Shriram Properties Listing: रीयल एस्टेट कंपनी श्रीराम प्रॉपर्टीज ने आईपीओ निवेशकों को किया निराश, 20% डिस्काउंट पर शेयरों की लिस्टिंग

Shriram Properties Listing: दक्षिण भारत की दिग्गज आवासीय रीयल एस्टेट डेवलपमेंट कंपनियों में शुमार श्रीराम प्रॉपर्टीज की लिस्टिंग ने आईपीओ निवेशकों को निराश किया है.

Shriram Properties Listing disappoints lists at discount on bse nse check here in details
श्रीराम प्रॉपर्टीज के शेयर आईपीओ प्राइस के मुकाबले 20 फीसदी डिस्काउंट पर लिस्ट हुए.

Shriram Properties Listing: दक्षिण भारत की दिग्गज आवासीय रीयल एस्टेट डेवलपमेंट कंपनियों में शुमार श्रीराम प्रॉपर्टीज की लिस्टिंग ने आईपीओ निवेशकों को निराश किया है. इसके शेयर 118 रुपये के इश्यू प्राइस के मुकाबले आज (20 दिसंबर) करीब 20 फीसदी डिस्काउंट 94 रुपये के भाव पर लिस्ट हुए. हालांकि कमजोर लिस्टिंग के बाद इसके भाव में रिकवरी हुई और यह बीएसई पर करीब 104.40 रुपये के भाव पर पहुंच गया यानी कि इश्यू प्राइस के मुकाबले 11.53 फीसदी डिस्काउंट पर. मौजूदा भाव पर इसकी मार्केट पूंजी 1,770.87 करोड़ रुपये है.

Stocks in Focus: कारोबार के दौरान Zomato-Zee जैसे शेयरों पर फोकस, मार्केट में बिकवाली का दबाव बने रहने के आसार

खुदरा निवेशकों का आरक्षित हिस्सा सबसे अधिक सब्सक्राइब

श्रीराम प्रॉपर्टीज का 600 करोड़ रुपये का आईपीओ 7-10 दिसंबर तक खुला था और इसमें निवेशक 113-118 रुपये के प्राइस बैंड में 125 शेयरों के लॉट में पैसे लगा सकते थे. यह इश्यू 4.60 गुना सब्सक्राइब हुआ था और सबसे अधिक खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित हिस्सा ओवरसब्सक्राइब हुआ था. खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित हिस्सा ओवरसब्सक्राइब हुआ था. खुदरा निवेशकों के लिए आरक्षित हिस्सा 12.72 गुना सब्सक्राइब हुआ था. क्वालिफाइड इंस्टीट्यूशनल बॉयर्स (QIB) का हिस्सा 1.85 गुना, नॉन-इंस्टीट्यूशनल इंवेस्टर्स (NII) का हिस्सा 4.82 गुना और कर्मियों के लिए आरक्षित हिस्सा 1.25 गुना ओवरसब्सक्राइब हुआ था.

कंपनी से जुड़ी डिटेल्स

  • श्रीराम प्रॉपर्टीज श्रीराम ग्रुप का एक हिस्सा है और यह दक्षिण भारत में बड़ी आवासीय रीयल एस्टेट डेवलपमेंट कंपनियों में शुमार है.
  • इसका मुख्य फोकस मिड-मार्केट और अफोर्डेबल हाउसिंग सेग्मेंट में है. हालांकि इसकी उपस्थिति मिड-मार्केट प्रीमियम, आरामदायक हाउसिंग कैटेगरीज, कॉमर्शियल व ऑफिस स्पेस कैटेगरीज में भी है.
  • कंपनी के वित्तीय स्थिति का बात करें को कोरोना के चलते इसका कारोबार प्रभावित हुआ. वित्त वर्ष 2019 में इसका शुद्ध मुनाफा (प्रॉफिट आफ्टर टैक्स) 48.79 करोड़ रुपये था जबकि अगले वित्त वर्ष में इसे 86.39 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. अगले ही वित्त वर्ष 2021 में इसकी स्थिति बेहतर हुई लेकिन फिर भी इसे 68.18 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

Financial Express Telegram Financial Express is now on Telegram. Click here to join our channel and stay updated with the latest Biz news and updates.

TRENDING NOW

Business News