सर्वाधिक पढ़ी गईं

पूरे साल इन 4 मिडकैप पर रहेगी नजर, शेयर में ग्रोथ का आप भी उठा सकते हैं फायदा

Chose Best Midcap Stocks: पिछले 3 साल की बात करें तो सेंसेक्स और निफ्टी की तुलना में मिडकैप अंडरपरफॉर्मर रहा है.

March 1, 2020 9:21 AM
midcap stocks, best midcaps for investment, Mid Cap Stocks, top midcap idea, stock market, largecap, smallcap, top stocks idea, मिडकैप, स्मालकैप, सेंसेक्स, निफ्टीपिछले 3 साल की बात करें तो सेंसेक्स और निफ्टी की तुलना में मिडकैप अंडरपरफॉर्मर रहा है.

Chose Best Midcap Stocks: पिछले 3 साल की बात करें तो सेंसेक्स और निफ्टी की तुलना में मिडकैप अंडरपरफॉर्मर रहा है. इस दौरान सेंसेक्स और निफ्टी में जहां 33 फीसदी और 26 फीसदी रिटर्न मिला, बीएसई मिडकैप इंडेक्स का रिटर्न 7.5 फीसदी के आस पास ही रहा है. नवंबर 2019 के बाद जब शेयर बाजार में रिकॉर्ड तेजी आई, उस दौरान भी बाजार की तेजी कमें लॉर्जकैप का योगदान ज्यादा रहा है. पिछले पूरे साल मिडकैप और स्मालकैप में कमजोरी रही है. फिलहाल कोरोना वायरस के चलते ग्लोबल बाजारों में बिकवाली है, जिसका असर घरेलू बाजार पर भी है. लेकिन इस साल मिडकैप और स्मालकैप सेग्मेंट में अच्छे रिटर्न की उम्मीद है. अगर आप भी अपने निवेश पोर्टफोलियो को मजबूत करना चाहते हैं तो कुछ बेहतर मिडकैप को उसमें शामिल कर सकते हैं.

हॉकिंस कुकर्स (एचसीएल)

हॉकिंस कुकर्स में अगले 2 से 3 वित्त वर्ष बेहतर ग्रोथ की उम्मीद है. उम्मीद है कि हॉकिंस कुकर्स 13% सीएजीआर के साथ एक हेल्दी टॉपलाइन रिपोर्ट करेगा. वित्त वर्ष 2019-22 तक कंपनी का रेवेन्यू 954 करोड़ रुपए तक बढ़ने की उम्मीद है. यह ग्रोथ सरकारी पहल, नए प्रोडक्ट लॉन्च और व्यापक डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क के चलते संभव है. रॉ मटेरियल की कीमतों में गिरावट का भी फायदा कंपनी को होगा और वित्त वर्ष 2019-22 के दौरान मजबूत रेवेन्यू और आपरेटिंग मार्जिन में सुधार के चलते हॉकिंस कुकर्स का मुनाफा 100 करोड़ तक पहुंच सकता है. अगले कुछ महीनों में कंपनी का शेयर अव्छी ग्रोथ दिखा सकता है.

कजारिया सिरेमिक्स

वित्त वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही में कजारिया सिरेमिक्स की वॉल्यूम ग्रोथ कम हुई है जिसका कारण था बाजार की मंदी. इसका असर पूरे रियल एस्टेट सेक्टर पर देखा गया. फिर भी, प्रबंधन को उम्मीद है कि आगामी वित्त वर्ष में वॉल्यूम ऑफ-टेक में सुधार होगा. सरकार ने पिछले दिनों बाजार की मांग खासतौर से हाउसिंग सेक्टर को प्रोत्साहित करने के लिए कई उपाय किए हैं, जिसका फायदा होगा. सरकार ने आवास परियोजनाओं के लिए 25,000 करोड़ रुपये का निवेश सुनिश्चित किया है और लिक्विडिटी के मोर्चे पर सकारात्मक कदम उठाए हैं. लिहाजा, कजारिया सिरेमिक्स को वित्त वर्ष 2019-22 में बॉटमलाइन पर 16% सीएजीआर से ग्रोथ की उम्मीद है.

KEI इंडस्ट्रीज

केईआई इंडस्ट्रीज का प्रदर्शन बेहतर है और वित्त वर्ष 2019-22 के दौरान शुद्ध राजस्व में 17 फीसदी की सीएजीआर हासिल करने की उम्मीद है. इसकी ग्रोथ कई फैक्टर पर निर्भर होगी. मुख्य रूप से, ईपीसी सेग्मेंट में हायर-ऑर्डर बुक एग्जीक्यूशन. दूसरा, निर्यात. बॉटमलाइन में कंपनी 26 फीसदी के सीएजीआर का विस्तार कर सकती है और यह आंकड़ा वित्त वर्ष 2019-22 तक 363 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है.

सफारी इंडस्ट्रीज

सफारी इंडस्ट्रीज ने अपने थ्डस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क को मजबूत करते हुए अपने प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में विविधता लाकर सभी क्षेत्रों के ग्राहकों की जरूरतों को पूरा किया है. कंपनी को उम्मीद है कि 21 फीसदी सीएजीआर के साथ वित्तवर्ष 2019-22 में 1011 करोड़ रुपए का टॉपलाइन हासिल हो जाएगा. इसके साथ ही ऑपरेटिंग मार्जिन में सुधार के कारण इसकी बॉटमलाइन समान अवधि में 30 फीसदी तक बढ़ सकता है. निवेशक शेयर को पोर्टफोलियो में शामिल कर सकते हैं.

लेखक: अमरजीत मौर्य, एवीपी मिड-कैप्स, एंजिल ब्रोकिंग लिमिटेड

(नोट: हमने यहां एक्सपर्ट के हवाले से जानकारी दी है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस की ओर से निवेश की सलाह नहीं है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट की सलाह लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. पूरे साल इन 4 मिडकैप पर रहेगी नजर, शेयर में ग्रोथ का आप भी उठा सकते हैं फायदा

Go to Top