सर्वाधिक पढ़ी गईं

बाजार को मजबूत सेंटीमेंट की तलाश, US प्रेसिडेंट इलेक्शन तक रहेगा उतार-चढ़ाव; क्वालिटी शेयरों पर ही रखें नजर

Stock Market: बाजार पर अभी ग्लोबल फैक्टर हावी हैं. यूएस में प्रेसिडेंट इलेक्शन तक बाजार में इस तरह का दबाव देखने को मिलेगा.

October 27, 2020 8:03 AM
sensex, niftySBI was the worst performed, down 4.88% followed by Axis Bank and ICICI Bank. Broader markets again outperformed benchmarks on Thursday.

Stock Market Outlook: हफ्ते के पहले कारोबारी दिन सोमवार को शेयर बाजार में भारी गिररावट रही और सेंसेक्स 540 अंक टूटकर बंद हुआ. निफ्टी भी 11750 के करीब आ गया. हालांकि इस गिरावट के पीछे मोटे तौर पर कोई घरेलू सेंटीमेंट नहीं दिखा. एक्सपर्ट का कहना है कि बाजार पर अभी ग्लोबल फैक्टर हावी हैं. यूएस में प्रेसिडेंट इलेक्शन तक बाजार में इस तरह का दबाव देखने को मिलेगा. वैश्विक स्तर पर अमरिका में चुनाव, राहत पैकेज पर फैसला, यूरोप के कई देशों में कोरोना के फिर से बढ़ते मामले बाजार को प्रभावित कर सकते हैं. फिलहाल बाजार को मजबूत सेंटीमेंट का इंतजार है.

बता दें कि अमेरिका में 3 नवंबर 2020 को राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है. इसका असर ग्लोबल मार्केट पर भी दिखने लगा है. वहां आने वाले कई सर्वे में ट्रम्प की तुलना में जो बाइडेन आगे दिख रहे हैं. इससे यूएस में एक पॉलिटिकल अनिश्चितता का मा​हौल है. यूएस में दूसरे राहत पैकेज पर भी स्थिति साफ नहीं हो रही है. यूएस प्रेसिडेंट इलेक्शन के कारण हर बार ग्लोबल मार्केट में इस तरह की उठापटक दिखती है. हालांकि इस अनिश्चितता के बाद भी एसएंडपी 500 इंडेक्स अपने हाई के करीब है. लेकिन अगले कुछ दिन इसमें गिरावट आ सकती है.

स्टॉक स्पेसिफिक रहना बेहतर

रेलिगेयर ब्रोकिंग लिमिटेड के VP-रिसर्च, अजीत मिश्रा का कहना है कि बाजार की इस हफ्ते कमजोरी के साथ शुरूआत हुई है. घरेलू स्तर पर कोई भी सेंटीमेंट बाजार को सपोर्ट करने वाले नहीं दिखे. जबकि सोमवार को ग्लोबल फैक्टर ही हावी रहे. इसी वजह से फ्लैट शुरूआत करने के बाद बाजार में सोमवार को भारी बिकवाली आई. मेटल और आटो शेयर बुरी तरह से टूट गए. ब्रॉडर मार्केट इंडेक्स में भी कमजोरी देखने को मिली.

उनका कहना है कि अमेरिका और यूरोप के कई देशों मेूं कोरोना वायरस के मामलों में एक बार फिर तेजी देखने को मिल रही है. वहीं, US में राहत पैकेज पर निवेशक अब क्लेरिटी चाह रहे हैं, जो मिल नहीं रही है. वहीं घरेलू स्तर पर अर्निंग सीजन में कुछ अनाउंसमेंट भी वोलैटिलिटी बढ़ा रहे हैं. उनका कहना है कि इलेक्शन तक बाजार में दबाव देखने को मिल सकता है. ऐसे में स्टॉक स्पेसिफिक रहना बेहतर स्ट्रैटेजी है.

मजबूत सेंटीमेंट की तलाश

सैमको सिक्योरिटीज की सीनियर रिसर्च एनालिस्ट, निराली शाह का कहना है कि बाजार में आगे कुछ करेक्शन देखने को मिल सकता है. सीमेंट, FMCG, फार्मा आईटी में प्रॉफिट बुकिंग देखने को मिल सकती है. उनका कहना है कि अगर बाजार में कोई निगेटिव सेंटीमेंट न दिखे तो इस हफ्ते बाजार रेंज बाउंड बना रहेगा, लेकिन इसमें यूएस इलेक्शन तक तेजी की उम्मीद नहीं है. इस दौरान तिमाही नतीजों से ही कुछ सपोर्ट मिलने के चांस हैं. निवेशकों को बाजार में पैसे लगाने को लेकर इस दौरान सतर्क रहना चाहिए. अगर पैसा लगाना है तो वेल कैपिटलाइज्ड प्राइवेट सेक्टर बैंक के कुछ और शेयरों में गिरावट आए तो उन्हें अपने पोर्टफोलियो में जोड़ सकते हैं.

उनका कहना है कि यूएस इलेक्शन तक बाजार 12050 से 11600 के दायरे में घूमता रहेगा. 11600 के पार जाने के लिए बाजार को कोई मजबूत सेंटीमेंट चाहिए. निवेशक एक बार बाजार में स्थिरता आने के बाद ही निवेश करें.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. बाजार को मजबूत सेंटीमेंट की तलाश, US प्रेसिडेंट इलेक्शन तक रहेगा उतार-चढ़ाव; क्वालिटी शेयरों पर ही रखें नजर

Go to Top