सर्वाधिक पढ़ी गईं

Air India Divestment : टाटा संस एयर इंडिया के कर्मचारियों को एक साल तक नहीं निकालेगी, जानें आगे क्या होगा?

केंद्र सरकार ने साफ किया है कि एयर इंडिया के लिए सफल बोली लगाने वाली टाटा संस को एयरलाइन के सभी कर्मचारियों को एक साल तक बनाए रखना होगा.

October 8, 2021 9:26 PM
एयर इंडिया के कर्मचारियों को एक साल के बाद निकाला तो वीआरएस की पेशकश करनी होगी.

टाटा ग्रुप ने एयर इंडिया को खरीदने के लिए 18 हजार करोड़ रुपये की पेशकश की है. सरकार ने 12,906 करोड़ रुपये की प्राइस रखी थी. एयर इंडिया में फिलहाल 12,085 कर्मचारी हैं. इनमें से 8,084 स्थायी कर्मचारी हैं और 4,001 कर्मचारी कॉन्ट्रैक्ट पर काम कर रहे हैं. इसके अलावा एयर इंडिया एक्सप्रेस में 1434 कर्मचारी हैं.सवाल है कि टाटा ग्रुप की ओर से एयरलाइंस के अधिग्रहण के बाद कर्मचारियों का क्या होगा?

एक साल के बाद कर्मचारियों को निकाला तो वीआरएस देना होगा

केंद्र सरकार ने साफ किया है कि एयर इंडिया के लिए सफल बोली लगाने वाली टाटा संस (Tata Sons) को एयरलाइन के सभी कर्मचारियों को एक साल तक बनाए रखना होगा. इस अवधि के बाद अगर वह कर्मचारियों को हटाना चाहती है तो उन्हें VRS (Voluntary Retirement Scheme) की पेशकश करनी होगी. नागरिक उड्डयन सचिव राजीव बंसल (Rajeev Bansal) ने शुक्रवार को कहा कि एयरलाइंस के लिए बीड की विजेता टाटा संस एयर इंडिया के सभी कर्मचारियों को बनाए रखेगा, जिसका अर्थ है कि कंपनी एक साल तक किसी भी कर्मचारी की छंटनी नहीं करेगी. इसके बाद, दूसरे साल के दौरान कंपनी अगर किसी कर्मचारी को हटाना चाहती है तो उसे वीआरएस की पेशकश की जाएगी.

Air India की हुई घर वापसी, 18 हजार करोड़ में Tata Sons की हुई एयर इंडिया, रतन टाटा ने किया ‘वेलकम बैक’ ट्वीट

एयर इंडिया में सरकार ने अपनी पूरी हिस्सेदारी बेची

सरकार ने एयर इंडिया और एयर इंडिया एक्सप्रेस में अपनी 100 फीसदी हिस्सेदारी बेच दी है. इससे पहले सरकार ने 2018 में भी इसे बेचने की असफल कोशिश की थी. सरकार तब पूरी हिस्सेदारी की बिक्री नहीं कर रही थी और अपने पास 24 फीसदी हिस्सेदारी रखना चाहती थी. सरकार को एयर इंडिया की बिक्री से 2700 करोड़ रुपये का कैश हासिल होगा. यह सौदा इस दिसंबर 2021 तक पूरा हो जाएगा.

टाटा संस को चुकाना है इतना कर्ज

दीपम सचिव तुहिन कांत के मुताबिक अगस्त 2021 के अंत तक एयर इंडिया का कर्ज 61562 करोड़ रुपये का था. इसमें से 46262 करोड़ रुपये का कर्ज स्पेशल पर्पज वेहिकल एयर इंडिया एसेट्स होल्डिंग को सौंप दिया जाएगा यानी टाटा संस को 15300 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाना है. एयर इंडिया के नए मालिक को देश में 4400 घरेलू व 1800 अंतरराष्ट्रीय लैंडिंग व पार्किंग स्लॉट्स मिले हैं और विदेशों में 900 स्लॉट्स मिले हैं.

 

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Air India Divestment : टाटा संस एयर इंडिया के कर्मचारियों को एक साल तक नहीं निकालेगी, जानें आगे क्या होगा?

Go to Top