मुख्य समाचार:

52 हफ्तों के हाई से 55% तक सस्ते हुए ये शेयर, अब 61% तक दिखा सकते हैं ग्रोथ; कोरोना संकट में भी एक्सपर्ट के बने पसंद

शेयर बाजार में कोरोना वायरस के चलते करेक्शन आया, जिसमें कई मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों की भी पिटाई हुई है.

April 3, 2020 8:43 AM
Bajaj Finance, IRCTC, HUL, best stock to invest, best stock idea, these stocks may give higher return, COVID-19 concern, correction in strong stocks, stock marketशेयर बाजार में कोरोना वायरस के चलते करेक्शन आया, जिसमें कई मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों की भी पिटाई हुई है.

Best Stock Idea To Investment: शेयर बाजार में 20 फरवरी के बाद से कोरोना वायरस के चलते करेक्शन आया है, कई दिग्गज और मजबूत फंडामेंटल वाले शेयरों की भी पिटाई हुई है. ऐसे कई शेयर हैं, जिनमें 20 फरवरी के पहले तक आउटलुक मजबूत बना हुआ था, लेकिन 20 फरवरी के बाद से उनकी पिटाई शुरू हो गई. आरआईएल, आईआरसीटीसी, बजाज फाइनेंस, मारुति और एचयूएल जैसे शेयर इनमें शामिल हैं. ये शेयर अपने 52 हफ्तों के हाई से 55 फीसदी तक टूट गए. हालांकि एक्सपर्ट और ब्रोकरेज हाउस को इन शेयरों में एक बार फिर तेजी आने की उम्मीद है. इनमें क्यों तेजी आएगी, ब्रोकरेज ने ये बातें भी साफ की हैं. हमने ऐसे ही कुछ शेयरों को चुना है, जिनमें आने वाले 1 से 2 साल के दौरान 60 फीसदी तक ग्रोथ देखने को मिल सकता है.

IRCTC

आईआरसीटीसी का शेयर अपने 52 हफ्तों के हाई से 48 फीसदी करेक्ट हो चुका है. शेयर 1995 रुपये से गिरकर 1032 रुपये पर आ गया है. ब्रोकरेज हाउस प्रभुदास लीलाधर ने शेयर में बाउंसबैक का भरोसा जताया है. ब्रोकरेज का कहना है कि आईआरसीटीसी को कारेोना वायरस के चलते लॉकडाउन का बड़ा खामियाजा उठाना पड़ा है. जहां पहले रोज इससे करीब 9 लाख टिकट बुक होते थे, ट्रेन सर्विस सस्पेंड होने से टिकट रेवेन्यू में भारी गिरावट आई. कैटरिंग रेवेन्यू भी बुरी तरह से गिरा है. वहीं रेल नीर की बिक्री ठप पड़ गई है. हालांकि शेयर का वैल्युएशन काफी आकर्षक हो गया है. कोविड 19 की स्थिति सुधरने पर शेयर में फिर तेजी आएगी. ब्रोकरेन ने इसके लिए 1656 रुपये का लक्ष्य रखा है. करंट प्राइस के लिहाज से इसमें 60 फीसदी ग्रोथ मिल सकती है.

बजाज फाइनेंस

बजाज फाइनेंस ने लोन की ईएमआई पर 3 महीने की राहत के लिए ब्लैंकेट आफरिंग की जगह कंडीशनल मोरेटोरियम आफर किया है. इसके लिए एक कंडीशन यह भी रखी है कि 1 मार्च 2020 के बाद लिया गया लोन इसमें शामिल नहीं होगा. वहीं दूसरी कंडीशन यह है कि जिनका 2 से ज्यादा ईएमआई ड्यू होने की हिस्ट्री है, वे एजिलबल नहीं होंगे, चाहे कोई भी लोन हो. यानी रेगुलेटर डिफाल्टर को यह सुविधा नहीं मिलेगी. वहीं नए लोन पर भी सेफगार्ड है. वहीं ईएमआई न चुकाने पर इंटरेस्ट अगली ईएमआई में जुड़ने से भी कंपनी को राहत मिलेगी.

बजाज फाइनेंस के पास कस्टमर बेस मजबूत है. नेटवर्किंग मजबूत है. करेक्शन के बाद अब हॉयर वैल्युएशन की भी चिंता नहीं है. बजाज फाइनेंस का शेयर अपने 1 साल के हाई से करीब 55 फीसदी सस्ता हो चुका है. ब्रोकरेज हाउस एमके ग्लोबल ने शेयर के लिए 3570 रुपये का लक्ष्य रखा है. करंट प्राइस 2220 रुपये के लिहाज से इसमें 61 फीसदी रिटर्न मिल सगकता है.

HUL

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने हिंदुस्तान यूनीलिवर में करीब 11 फीसदी ग्रोथ की उम्मीद जताते हुए 2425 रुपसे के लक्ष्य के साथ निवेश की सलाह दी है. एचयूएल ने करीब 15 महीने पहले ऐलान किया था कि वह हॉर्लिक्स खरीदने वाली है. अब यह डील पूरी हो गई है. इसी के साथ एचयूएल ने हॉर्लिक्स की पैरेंट कंपनी गैलेक्सो स्मिथक्लाइन (GSK) कंज्यूमर हेल्थकेयर का विलय कर लिया है. एचयूएल ने GSK कंज्यूमर हेल्थकेयर को 32,000 करोड़ रुपए में खरीदा है. इस डील के साथ ही एचयूएल के पोर्टफोलियो में हॉर्लिक्स, बूस्ट और माल्टोवा जैसे ड्रिंक ब्रांड शामिल हो गए हैं. इससे कंपनी को मजबूती मिलेगी. एचयूएल का शेयर भी अपने 52 हफ्तों के हाई 2,324.45 से टूटकर 2179.25 रुपये पर ट्रेड कर रहा है.

(नोट: हमने यहां जानकारी ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर दी है. हम यहां निवेश की सलाह नहीं दे रहे हैं. शेयर बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 52 हफ्तों के हाई से 55% तक सस्ते हुए ये शेयर, अब 61% तक दिखा सकते हैं ग्रोथ; कोरोना संकट में भी एक्सपर्ट के बने पसंद

Go to Top