scorecardresearch

Gold Bond: अगले हफ्ते खुलेगी गोल्ड बॉन्ड की अगली खेप, सब्सक्रिप्शन के लिए ये प्राइस हुआ है तय

Sovereign Gold Bonds: सोवरेन गोल्ड बॉन्ड 2021-22 की अगली किश्त के लिए इश्यू प्राइस तय हो चुका है. यह इश्यू अगले हफ्ते सोमवार 28 फरवरी को खुलेगा.

Gold Bond: अगले हफ्ते खुलेगी गोल्ड बॉन्ड की अगली खेप, सब्सक्रिप्शन के लिए ये प्राइस हुआ है तय
अगले हफ्ते खुल रहे गोल्ड बॉन्ड की दसवीं किश्त के लिए इश्यू प्राइस 5109 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है.

Gold Bond: सोवरेन गोल्ड बॉन्ड 2021-22 की अगली किश्त के लिए इश्यू प्राइस तय हो चुका है. यह इश्यू अगले हफ्ते सोमवार 28 फरवरी को खुलेगा और सब्सक्रिप्शन के लिए पांच दिनों तक यानी 4 मार्च तक खुला रहेगा. आरबीआई ने शुक्रवार को जानकारी दी कि अगले हफ्ते खुल रहे गोल्ड बॉन्ड की दसवीं किश्त के लिए इश्यू प्राइस 5109 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. हालांकि जो निवेशक इस गोल्ड बॉन्ड के लिए ऑनलाइन आवेदन करते हैं और पेमेंट करते हैं तो उन्हें प्रति ग्राम 50 रुपये की बचत होगी यानी कि डिजिटल मोड में निवेशकों को प्रति ग्राम 5059 रुपये का भुगतान करना होगा. इससे पहले गोल्ड बॉन्ड की किश्त 10-14 जनवरी को सब्सक्रिप्शन के लिए खुला था और इसके लिए 4786 रुपये प्रति ग्राम का भाव तय किया गया था.

Swing Pricing Framework: स्विंग प्राइसिंग मार्च की बजाय अब एक मई से लागू, म्यूचुअल फंड निवेशकों पर होगा बड़ा असर

Sovereign Gold Bonds से जुड़ी खास बातें

  • गोल्ड बॉन्ड के भाव सब्सक्रिप्शन अवधि के पिछले हफ्ते के अंतिम तीन वर्किंग डेज में 999 शुद्धता वाले गोल्ड के औसतन भाव के आधार पर तय किए जाते हैं. 999 शुद्धता वाले गोल्ड के भाव इंडियन बूलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन (IBJA) प्रकाशित करती है.
  • ऑनलाइन आवेदन और पेमेंट करने पर निवेशकों कों 50 रुपये का डिस्काउंट मिलेगा.
  • बॉन्डों की बिक्री स्माल फाइनेंस और पेमेंट बैंकों को छोड़कर शेड्यूल्ड कॉमर्शियल बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, क्लीयरिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, चुनिंदा डाकघरों, एनएसई और बीएसई के जरिए होगी.
  • निवेशकों को हर छह महीने पर 2.5 फीसदी की सालाना दर से निवेश के नॉमिनल वैल्यू पर ब्याज मिलेगा.

New NFO: मिरे एसेट म्यूचुअल फंड की नई स्कीम में 4 मार्च तक लगाएं पैसे, तेजी से आगे बढ़ रही कंपनियां आपका पोर्टफोलियो करेगी मजबूत

  • गोल्ड बॉन्ड के जरिए कम से कम 1 ग्राम गोल्ड में निवेश करना होगा. इसके अलावा इंडिविजुअल्स को अधिकतम 4 किग्रा और ट्रस्ट जैसी एंटिटीज को एक वित्त वर्ष में अधिकतम 20 किग्रा गोल्ड बॉन्ड में निवेश करने की मंजूरी है.
  • इन बॉन्डों का टेन्योर 8 साल होगा. हालांकि पांच साल तक होल्ड करने के बाद अगली ब्याज अदायगी तिथि को अपनी पूंजी निकाल सकते हैं.
  • रिडेंप्शन प्राइस आईबीजीए द्वारा प्रकाशित पिछले तीन वर्किंग डेज में 999 शुद्धता वाले गोल्ड के औसतन बंद भाव के आधार पर तय होगा.
  • बॉन्ड में निवेश पर जो ब्याज मिलेगा, उस पर टैक्स चुकाना होगा लेकिन रिडेंप्शन पर जो कैपिटल गेन होगा, उस पर इंडिविजुअल की टैक्स देनदारी नहीं बनती है.
  • ये बॉन्ड स्टॉक एक्सचेंज पर भी ट्रेड होते हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 26-02-2022 at 11:12 IST

TRENDING NOW

Business News