ऑयल एंड गैस सेक्‍टर: RIL, IOC, ONGC, GAIL के शेयरों में कितना है दम? कहां निवेश बनेगा मुनाफा, कहां होगा नुकसान

रिटेल फ्यूल बिक्री में लगातार नुकसान के चलते ओवरआल Oil & Gas सेक्‍टर की अर्निंग पर असर हुआ है. जिसके चलते RIL जैसी कंपनी का मजबूत प्रदर्शन भी आफसेट हो गया है.

ऑयल एंड गैस सेक्‍टर: RIL, IOC, ONGC, GAIL के शेयरों में कितना है दम? कहां निवेश बनेगा मुनाफा, कहां होगा नुकसान
ऑयल एंड गैस सेक्‍टर की बात करें तो रिटेल फ्यूल बिक्री में लगातार नुकसान के चलते ओवरआल सेक्‍टर की अर्निंग पर असर हुआ है. (File)

Oil & Gas Stocks: ऑयल एंड गैस सेक्‍टर की बात करें तो रिटेल फ्यूल बिक्री में लगातार नुकसान के चलते ओवरआल सेक्‍टर की अर्निंग पर असर हुआ है. जिसके चलते RIL जैसी कंपनी का मजबूत प्रदर्शन भी आफसेट हो गया है. ओवरआल कंपनियों के EBITDA और PAT में गिरावट आई है. खासतौर से OMCs को रिटेल सेल्‍स में भारी नुकसान हुआ है. फिलहाल तिमाही नतीजों के बाद ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज ने ऑयल एंड गैस सेक्‍टर के शेयरों पर एक रिपोर्ट दी है. कुछ में खरीदारी तो कुछ में और शेयर ऐड करने तो कुछ में शेश घटाने की सलाह दी है.

सेक्‍टर की अर्निंग पर असर

ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई सिक्‍योरिटीज की रिपोर्ट के अनुसार ऑयल एंड गैस कवरेज यूनिवर्स की बात करें तो OMCs द्वारा फ्यूल रिटेल सेल्‍स में लगातार नुकसान के चलते अर्निंग पर असर हुआ है. यह RIL, अपस्ट्रीम कंपनियों और CGD द्वारा मजबूत प्रदर्शन को ऑफसेट करती है. कुल मिलाकर, कवर की गई कंपनियों के लिए ऑपरेशनल इनकम में सालाना आधार पर 5 फीसदी गिरावट रही है. जून तिमाही के लिए नेट प्रॉफिट में सालाना आधार पर 28 फीसदी गिरावट आई है. तिमाही आधार पर EBITDA में 26 फीसदी की गिरावट और PAT में 48 फीसदी की गिरावट आई है. OMCs को EBITDA में 17000 करोड़ का भारी नुकसान और 18480 करोड़ का शुद्ध घाटा हुआ.

UTI AMC में टाटा ग्रुप की राइवल कंपनी खरीदेगी हिस्सेदारी ! 1000 रु तक जा सकता है शेयर

RIL में मजबूत ग्रोथ कायम

RIL की बात करें तो EBITDA में सालाना आधार पर 63 फीसदी ग्रोथ रही, जबकि PAT में 41 फीसदी ग्रोथ देखने को मिली. जबकि ONGC + OIL ने भी जून तिमाही में मजबूत प्रदर्शन किया. उनके EBITDA में 2.1 गुना और PAT में 3.5 गुना ग्रोथ रही.

CGD के लिए यह एक स्‍टेबल तिमाही

CGD के लिए यह एक स्‍टेबल तिमाही रही है. CGD के EBITDA/PAT में मिड सिंगल डिजिट की ग्रोथ रही. ब्रोकरेज हाउस ने डाउनस्ट्रीम और फ्यूल रिटेल मार्जिन एसंम्‍पशन को Q1 के बाद मॉडरेट किया है. RIL और OMCs के FY23E EPS में 8-70 फीसदी की कटौती की है. गैस यूटिलिटीज और CGDs के लिए भी वॉल्‍यूम एसंम्‍पशन को कुछ डाउनग्रेड किए हैं. पहली तिमाही में शानदार वॉल्यूम ग्रोथ और लचीले मार्जिन के बाद MGL एकमात्र ऐसी कंपनी है जिसकी रेटिंग में बदलाव हुआ है, उसे BUY में अपग्रेड किया गया है.

शेयर, रेटिंग, टारगेट प्राइस(Rs)

RIL, ADD, 2710

IOCL, Buy, 95

BPCL, ADD, 358

HPCL, Reduce, 220

ONGC, Buy, 185

OIL, BUY, 328

GAIL, BUY, 225

PLNG, Reduce, 192

GSPL, Buy, 340

IGL, Buy, 540

GGL, Buy, 540

MGL, Buy, 980

(Disclaimer: स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है. यह फाइनेंशियल एक्सप्रेस के निजी विचार नहीं हैं. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)  

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

TRENDING NOW

Business News