सर्वाधिक पढ़ी गईं

US-ईरान टेंशन: शेयर बाजार में और बढ़ेगी गिरावट! क्या डिफेंसिव शेयर हो सकते हैं सेफ निवेश

यूएस और ईरान के बीच बढ़ते टेंशन के चलते निफ्टी में 300 अंकों की और गिरावट आ सकती है.

January 7, 2020 8:07 AM
stock market, stock market may more correct as US-Iran tension increase, defensive stocks may safe bet, IT stock, pharma stock, FMCG stock, stock market outlookयूएस और ईरान के बीच बढ़ते टेंशन के चलते निफ्टी में 300 अंकों की और गिरावट आ सकती है.

Stock Market: यूएस और ईरान के बीच बढ़ते टेंशन से सोमवार को निफ्टी में 6 महीने की सबसे बड़ी इंट्राडे गिरावट दर्ज की गई. सोमवार को निफ्टी भी 234 अंकों की गिरावट के साथ 11,993.05 के स्तर पर बंद हुआ. वहीं, सेंसेक्स भी 788 अंक कमजोर हुआ. एक्सपर्ट का कहना है कि मिड एशिया में टेंशन बढ़ने से दुनियाभर के बाजारों पर दबाव बना हुआ है. हालांकि क्रूड के महंगा होने से घरेलू शेयर बाजार सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले बाजारों में रहा है. उनका कहना है कि जिस तरह से दोनों ओर से बयानबाजी हो रही है, यह टेंशन आगे और बढ़ने का डर है. ऐसे में बाजार में भी और ज्यादा गिरावट देखने को मिल सकती है. निवेश के लिए लिहाज से इस दौर में IT, फार्मा और FMCG जैसे डिफेंसिव शेयरों में खरीददारी बढ़ सकती है.

11800 के स्तर तक टूट सकता है निफ्टी

एंजेल ब्रोकिंग के इक्विटी टेक्निकल एनालिस्ट रुचित जैन का कहना है कि यूएस और ईरान के बीच टेंशन बढ़ने से शेयर बाजारों पर दबाव बना हुआ है. पिछले पूरे हफ्ते में 12100 से 12300 के दायरे में कारोबार करने वाले घरेलू बाजार निफ्टी की बात करें तो इसमें 12100 का अहम स्तर टूट गया है और यह 11993 के स्तर पर बंद हुआ. जहां तक मध्य एशिया की बात है, अनिश्चितता अभी भी बनी हुई है. यह शेयर बाजार के लिए कोई अच्छी तस्वीर नहीं है. अगले कुछ दिनों की बात करें तो बाजार में उतार चढ़ाव दिखेगा. निफ्टी अगले कुछ ट्रेडिंग सेशन में 11850-11800 के स्तर तक कमजोर हो सकता है. इस दौरान उपर की ओर 12120 और 12200 पर रेजिस्टेंस रहेगा.

जहां तक निवेशकों की बात है, इस दौर में फ्रेश पोजिशन लेने से बचना चाहिए. हां अगर बाजार में 11800 के स्तर तक गिरावट आती है तो यहां से कुछ बॉइंग के मौके बनेंगे.

डिफेंसिव शेयर होंगे सेफ बेट!

ट्रेडिंग बेल्स के सीनियर एनालिस्ट संतोष मीना का कहना है कि यूएस और ईरान में टेंशन पीक पर पहुंचने के पहले घरेलू शेयर बाजार अपने रिकॉर्ड हाई के करीब ट्रेड कर रहा था. लेकिन टेंशन बढ़ने से सबसे ज्यादा प्रभावित होने वाले बाजारों में घरेलू शेयर बाजार भी रहा है. इसका प्रमुख कारण क्रूड में आने वाली तेजी है. असल में भारत क्रूड का बड़ा इंपोर्टर है, ऐसे में क्रूड और महंगा होने से देश की अर्थव्यवस्था पर भी असर पड़ सकता है. फिलहाल आगे निफ्टी 11800 से 11700 के स्तर तक कमजोर हो सकता है. उपर की ओर 12100 के लेवल पर रेजिस्टेंस होगा.

उनका कहना है कि मौजूदा दौर में IT, फार्मा और FMCG जैसे डिफेंसिव शेयर सेफ बेट साबित हो सकते हैं. इनमें अगले कुछ सेशन में बॉइंग दिख सकती है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. US-ईरान टेंशन: शेयर बाजार में और बढ़ेगी गिरावट! क्या डिफेंसिव शेयर हो सकते हैं सेफ निवेश

Go to Top