मुख्य समाचार:

1 दिन में निवेशकों के 1.2 लाख करोड़ साफ, इन 4 वजहों से ‘डरा’ बाजार

BSE Listed Companies Market Cap: अगस्त महीने की शुरूआत शेयर बाजार और निवेशकों के लिए बहुत बुरी साबित हुई है.

August 3, 2020 4:25 PM
stock market valuation, market cap of BSE, NSE, Sensex, Nifty, investors wealth tank today on 3 august 2020, COVID-19 cases rising, loan extension fear, profit booking from high valuation, pressure on bank and NBFC sector, why stock market tankअगस्त महीने की शुरूआत शेयर बाजार और निवेशकों के लिए बहुत बुरी साबित हुई है.

Stock Market Tank: अगस्त महीने की शुरूआत शेयर बाजार और निवेशकों के लिए बहुत बुरी साबित हुई है. अगस्त महीने के पहले ही ट्रेडिंग डे पर निवेशकों के 1.2 लाख करोड़ रुपये साफ हो गए. कारोबार में सेंसेक्स 667 अंक टूटकर और निफ्टी 174 अंक कमजोर होकर बंद हुआ है. बाजार का मार्केट कैप में करीब 111734 करोड़ रुपये की कमी आई है. कारोबार में सबसे बुरा हाल बैंक और फाइनेंशियल सेक्टर का रहा है. फिलहाल बाजार में ऐसे कुछ फैक्टर रहे, जिससे कारोबार में सेंटीमेंट निगेटिव बना. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों, लोन एक्सटेंशन, बैंक और फाइनेंशियल सेक्टर में कमजोरी की वजह से बाजार में मुनाफा वसूली आई.

मार्केट शेयर 1.2 लाख करोड़ साफ

31 जुलाई को बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों का मार्केट कैप 1,47,39,115.83 करोड़ रुपये था. वहीं, 3 अगस्त यानी सोमवार को बीएसई का मार्केट कैप घटकर 1,46,27,381.77 करोड़ रुपये रह गया है. यानी एक दिन में इसमें 1.11734 लाख करोड़ की कमी आई है.

बाजार में बढ़ सकती है कमजोरी

रेलीगेयर ब्रोकिंग के वाइस प्रेसिडेंट-रिसर्च, अजीत मिश्रा का कहना है कि आटो सेल्स के अचछे नंबर आने के बाद भी बाजार की शुरूआत कमजोर हुई और अंत बड़ी गिरावट के साथ. असल में बाजार को कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच अर्थव्यवस्था को लेकर चिंता बढ़ी है. ग्लोबल क्लू भी कमजोर ही दिख रहे हैं. इसके अलावा बैंक और एनबीएफसी में बिकवाली बनी हुई है. बाजार को आरबीआई की मॉनेटरी पॉलिसी का भी इंतजार है, जिसके पहले निवेशक सतर्क हैं. आगे भी बाजार पवर कुछ दबाव दिख सकता है और निफ्टी में 10,750-10,800 तक कमजोरी देखने को मिल सकती है.

मार्केट में गिरावट की प्रमुख वजह

लोन एक्सटेंशन का डर: कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों के बीच लोन मोरेटोरियम पीरियड को बढ़ाए जाने के संकेत मिल रहे हैं. सरकार की ओर से भी ऐसे संकेत मिले हैं कि अगस्त के बाद मोरेटोरियम पार्ट 3 लागू किया जा सकता है. यह फैक्टर बैंक और एनबीएफसी के लिए निगेटिव रहे हैं. बैंक और एनबीएफसी के लोन बुक पर अब मोरेटोरियम का दबाव है. पिछले दिनों बैंकों की ओर से कहा गया था, बहुत से कस्टमर बिना जरूरत के मोरेटोरियम की सुविधा ले रहे हैं, इसलिए इसे आगे न बढ़ाया जाए.

कोरोना वायरस के मामलों में तेजी: भारत में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले अब डराने वाले हैं. पिछले 4-5 दिन से लगातार रोज 50 हजार के करीब कोरोना के नए मामले सामने आ रहे हैं. भारत में कोविड के मरीजों की संख्या 18 लाख के करीब पहुंच गई है.

हैवीवेट शेयरों में बिकवाली: आरआईएल, एचडीएफसी बैंक, कोटक बैंक, एक्सिस बैंक, एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस और सनफार्मा, आईसीआईसीआई बैंक व एयरटेल जैसे हैवीवेट शेयरों में बिकवाली से भी बाजार कमजोर हुआ.

उपरी स्तरों से मुनाफा वसूली: बाजार में मार्च के लो से करीब 40 फीसदी तक तेजी आई है. इस दौरान कई शेयरों का वैल्युएशन भी उंचा हुआ है. ऐसे में उपरी स्तरों से आज बिकवाली भी देखने को मिली है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 1 दिन में निवेशकों के 1.2 लाख करोड़ साफ, इन 4 वजहों से ‘डरा’ बाजार

Go to Top