scorecardresearch

Tata Steel पर ब्रोकरेज घटा रहे हैं टारगेट प्राइस, रिकॉर्ड हाई से 44% डिस्काउंट पर आया यह मेटल शेयर

चीन में मंदी से भी स्टील की कीमतों को सपोर्ट नहीं मिल रहा है. स्टील की घरेलू डिमांड भी कमजोर है. इसका असर Tata Steel के शेयर पर दिख सकता है.

स्टील कंपनी Tata Steel के शेयरों में आज तेजी देखने को मिल रही है. (File)

Tata Steel Stock Price: दिग्गज स्टील कंपनी Tata Steel के शेयरों में आज तेजी देखने को मिल रही है और सेंसेक्स 30 के टॉप गेनर्स में शामिल है. हालांकि पिछलु कुछ महीनों से शेयर पर दबाव बना हुआ है. 16 अगस्त को 1535 का 1 साल का हाई बनाने के बाद इसमें 44 फीसदी गिरावट आ चुकी है. वहीं इस साल शेयर 24 फीसदी से ज्यादा कमजोर हुआ है. स्टील को लेकर आउटलुक भी कमजोर नजर आ रहे हैं. ऐसे में दिग्गज ब्रोकरेज हाउस ने शेयर को लेकर टारगेट प्राइस घटा दिए हैं. उनका कहना है कि कंपनी की बैलेंसशीट मजबूत है, लेकिन स्टील प्राइस में करेक्शन से नियर टर्म में इस पर दबाव रहेगा. हाल फिलहाल में कीमतों को सपोर्ट मिलने की उम्मीद भी कम है.

स्टील की कीमतों को सपोर्ट नहीं

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल ने Tata Steel पर न्यूट्रल रेटिंग दी है और टारगेट 965 रुपये का रखा है. पहले ब्रोकरेज ने शेयर के लिए 1410 रुपये का टारगेट दिया था. ब्रोकरेज का कहना है कि कुकिंग कोल की कीमतों में करेक्शन का अनुमान (भारत में स्टील की कीमतों में कमी के अनुरूप) था, लेकिन यह स्टेबल रही हैं. चीन में मंदी से भी स्टील की कीमतों को सपोर्ट नहीं मिल रहा है. जब तक चीन की सरकार अर्थव्यवस्था को रिवाइव करने के लिए बड़े पैमाने पर प्रोत्साहन की घोषणा नहीं करती, तब तक आर्थिक गतिविधियों पर अंकुश लगने की संभावना बनी रहेगी.

Stock in News: Adani Power, Ashok Leyland, ONGC समेत एक्शन में रहेंगे ये शेयर, इंट्राडे के लिए रखें नजर

घरेलू डिमांड कमजोर

ब्रोकरेज का कहना है कि Tata Steel के पास सामान्य से अधिक इन्वेंट्री होगी क्योंकि स्टील पर 15 फीसदी निर्यात शुल्क लगाए जाने के बाद व्यापार गतिविधियां लगभग रुक गई थीं. अनुमान है कि अधिकांश स्टील मिल (टाटा स्टील सहित) अपने मॉनसून शटडाउन शिड्यूल को पहले से तैयार कर लेंगी. इसके पीछे वजह है कि घरेलू डिमांड कमजोर होना, एक्सपोर्ट पर EBITDA मार्जिनल से निगेटिव और हाई इन्वेस्ट्री पाइलअप. फिलहाल 2QFY23 के मिड तक स्थिति सामान्य हो जाने की उम्मीद है. ब्रोकरेज का कहना है कि FY23 तक Tata Steel का RoE 15 फीसदी रहने का अनुमान है. यह FY22 में 45 फीसदी था.

बैलेंसशीट मजबूत

ब्रोकरेज हाउस CITI ने Tata Steel के शेयर में निवेश की सलाह दी है, हालांकि टारगेट प्राइस 1800 रुपये से घटाकर 1085 रुपये कर दिया है. ब्रोकरेज का कहना है कि Tata Steel की बैलेंस शीट पिछले 15 साल में सबसे मजबूत दिख रही है. ब्रोकरेज हाउस ने कंपनी के EBITDA का अनुमान लोअर रीयलाइजेशन पर 32 फीसदी/34 फीसदी घटाया है.

क्या है लेटेस्ट ट्रिगर

ऐसी खबरें आ रही हैं कि Tata Steel ने मई महीने में रूस से लगभग 75,000 टन कोयले का आयात किया है. रूस के साथ बिजनसे बंद करने की बात कहने के बाद भी कंपनी ने ऐसा किया है. कंपनी ने रूस के वैनिनो बंदरगाह से स्टील बनाने में इस्तेमाल होने वाले लगभग 75,000 टन पीसीआई कोयले का आयात किया. जिसमें से 42,000 टन 18 मई को पारादीप में एक बंदरगाह में और हल्दिया में 32,500 टन उतारे गए. ऐसी भी खबर है कि कंपनी ने कहा है कि रूस से कोयला आयात करने की डील पहले की थी.

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Business News

TRENDING NOW

Business News