मुख्य समाचार:

Gold: ‘गोल्डेन पीरियड’ के बीच खुला सॉवरेन गोल्ड बांड, अभी निवेश के लिए क्यों है बेहतर विकल्प

सोने की डिमांड जब ज्यादा बनी हुई है, ऐसे में सॉवरेन गोल्ड बांड की मई सीरीज आज से खुल गई है.

May 11, 2020 11:25 AM
sovereign gold bond, SGB, SGB may series start from today 11 may till 15 may, golden period going on for gold as safe heaven, pressure on economy due to COVID-19, सॉवरेन गोल्ड बांडसोने की डिमांड जब ज्यादा बनी हुई है, ऐसे में सॉवरेन गोल्ड बांड की मई सीरीज आज से खुल गई है.

Sovereign Gold Bond: दुनियाभर में सोने के निवेशकों के लिए गोल्डेन पीरियड चल रहा है. इस साल सोने में अबतक निवेशकों को 15 फीसदी रिटर्न मिल चुका है. जबकि पिछले साल यानी 2019 में सोना करीब 24 फीसदी चढ़ा था. दिसंबर 2019 में सोना करीब 39108 रुपये प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था. वहीं पिछले ट्रेडिंग डे पर यह 45800 के पार बंद हुआ. यानी इस साल सोने में 6600 रुपये से ज्यादा तेजी आ चुकी है. एक्सपर्ट सोने के लिए आगे भी गोल्डेन पीरियड जारी रहने की बात कह रहे हैं. ऐसे समय में वित्त वर्ष 2021 के लिए सॉवरेन गोल्ड बांड की दूसरी सीरीज आज यानी सोमवार से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गई है. यह सब्सक्रिप्शन के लिए 15 मई तक खुली रहेगी.

दूसरी सीरीज के लिए सोने का भाव

सॉवरेन गोल्ड बांड के लिए 1 ग्राम सोने का भाव 4590 रुपये तय किया गया है. यानी हर 10 ग्राम का भाव 45900 रुपये होगा. वहीं अगर आनलाइन खरीदते हें तो इस पर 500 रुपये प्रति 10 ग्राम की छूट मिलेगी. इस लिहाज से आपके लिए 10 ग्राम सोने की कीमत 45400 रुपये होगी. यह बाजार भाव से करीब 400 रुपये कम होगा.

अप्रैल सीरीज में रिकॉर्ड सब्सक्रिप्शन

कोरोना महामारी की वजह से जहां कैपिटल मार्केट की हालत खराब है, सोने को लेकर लोगों का जबरदस्त आकर्षण बढ़ा है. इस बात का सबूत यह है कि मौजूदा वित्त वर्ष में सॉवरेन गोल्ड बांड की अप्रैल सीरीज को लेकर निवेशकों में जबरदस्त क्रेज दिखा था. आरबीआई द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक अप्रैल सीरीज को 17.73 लाख यूनिट के लिए करीब 822 करोड़ का सब्सक्रिप्शन मिला. यह अक्टूबर 2016 के बाद सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन है. अप्रैल सीरीज में गोल्ड बांड का भाव 4,639 प्रति ग्राम तय किया गया था.

गोल्ड बांड क्यों बेहतर विकल्प

केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि सोने की चमक अभी बाकी है. कोरोना महामारी ने दुनियाभर की अर्थव्यवस्थाओं को पैरालाइज करने का काम किया है. ग्लोबल एजेंसियां मंदी की बात कह चुकी हैं. यूएस में डाटा खराब आ रहे हैं. यूएस फेडरल भी स्लोडाउन की बात कह चुका है. दुनियाभर के सेंट्रल बैंक ब्याज दरें घटा रहे हैं. ऐसे में आगे भी सोना सेफ हैवन बना रहेगा, जबतक कि अर्थ्व्यवस्थाओं में रिकवरी न शुरू हो जाए. इक्विटी मार्केट अभी वोलेटाइल रहने वाला है. ध्यान रहे कि इक्विटी मार्केट और बुलियन मार्केट का ट्रेंड एक दिशा में नहीं होता है. उम्मीद है कि दिवाली तक सोना 50 हजार का भाव छू लेगा.

अधिकतम कितना खरीद सकते हैं सोना

कोई शख्स एक वित्त वर्ष में मिनिमम 1 ग्राम और मैक्सिमम 4 किलोग्राम तक वैल्यू का बॉन्ड खरीद सकता है. हालांकि किसी ट्र्स्ट के लिए खरीद की अधिकतम सीमा 20 किग्रा है.

2.5 फीसदी रिटर्न की गारंटी

गोल्ड बांड में सोने में आने वाली तेजी का फायदा तो मिलता ही है. इस पर सालाना 2.5 फीसदी ब्याज भी मिलता है. ब्याज निवेशक के बैंक खाते में हर 6 महीने पर जमा किया जाएगा. अंतिम ब्याज मूलधन के साथ मेच्योरिटी पर दिया जाता है. मेच्योरिटी पीरियड 8 साल है, लेकिन 5 साल, 6 साल और 7 साल का भी विकल्प होता है. अगर सोने के बाजार मूल्य में गिरावट आती है तो कैपिटल लॉस का खतरा भी हो सकता है.

कहां से खरीद सकते हैं

गोल्ड बॉन्ड को ऑनलाइन खरीद सकते हैं. इसके अलावा इसकी बिक्री बैंकों, स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (एसएचसीआईएल), चुनिंदा डाकघरों और एनएसई व बीएसई जैसे स्टॉक एक्सचेंज के जरिए भी होगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Gold: ‘गोल्डेन पीरियड’ के बीच खुला सॉवरेन गोल्ड बांड, अभी निवेश के लिए क्यों है बेहतर विकल्प

Go to Top