scorecardresearch

Tata Motors Q1 Results: टाटा मोटर्स का घाटा बढ़कर 4951 करोड़ हुआ, लेकिन कॉमर्शियल और पैसेंजर वेहिकल्स सेगमेंट का अच्छा प्रदर्शन

Tata Motors Q1 Results: टाटा मोटर्स का स्टैंडअलोन नेट लॉस 181 करोड़ रुपये रहा, पिछले साल की समान अवधि में यह आंकड़ा 1,321 करोड़ रुपये रहा था.

Tata Motors Q1 Results: टाटा मोटर्स का घाटा बढ़कर 4951 करोड़ हुआ, लेकिन कॉमर्शियल और पैसेंजर वेहिकल्स सेगमेंट का अच्छा प्रदर्शन
जून 2022 में खत्म तिमाही में टाटा मोटर्स का कंसॉलिडेटेड घाटा 4951 करोड़ रुपये रहा, जो अप्रैल-जून 2021 में 4,450 करोड़ रुपये था.

Tata Motors Q1F23 Results: देश की बड़ी ऑटो कंपनी टाटा मोटर्स के तिमाही नतीजे मिलेजुले रहे हैं. हालांकि कंपनी का कंसॉलिडेटेड नेट लॉस उम्मीद से खराब रहा, लेकिन कॉमर्शियल और पैसेंजर वेहिकल सेगमेंट ने अच्छा प्रदर्शन किया है. बुधवार को घोषित नतीजों के मुताबिक जून 2022 में खत्म तिमाही के दौरान कंपनी का कंसॉलिडेटेड घाटा बढ़कर 4,951 करोड़ रुपये हो गया. इसके मुकाबले अप्रैल से जून 2021 के दौरान कंपनी का कंसोलिडेटेड नेट लॉस 4,450 करोड़ रुपये रहा था. नतीजों के पहले एक्सपर्ट्स ने टाटा मोटर्स का घाटा 1200 करोड़ रुपये के आसपास रहने का अनुमान जाहिर किया था. लेकिन घोषित नतीजे उसके मुकाबले काफी कमजोर रहे हैं.

स्टैंडअलोन नेट लॉस 181 करोड़ रुपये

हालांकि स्टैंडअलोन आधार पर टाटा मोटर्स का नेट लॉस इस बार महज 181 करोड़ रुपये रहा, जो पिछले साल की समान अवधि के दौरान 1,321 करोड़ रुपये रहा था. टाटा मोटर्स की तरफ से रेगुलटरी फाइलिंग में दी गई जानकारी के मुताबिक जून में खत्म तिमाही के दौरान कंपनी की कंसॉलिडेटेड ऑपरेशनल रेवेन्यू 71,935 करोड़ रुपये रही. जबकि अप्रैल-जून 2021 के दौरान यह आंकड़ा 66,406 करोड़ रुपये का रहा. इस हिसाब से कंपनी के कंसॉलिडेटेड ऑपरेशनल रेवेन्यू में 8 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. इसी तरह जून 2022 में खत्म तिमाही के दौरान टाटा मोटर्स की स्टैंडअलोन ऑपरेशनल रेवन्यू 14,874 करोड़ रुपये रही, जबकि पिछले साल की इसी अवधि में यह रकम 6,577 करोड़ रुपये रही थी. तिमाही नतीजों के सामने आने से पहले बुधवार को भारतीय शेयर बाजार में टाटा मोटर्स के शेयर लगभग आधा फीसदी की मामूली बढ़त के साथ 443.75 रुपये पर बंद हुए.

कॉमर्शियल और पैसेंजर वेहिकल्स सेगमेंट का बढ़िया प्रदर्शन

जून तिमाही में टाटा मोटर्स के पैसेंजर वेहिकल सेगमेंट की रेवेन्यू 122.5 फीसदी की शानदार तेजी के साथ 11,556 करोड़ पर पहुंच गई. इस सेगमेंट का एबिटा (Ebitda) 6.1 फीसदी रहा है. टाटा के कमर्शियल वेहिकल्स की रेवेन्यू में भी सालाना आधार पर 107.20 फीसदी की शानदार उछाल देखने को मिली है, जबकि इस सेगमेंट का एबिटा (Ebitda) भी 430 बेसिस प्वाइंट बढ़कर 5.5 फीसदी हो गया.

JLR की बिक्री 11.3% घटी

टाटा मोटर्स की ब्रिटिश सब्सिडियरी जेएलआर (JLR) की बिक्री में साल-दर-साल (YoY) आधार पर 11.3 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. जून तिमाही में कंपनी की बिक्री गिरकर 4406 मिलियन पाउंड रह गई. इस दौरान JLR ने 78,825 वेहिकल्स की बिक्री की, जो पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 37 फीसदी कम और मार्च तिमाही के आंकड़े के लगभग बराबर है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News