मुख्य समाचार:

IT डिपार्टमेंट ने सचिन और बिन्नी बंसल को भेजा नोटिस, Walmart-Flipkart डील से हुई आय का मांगा ब्यौरा

साथ ही यह भी जवाब मांगा गया है कि वे दोनों एडवांस टैक्स कब भरेंगे.

November 22, 2018 4:40 PM

Tax dept seeks details of income earned by Sachin, Binny Bansal from Walmart deal

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart के फाउंडर्स सचिन और बिन्नी बंसल को नोटिस जारी किया है. नोटिस में दोनों से ​फ्लिपकार्ट में अपने हिस्से के शेयर्स को Walmart इंटरनैशनल को बेचने से हुई कुल आय और कैपिटल गेन का खुलासा करने को कहा गया है. साथ ही यह भी जवाब मांगा गया है कि वे दोनों एडवांस टैक्स कब भरेंगे.

इनकम टैक्स कानूनों के मुताबिक, ​चूंकि सचिन और बिन्नी बंसल भारतीय नागरिक हैं इसलिए उन पर Flipkart शेयर्स Walmart को बेचने से हुए कैपिटल गेन पर 20 फीसदी टैक्स देनदारी बनती है. दोनों को इस बिक्री से हुई आय पर एडवांस टैक्स का 75 फीसदी हिस्सा 15 दिसंबर 2018 तक सरकार को देना होगा. बाकी का टैक्स 15 मार्च 2019 तक भरना होगा.

इंटरनेशनल टैक्सेशन डिवीजन ने पूछा- कहां देंगे टैक्स

एक अधिकारी के मुताबिक, Walmat-Flipkart डील की स्टडी करते हुए इंटरनेशनल टैक्सेशन डिवीजन ने सचिन और बिन्नी बंसल से सवाल किया है कि उनका असेसमेंट कहां हो रहा है और वे अपने टैक्स कहां देंगे. चूंकि दोनों अपने इनकम टैक्स रिटर्न बेंगलुरु में फाइल करते हैं, इसलिए वहां का असेसिंग आॅफिसर उनके संपर्क में रहेगा.

अगस्त में हुआ था सौदा

इस साल अगस्त में Walmart ने 1600 करोड़ डॉलर में फ्लिपकार्ट में 77 फीसदी हिस्सेदारी खरीद ली थी. इसके तहत Flipkart के 44 शेयरहोल्डर्स ने हिस्सेदारी बेची थी. इनमें सॉफ्टबैंक, नैसपर्स, एक्सेल पार्टनर्स और ईबे जैसी प्रमुख कंपनियां भी शामिल हैं.

वॉलमार्ट दे चुकी है 7,439 करोड़ रुपये का टैक्स

Walmart, Flipkart में हिस्सेदारी खरीद पर 7,439 करोड़ रुपये का टैक्स भर चुकी है. सौदे के तहत ​सचिन बंसल उसी दौरान अपनी पूरी 5-6 फीसदी हिस्सेदारी बेच चुके थे, वहीं बिन्नी बंसल ने अपने कुछ ही हिस्सेदारी बेची थी लेकिन वह Flipkart में ग्रुप CEO के तौर पर बने हुए थे. लेकिन अभी हाल ही में उन्होंने इस्तीफा दिया है, हालांकि वह बोर्ड मेंबर में अभी भी शामिल हैं.

नहीं भरा एडवांस टैक्स तो कार्रवाई

नांगिया एडवायजर्स LLP के मैनेजिंग पार्टनर राकेश नांगिया के मुताबिक, अगर सचिन और बिन्नी बंसल एडवांस टैक्स नहीं भरते हैं तो उन पर इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 234बी (जानबूझकर एडवांस टैक्स न भरना) और 234C (शॉर्ट पेमेंट आॅफ एडवांस टैक्स) के तहत कार्रवाई होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. IT डिपार्टमेंट ने सचिन और बिन्नी बंसल को भेजा नोटिस, Walmart-Flipkart डील से हुई आय का मांगा ब्यौरा

Go to Top