सर्वाधिक पढ़ी गईं

TCS करेगी शेयर बायबैक, बोर्ड बैठक में  अंतरिम लाभांश पर भी फैसला

कंपनी ने यह जानकारी रविवार रात शेयर बाजारों को भेजी गई रेगुलेटरी फाइलिंग में दी है.

Updated: Oct 05, 2020 1:45 PM
TCS, EPIC, EPIC SYSTEMS CORPORATION, SHARE BUYBACK, TCS SHARE BUYBACK, TCS DIVIDNED, TCS BOARD, DIVIDEND, TCS COURT CASE, TCS ILLEGAL,Tier-1Information technology players are expected to post strong quarterly results nudged by deal wins, easing of supply side troubles and rapid digitization across the globe.

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र में देश की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) के बोर्ड की इस हफ्ते 7 अक्टूबर को बैठक होने वाली है. इस बैठक में टीसीएस का निदेशक मंडल कंपनी बाजार में मौजूद शेयरों को वापस खरीदने (शेयर बायबैक) प्रस्ताव पर विचार करेगी. टीसीएस ने यह जानकारी रविवार रात शेयर बाजारों को भेजी गई रेगुलेटरी फाइलिंग में दी है. हालांकि रेगुलेटरी फाइलिंग में शेयरों को बायबैक के बारे में और अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है.

बायबैक प्लान के अतिरिक्त कंपनी ने रेगुलेटरी फाइलिंग में लाभांश को लेकर भी जानकारी दी है. इसके मुताबिक कंपनी बोर्ड सितंबर तिमाही के वित्तीय परिणाम और दूसरा अंतरिम लाभांश घोषित करने की भी योजना पर विचार रही है.

TCS पहले भी कर चुकी है बायबैक

इससे पहले 2018 में टीसीएस ने शेयर बायबैक किया था। उस समय कंपनी ने 16 हजार करोड़ रुपये मूल्य का शेयर बायबैक किया था. इस योजना के मुताबिक कंपनी ने 7.61 करोड़ शेयरों को 2100 रुपये के भाव से इसे बायबैक किया था. इससे पहले 2017 में भी टीसीएस ने शेयर बायबैक किया था. शेयर बायबैक की योजना टीसीएस की दीर्घकालिक पूंजी आवंटन नीति का हिस्सा है. इसके जरिए कंपनी अपनी अतिरिक्त नकदी शेयरधारकों को वापस लौटाती है.

एक और रेगुलेटरी फाइलिंग में टीसीएस ने EPIC Systems Corporation मामंले पर भी जानकारी दी है. कंपनी ने कहा है कि इसके लिए 30 सितंबर को खत्म हो रही तिमाही और छमाही के लिए वित्तीय परिणांमों में वह 1218 करोड़ रुपये को एक्सेप्शनल आइटम के रूप में रखेगी.

टीसीएस पर 3100 करोड़ का जुर्माना

अक्टूबर 2014 में ईपीआईसी ने टीसीएस के खिलाफ विस्कोंसिन के वेस्टर्न डिस्ट्रिक्ट मेडिसन कोर्ट में मामला दर्ज कराया था. इसमें टीसीएस पर ट्रेडमार्क सूचना के उल्लंघन का आरोप लगाया था. इस मामले में टीसीएस ने 1 अक्टूबर 2017 को बताया कि उस पर 42 करोड़ डॉलर (3100 करोड़ रुपये) का जुर्माना लगाया गया है.

इस वर्ष मई में भारतीय प्रतिभूति एवं नियामक मंडल (सेबी) ने टीसीएस को निवेशकों को जानकारी देने के मामले में सावधान रहने की चेतावनी दी थी. सेबी ने कहा है कि कंपनी यह सुनिश्चित कि वह निवेशकों को उचित और सही जानकारी समय पर उपलब्ध कराए.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. TCS करेगी शेयर बायबैक, बोर्ड बैठक में  अंतरिम लाभांश पर भी फैसला
Tags:TCS

Go to Top