र साल किसी एसेसमेंट इयर का इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की ड्यू डेट 31 जुलाई तक रहती है. आमतौर पर इस ड्यू डेट को एसेसमेंट में कोई समस्या आने के कारण एक महीने बढ़ाया जाता रहा है. इस बार कोरोना महामारी व नेशनल लॉकडाउन के कारण परिस्थितियां पूरी तरह बदली हुई हैं. वित्तीय वर्ष 2019-20 नेशनल लॉकडाउन के बीच 31 मार्च को खत्म हुआ. इसकी वजह से एसेसमेंट इयर 2020-21 के लिए आईटीआर फाइल करने की ड्यू डेट समेत अन्य कंप्लॉयंस डेट बढ़ा दी गई. ITR Filing: आईटीआर फाइल करने का अंतिम मौका, जानिए क्यों बढ़ी इस बार ड्यू डेट - The Financial Express
सर्वाधिक पढ़ी गईं

ITR Filing: आईटीआर फाइल करने का अंतिम मौका, जानिए क्यों बढ़ी इस बार ड्यू डेट

ITR Filing: वित्तीय वर्ष 2019-20 नेशनल लॉकडाउन के बीच 31 मार्च को खत्म हुआ.

Updated: Dec 02, 2020 8:03 AM
TAXPAYERS HAVE ONE MORE MONTH TO FILE ITR DUE DATE IS TILL THIS YEAR END 31ST DECEMBERहर साल किसी एसेसमेंट इयर का आईटीआर फाइल करने की ड्यू डेट 31 जुलाई तक रहती है.

ITR Filing: हर साल किसी एसेसमेंट इयर का इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल करने की ड्यू डेट 31 जुलाई तक रहती है. आमतौर पर इस ड्यू डेट को एसेसमेंट में कोई समस्या आने के कारण एक महीने बढ़ाया जाता रहा है. इस बार कोरोना महामारी व नेशनल लॉकडाउन के कारण परिस्थितियां पूरी तरह बदली हुई हैं. वित्तीय वर्ष 2019-20 नेशनल लॉकडाउन के बीच 31 मार्च को खत्म हुआ. इसकी वजह से एसेसमेंट इयर 2020-21 के लिए आईटीआर फाइल करने की ड्यू डेट समेत अन्य कंप्लॉयंस डेट बढ़ा दी गई.

यह भी पढ़ें- आयकर रिटर्न फाइल करते समय इन गलतियों से बचें, नहीं तो हो जाएगी मुश्किल

कई कंप्लॉयंस डेट बढ़ी आगे

इस साल कई ऐसे कंप्लॉयंस डेट थे जिसे बढ़ा दिया गया था, इस वजह से 31 जुलाई 2020 तक आईटीआर फाइल करना संभव ही नहीं था. इस साल वित्तीय वर्ष 2019-20 के लिए टैक्स डिडक्टेड ऐट सोर्स (TDS) और टैक्स कलेक्टेड ऐट सोर्स (TCS) के स्टेमेंट्स और सर्टिफिकेट इशू होने की तारीख बढ़ा दी गई थी. स्टेटमेंट्स के लिए यह डेट 31 जुलाई थी और सर्टिफिकेट इशू होने के लिए यह 15 अगस्त थी. ऐसे में 31 जुलाई 2020 तक किसी भी परिस्थिति में फॉर्म 26एएस को अपडेट करना संभव नहीं था.

फॉर्म 26एएस में टीडीएस, टीसीएस, एडवांस टैक्स, सेल्फ एसेसमेंट टैक्स जैसी टैक्स डिपॉजिट्स की कई जानकारी मौजूद रहती हैं. इससे टैक्सपेयर्स को अपनी आय का रिटर्न फाइल करने में बहुत मदद मिलती है. इस वजह से 26एएस फॉर्म नहीं उपलब्ध होने के चलते आईटीआर फाइलिंग 31 जुलाई 2020 तक करना संभव नहीं था.

टैक्स सेविंग इंवेस्टमेंट्स की डेट भी खिसकी

कई टैक्सपेयर्स लॉकडाउन के चलते टैक्स सेविंग इंवेस्टमेंट्स नहीं कर पाए थे. इसे लेकर वित्त वर्ष 2019-20 के लिए कर बचत योजनाओं की डेडलाइन पहले बढ़ाकर 30 जून 2020 की गई और उसके बाद इसे बढ़ाकर 31 जुलाई 2020 कर दी गई. जो टैक्सपेयर्स इस साल 31 जुलाई तक टैक्स सेविंग इंवेस्टमेंट्स कर रहे थे, वे किसी भी परिस्थिति में 31 जुलाई 2020 तक आईटीआर न फाइल कर पाते. ऐसे में आईटीआर फाइल करने की ड्यू डेट पहले 30 नवंबर 2020 की गई और उसके बाद इसे बढ़ाकर 31 दिसंबर 2021 कर दी गई.

31 दिसंबर तक ITR करें फाइल

अगर आपने अभी तक अपनी आय का रिटर्न फाइल नहीं किया है तो चिंता की बात नहीं है. अभी भी आपके पास समय है. हालांकि अब आपके पास महज 1 महीने का समय है. इसलिए 31 दिसंबर से पहले ही अपनी आय का रिटर्न जरूर फाइल कर लें.
(ऑर्टिकल- अमिताव चक्रवर्ती)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. ITR Filing: आईटीआर फाइल करने का अंतिम मौका, जानिए क्यों बढ़ी इस बार ड्यू डेट

Go to Top