मुख्य समाचार:

चांदी रिकॉर्ड हाई से 10 हजार रु डिस्काउंट पर, एक्सपर्ट ने कहा- फिर टूटेगा रिकॉर्ड, दांव लगाने का सही मौका

Silver Prices Today: चांदी 11 सितंबर को यह अपने रिकॉर्ड हाई से 10 हजार रुपये टूटकर 67613 के भाव तक कमजोर हुआ.

September 12, 2020 8:29 AM
Silver Prices Outlook, gold, silver, silver prices today updates, silver may break all records, should you invest in silver, why experts seen better silver outlook, silver buying in India, silver industrial demand, silver demand in Diwali, wedding season silver demand, covid-19, economySilver Prices Today: चांदी 11 सितंबर को यह अपने रिकॉर्ड हाई से 10 हजार रुपये टूटकर 67613 के भाव तक कमजोर हुआ.

Silver Prices Today: पिछले 1 महीने के दौरान चांदी में जमकर उथल पुथल देखने को मिली है. अगस्त में चांदी ने एमसीएक्स पर अपना रिकॉर्ड हाई 78 हजार रुपये प्रति किलो का भाव टच किया था. वहीं 11 सितंबर को यह अपने रिकॉर्ड हाई से 10 हजार रुपये टूटकर 67613 के भाव तक कमजोर हुआ. हालांकि यह एमसीएक्स पर 68 हजार के पार बंद हुआ है. हाजिर बाजार में भी यह करीब 5000 रुपये डिस्काउंट पर आ गया है. एक्सपर्ट का कहना है कि सितंबर भर चांदी पर दबाव रहेगा और यह 65 हजार के नीचे जा सकता है. इस भाव पर चांदी में दांव लगाने के लिए शानदार मौका रहेगा. इस साल के अंत तक चांदी फिर अपने पुराने रिकॉर्ड तोड़ देगा.

क्यों चांदी पर बना है दबाव

मौजूदा समय में पितृपक्ष चल रहा है. इन दिनों भारत में लोग सोना या चांदी नहीं खरीदते हैं. फिजिकल बॉइंग अचानक से बहुत कमजोर है. डिमांड घटने से चांदी के भव घटे हैं. दूसरा पिछले दिनों चांदी का भाव अच्छी खासी तेजी आई, जिसके बाद इसमें निवेशकों ने मुनाफा वसूली की है. शेयर बाजार में तेजी आने की वजह से भी निवेश घटा है. एक्सपर्ट का मानना है कि पूरे हिसतंबर चांदी पर दबाव रहेगा और यह 65 हजार से 62 हजार रुपये प्रति किलो तक कमजोर हो सकता है.

यह मंदी नहीं है

केडिया एडवाइजरी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि चांदी में यह गिरावट मंदी नहीं है. बल्कि रिकॉर्ड हाई से 10 हजार की गिरावट से निवेशकों को दांव लगाने का अच्छा मौका मिलेगा. अगर चांदी 65 हजार से 62 हजार के स्तर तक कमजोर होती है तो इसमें फिर से निवेश करना चाहिए. साल के अंत तक चांदी फिर से 80 हजार रुपये का स्तर दू सकती है. एक साल का लक्ष्य देखें तो चांदी का भाव 1 लाख रुपये प्रति किलो होने से इनकार नहीं किया जा सकता है.

क्यों आएगी चांदी में तेजी?

  • केडिया का कहना है कि भारत में कोरोना वायरस के मामले अब 90 हजार प्रति दिन से भी ज्यादा आने लगे हैं. ऐसा ही रहा तो भारत जल्द ही लिस्ट में टॉप पर पहुंच सकता है. ऐसे में घरेलू बाजार में अनिश्चितता है. ग्लोबल स्तर पर भी कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं.
  • यूएस में इलेक्शन होने जा रहे हैं, जिससे वहां आथ्र्सिक अनिश्चितता बनी रहेगी. डॉलर इंडेक्स में लगातार मजबूती आ रही है.
  • चीन ने जीडीपी पाजिटिव बताई है. वहां तेजी से इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ रही है. चीन बेस मेटल्स का सबसे बड़ा कंज्यूमर देश है.
  • मानसून बेहतर रहने से रूरल इलाकों में चांदी की डिमांड बढ़ने वाली है. वहीं, अनलॉक में चांदी की इंडस्ट्रिसल डिमांड भी बढ़ेगी.
  • भारत में त्योहारों व शादियों का सीजज आ रहा है, लोग एक बार फिर सोना और चांदी खरीदेंगे.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. चांदी रिकॉर्ड हाई से 10 हजार रु डिस्काउंट पर, एक्सपर्ट ने कहा- फिर टूटेगा रिकॉर्ड, दांव लगाने का सही मौका

Go to Top