेंट्री से साफ होता है कि कॉरपोरेट लोन स्ट्रेस अब कम हो रहा है. SME स्ट्रेस को बैंक नियम टर्म में कम करने में लगे हैं. वहीं बैंकों का फोकस रिटेलाइजेशन पर बढ़ा है. ब्रोकरेज का कहना है कि मिड और स्माल साइज के बैंकों का रीस्ट्रक्चरिंग रेट लॉर्जकैप बैंकों की तुलना में ज्यादा है. गोल्ड लोन एक बार फिर प्रीफर्ड प्रोडक्ट के रूप में उभरा है. अफोर्डेबल हाउसिंग की बढ़ती डिमांड भी बैंकों के फेवर में हैं. इन सबका फायदा इस सेग्मेंट को मिलेगा.

किन शेयरों में आएगी तेजी, किनसे रहें दूर

ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल का कहना है कि आने वाले दिनों में फेडरल बैंक, सिटी यूनियन बैंक और इक्विटास स्माल फाइनेंस बैंक बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. हालांकि DCB बैंक और उज्जीवन स्माल फाइनेंस बैंक के शेयरों से अभी दूर रहने की सलाह दी है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. ये 3 मिडकैप बैंक स्टॉक निवेशकों को करा सकते हैं अच्छी कमाई, लेकिन इन शेयरों से रहें दूर

Go to Top