सर्वाधिक पढ़ी गईं

TCS Vs इंफोसिस: Q4 नतीजों के बाद किस शेयर में होगी कमाई, निवेश पर ब्रोकरेज की राय

आईटी सेक्टर की दिग्गज कंपनियों टाटा कंसलटेंसी (TCS) और इंफोसिस ने अपने मार्च तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं.

Updated: Apr 22, 2020 9:59 AM
tcs Vs infosys: where should you invest after FY20 Q4 financial result, TCS, Infosys, invest in TCS stock, Invest in Infosys stock, brokerage on TCS and Infosys, टीसीएस, इंफोसिसआईटी सेक्टर की दिग्गज कंपनियों टाटा कंसलटेंसी (TCS) और इंफोसिस ने अपने मार्च तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं.

TCS Vs इंफोसिस: आईटी सेक्टर की दिग्गज कंपनियों टाटा कंसलटेंसी (TCS) और इंफोसिस ने अपने मार्च तिमाही के नतीजे घोषित कर दिए हैं. मार्च तिमाही में लॉकडाउन के चलते दोनों कंपनियों के मुनाफे और इनकम पर असर देखा गया है. वहीं दोनों ही कंपनियों ने आगे के लिए रेवेन्यू गाइडेंस नहीं दिया है. दोनों ही कंपनियों के मैनेजमेंट ने माना है कि कोरोना संकट ने मार्च तिमाही के आधे दिनों में माहौल को अचानक से बदल दिया और इसका निगेटिव असर पड़ा है. वहीं मैनेजमेंट का कहना है कि कंपनी इच चुनौती से भी पार पाने में सफल रहेगी. नीतजों के बाद एक्सपर्ट और ब्रोकरेज भी अपनी राय बना रहे हैं.

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक कोविड 19 की चुनौती के बाद भी इंफोसिस ग्रॉस मार्जिन को डिफेंड करने में सफल रहरा है. यह तिमाही आधार पर 33.4 फीसदी बढ़ा है. व​हीं कंपनी को मार्च तिमाही में कंपनी को 170 करोड़ डॉलर के नए आॅर्डर मिले जो दिसंबर तिमाही के लगभग बराबर है. वहीं जब वर्क फ्रॉम होम खम होने के बाद सप्लाई साइड में भी पहले से आसानी होगी. नियर टर्म में चुनौती जरूर है लेकिन डिजिटल आईटी स्पेंडिंग के चलते इंफोसिस आईटी सेक्टर में बड़ा विनर बन सकता है.

वहीं टीसीएस पर ब्रोकरेज का कहना है कि कोविड 19 का कितना असर कंपनी के प्रदर्शन पर पड़ रहा है, अभी नहीं कहा जा सकता है. लेकिन कंपनी इसे बेहतर तरीके से मैनेज कर रही है. आपरेशन के फ्रंट पर सब कुछ नॉर्मल दिख रहा है. वर्क फ्रॉम होम के बेहतर मैनेजमेंट से आपरेशन के फ्रंट पर दिक्कत नहीं है. यूएस में कंपनी के काम पर असर हुआ है, लेकिन इटली जैसे देशों में लिमिटेड प्रेजेंस से ज्यादा दिक्कत नहीं है. वहीं कंपनी हर तरह से इस पोजिशन पर है कि वह नियर टर्म में आने वाली चुनौतियों को अच्छे तरीके से मैनेज कर सकती है.

नतीजे एक नजर में

इंफोसिस: कंपनी को मार्च तिमाही में 4,321 करोड का मुनाफा हुआ है. यह तिमाही आधार पर 1.4 फीसदी कम है, जबकि सालाना आधार पर 4.5 फीसदी ज्यादा है. कंपनी का अदर इनकम 25.8 फीसदी कम हुआ है. आपरेटिंग प्रॉफिट 67.4 करोड़ डॉलर रहा है जो तिमाही आधार पर 5.2 फीसदी कम है, जबकि सालाना आधार पर 2.6 फीसदी ज्यादा है. कंपनी ने 9.5 रुपये का डिविडेंड दिया है.

टीसीएस: कंपनी का कंसो मुनाफा मार्च तिमाही में मामूली रूप से घटकर 8,049 करोड़ रुपये रहा. एक साल पहले की समान अवधि में कंपनी को 8,126 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था. कंपनी की आय मार्च तिमाही में 5.1 फीसदी बढ़कर 39,946 करोड़ रुपये रही, जो एक साल पहले 2018-19 की इसी तिमाही में 38,010 करोड़ रुपये थी. पूरे वित्त वर्ष 2019-20 में कंपनी का शुद्ध लाभ 2.7 फीसदी बढ़कर 32,340 करोड़ रुपये रहा, जबकि आय 7.1 फीसदी बढ़कर 1,56,949 करोड़ रुपये रही. कंपनी ने 6 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड देने का एलान किया है.

किन शेयरों पर क्या है ब्रोकरेज की राय

इंफोसिस

जेफरीज
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 705 रुपय
पहले का लक्ष्य: 680 रुपये

CLSA
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 800 रुपये
पहले का लक्ष्य: 970 रुपये

इडेलवाइस
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 758 रुपये

मोतीलाल ओसवाल
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 775 रुपये

TCS

जेफरीज
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 1900 रुपये
पहले का लक्ष्य: 970 रुपये

CLSA
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 2115 रुपये
पहले का लक्ष्य: 2550 रुपये

मोतीलाल ओसवाल
रेटिंग: बॉय
लक्ष्य: 2000 रुपये

(नोट: हमने यहां कंपनियों की चौथी तिमाही के नतीजों और ब्रोकरेज की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है. शेयर बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले सलाह लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. TCS Vs इंफोसिस: Q4 नतीजों के बाद किस शेयर में होगी कमाई, निवेश पर ब्रोकरेज की राय

Go to Top