मुख्य समाचार:

Sovereign Gold Bond: आज से डिस्काउंट पर खरीदें सोना, मिलेगा 2.5% सालाना ब्याज का एक्स्ट्रा बेनेफिट

Sovereign Gold Bond (SGBs):  मौजूदा वित्त वर्ष के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की छठीं सीरीज आज से खुल रही है.

August 31, 2020 8:21 AM
sovereign gold bond, RBI Gold Bond, SGB open for subscription today on 31 august 2020, gold bond, sovereign gold bond scheme, sovereign gold bond rbi, sovereign gold bond price, सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, गोल्ड बॉन्ड, sovereign gold bond rate, sovereign gold bond hdfc, sovereign gold bond zerodha, sovereign gold bond dates, sovereign gold bond july 2020Sovereign Gold Bond (SGBs):  मौजूदा वित्त वर्ष के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की छठीं सीरीज आज से खुल रही है.

Sovereign Gold Bond (SGBs):  मौजूदा वित्त वर्ष के लिए सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड की छठीं सीरीज आज से खुल रही है. इस सीरीज के लिए सरकार ने 5117 रुपये प्रति ग्राम यानी 51170 रुपये प्रति 10 ग्राम गोल्ड बांड की कीमत तय की है. लेकिन इसे ऑनलाइन खरीदने पर हर ग्राम पर 50 रुपये डिस्कांड मिलेगा. इस लिहाज से ऑनलाइन गोल्ड बांड खरीदने पर 10 ग्राम की कीमत 50670 रुपये होगी. जबकि शुक्रवार को एमसीएक्स पर सोना 51448 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था. एक्सपर्ट भी अभी गोल्ड बांड में पैसा लगाने का बेहतरीन समय मान रहे हैं. उनका कहना है कि एक तो सोना अपने रिकॉर्ड हाई से 5000 रुपसे के करीब सस्ता हो चुका है, जिससे गोल्ड बांड की कीमत भी पिछली सीरीज से कम की गई है. वहीं, गोल्ड बांड में 2.5 फीसदी का सालाना ब्याज इसे और आकर्षक बना देता है.

बाजार भाव से कितना सस्ता

​मौजूदा वित्त वर्ष में गोल्ड बॉन्ड की छठीं सीरीज के लिए ऑनलाइन भाव 50670 रुपये प्रति 10 ग्राम है. जबकि एमसीएक्स पर सोने का भाव 51448 रुपये प्रति 10 ग्राम. इस ​लिहाज से सोना करीब 778 रुपये सस्ता पड़ेगा. ऐसे में सोने में गिरावट का पूरा फायदा गोल्ड बॉन्ड के जरिए निवेश कर उठाया जा सकता है.

कब से कब तक कर सकते हैं निवेश

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 31 अगस्त से निवेश के लिए खुल जाएगा. 4 सितंबर तक इसमें निवेश किया जा सकता है. बॉन्ड 8 सितंबर को इश्यू कर दिया जाएगा.

कितना खरीद सकते हैं सोना

इस स्कीम के तहत सबसे छोटा बॉन्ड 1 ग्राम के सोने के बराबर होगा. कोई भी व्यक्ति एक वित्त वर्ष में अधिकतम 500 ग्राम सोने का बाॉन्ड खरीद सकता है. कुल मिलाकर व्यक्तिगत तौर पर बॉन्ड खरीदने की सीमा 4 किलो वहीं ट्रस्ट या संगठन के लिए 20 किलोग्राम रखी गई है.

लॉक इन पीरियड

सॉवरेन गोल्ड बांड की मेच्योरिटी पीरियड 8 साल है. हालांकि 5 साल के बाद से इसमें एग्जिट का विकल्प भी है. इसमें मेच्योरिटी तक होल्ड करने में कैपिटल गेंस टैक्स नहीं देना होता है. मेच्योरिटी पर टैक्स फ्री होना भी इसकी यूनिक क्वालिटी में एक है. इसी वजह से ​एक्सपर्ट लांग टर्म निवेशकों को इसमें पैसा लगाने की सलाह देते हैं. गोल्ड की रिटर्न हिस्ट्री देखें तो इसने लंबी अवधि में निवेशकों को बेहतर और स्थिर रिटर्न दिया है. लंबी अवधि में सोने के भाव भी बढ़ेंगे, ऐसे में गोल्ड बॉन्ड का रिटर्न बेहतर होगा. वहीं, इसमें 2.5 फीसदी सालाना के हिसाब से ब्याज का अतिरिक्त फायदा होगा.

क्यों निवेश के लिए बेहतरीन समय

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि मौजूदा समय की बात करें तो बहुत ही अच्छे समय पर गोल्ड बॉन्ड की यह सीरीज खुल रही है. मार्केट में सोना अपने हाई से अच्छा खासा डिस्कांड हो चुका है. मौजूदा भाव बैलेंस दिख रहा है. वहीं, आने वाले दिनों में सोने में तेजी लौटने की उम्मीद है और दिवाली तक यह फिर से अपना हाई के करीब पहुंच सकता है. अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता, डॉलर की कमजोरी और जियो पॉलिटिकल टेंशन जैसे फैक्टर मौजूद हैं, जिससे सोने में तेजी अभी जारी रहने वाली है. ऐसे में निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो में 8-10% गोल्ड जरूर रखना चाहिए.

एक्सपेंस रेश्यो व प्योरिटी

सॉवरने गोल्ड बांड में एक्सपेंस रेश्यो कुछ भी नहीं है. भारत सरकार द्वारा समर्थित होने से डिफॉल्ट का खतरा नहीं होता है. फिजिकल गोल्ड की बजाए मैनेज करना आसान और सेफ होता है. गोल्ड बांड के अगेंस्ट लोन की सुविधा मिलती है. इसमें प्योरिटी का कोई झंझट नहीं होता और कीमतें सबसे शुद्ध सोने के आधार पर तय होती हैं.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Sovereign Gold Bond: आज से डिस्काउंट पर खरीदें सोना, मिलेगा 2.5% सालाना ब्याज का एक्स्ट्रा बेनेफिट

Go to Top