Stock Market: बाजार में अफरा तफरी के बीच निवेशकों के डूबे 6 लाख करोड़, सेंसेक्स क्यों 1100 अंक टूटा? ये हैं वजह

बाजार की इस गिरावट में बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैप में 6 लाख करोड़ की गिरावट आई है. लार्जकैप हों या मिडकैप हर सेग्मेंट में कमजोरी देखने को मिल रही है.

शेयर बाजार में आज भारी अफरा तफरी है. निवेशक आज चौतरफा बिकवाली कर रहे हैं. (reuters)

Stock Market Crash Today: शेयर बाजार में आज भारी अफरा तफरी देखने को मिल रही है. निवेशक आज चौतरफा बिकवाली कर रहे हैं. इस बिकवाली के बीच इंट्राडे में सेंसेक्स 1100 अंक टूट गया. वहीं निफ्टी भी कारोबार में 16400 के नीचे फिसल गया. बाजार की इस गिरावट में बीएसई पर लिस्टेड कंपनियों के मार्केट कैप में 6 लाख करोड़ की गिरावट आई है. यानी निवेशकों को एक झटके में 6 लाख करोड़ का झटका लगा है. लार्जकैप हों या मिडकैप या स्मालकैप हर सेग्मेंट में कमजोरी देखने को मिल रही है. आखिर बाजार में आई भारी गिरावट की क्या वजह है.

बाजार में क्यो आई बड़ी गिरावट

Tradingo के फाउंडर पार्थ न्याती का कहना है कि बाजार में इस भारी गिरावट के पीछे ग्लोबल फैक्टर हावी हैं. गुरूवार के कारोबार में यूएस माकेट में भारी गिरावट रही. NASDAQ में करीब 5 फीसदी की कमजोरी देखने को मिली. असल में निवेशकों को ऐसा लग रहा है कि यूएस फेड द्वारा रेट हाइक किए जाने के बाद भी महंगाई पर अभी कंट्रोल नहीं मिलने वाला है. इससे सेंट्रल बैंक आगे और सख्त रुख अपना सकते हैं. इसके अलावा जियोपॉलिटिकल टेंशन की वजह से बाजार में अनिश्चितता बनी हुई है. ग्लोबली इकोनॉमिक स्लोडाउन की आशंका है. इन वजहों से निवेशकों का ओवरआल सेंटीमेंट खराब हुआ है.

निवेशकों को क्या करना चाहिए

उनका कहना है कि बुधवार को RBI ने ब्याज दरों में अचानक बढ़ोतरी कर दी. यह रेट हाइक साइकिल की शुरूआत है. उनका कहना है निगेटिव सेंटीमेंट की वजह से बाजार में आने वाले दिनों में कुछ और करेक्शन देखने को मिल सकता है. निवेशकों को फिलहाल अगले कुछ दिन स्टॉक स्पेसिफिक अप्रोच के साथ ट्रेड करना चाहिए. बाजार में मौजूदा करेक्शन के चलते निवेश के अच्छे मौके भी बनेंगे. कई क्वालिटी शेयरों का वैल्युएशन वाजिब हो रहा है. उनका कहना है कि लंबी अवधि के तौर पर देखें तो भारतीय अर्थव्यवस्था बेहतर पोजिशन में दिख रही है. आगे मजबूत इकोनॉमिक रिकवरी की उम्मीद है, जिससे लंबी अवधि में बाजार भी मजबूत होगा. ऐसे में इकोनॉमिक फेसिंग सेक्टर मसलन बैंकिंग, इंफ्रास्ट्रक्चर, कैपिटल गुड्स और हाउसिंग से जुड़े अच्छे शेयरों पर नजर रखें.

गिरावट की अन्य वजह

गुरूवार को अमेरिकी बाजार भी बड़ी गिरावट के साथ बंद हुए. Dow Jones में 1063 अंकों या 3.12 फीसदी गिरावट रही. Nasdaq में 4.99 फीसदी और S&P 500 इंडेक्स में 3.56 फीसदी कमजोरी रही. निवेशकों की नजर अप्रैल के जॉब डाटा पर है.

आज के कारोबार में एशियाई बाजारों में भारी बिकवाली देखने को मिल रही है. SGX Nifty में 1.61 फीसदी कमजोरी है, जबकि हैंगसेंग में 2.49 फीसदी और ताइवान वेटेड में 2 फीसदी गिरावट है. अन्य इंडेक्स भी लाल निशान में हैं.

बॉन्ड यील्ड 3 फीसदी के पार

यूएस में 10 साल का बॉन्ड यील्ड 3.081 के लेवल पहुंच गया, जो साल 2018 के बाद सबसे ज्यादा है. ब्रेंट क्रूड में फिर तेजी देखने को मिल रही है. ब्रेंट क्रूड 112 डॉलर प्रति बैरल के करीब ट्रेड कर रहा है. जबकि अमेरिकी क्रूड भी 109 डॉलर प्रति बैरल के आस पास पहुंच गया है.

IT शेयरों में भारी गिरावट

IT शेयरों में भारी गिरावट है. निफ्टी पर इंडेक्स 2.5 फीसदी से ज्यादा टूट गया है. WIPRO में 3.5 फीसदी गिरावट है तो INFY में 3 फीसदी से ज्यादा. TCS और HCLTECH में भी करीब 2.5 फीसदी कमजोरी है. TECHM 1.5 फीसदी टूट गया है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Most Read In Business News

TRENDING NOW

Business News