मुख्य समाचार:

खुल गया इरकॉन इंटरनेशनल का 467 करोड़ का IPO, निवेश से पहले जानें 5 जरूरी बातें

सरकारी कंपनी इरकॉन इंटरनेशनल का आईपीओ सोमवार को खुल रहा है. कंपनी का आईपीओ के जरिए 467 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है. आईपीओ में निवेश के पहले 5 बातें जानना जरूरी है.

September 17, 2018 10:55 AM
IPO, ircon international, capital market, invest, facts, financila, performance, इरकॉन इंटरनेशनल, आईपीओसरकारी कंपनी इरकॉन इंटरनेशनल का आईपीओ सोमवार को खुल रहा है. कंपनी का आईपीओ के जरिए 467 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है. आईपीओ में निवेश के पहले 5 बातें जानना जरूरी है. (Reuters)

सरकारी कंपनी इरकॉन इंटरनेशनल का आईपीओ सोमवार यानी 17 सितंबर को खुल गया है. कंपनी का आईपीओ के जरिए बाजार से 467 करोड़ रुपये जुटाने का लक्ष्य है. कंपनी ने शेयर के लिए 470-475 रुपये का प्राइस बैंड तय किया है. आईपीओ में 19 सितंबर तक निवेश किया जाता हे. सरकारी कंपनी होने के नाते बाजार की भी नजर इस आईपीओ पर है. अगर आप भी आईपीओ में निवेश का मन बना रहे हैं तो पहले कंपनी के बारे में 5 बातें जानना जरूरी है.

99 लाख से ज्यादा शेयर बेचेगी कंपनी

इरकॉन इंटरनेशनल आईपीओ के जरिए 99,05,147 शेयर बेचने वाली है. जिसकी फेस वैल्यू 10 रुपये प्रति शेयर है. आॅफर के लीड मैनेजर्स आईडीबीआई कैपिटल मार्केट्स एंड सिक्योरिटीज, एक्सिस कैपिटस और एसबीआई कैपिटल मार्केट्स हैं. इसमें कम से कम 30 शेयरों के लिए निवेश किया जा सकता है. प्राइस बैंड की ऊपरी कीमत के आधार पर निवेशकों कम से कम 14 हजार रुपये का निवेश करना होगा.

इस फाइनेंशियल 9वां आईपीओ

मौजूदा फाइनेंशियल ईयर में इरकॉन इंटरनेशन 9वीं कंपनी है , जिसका आईपीओ आ रहा है. वहीं, यह रिट्स के बाद दूसरी सरकारी कंपनी है, जिसका आईपीओ विनिवेश योजना के तहत लाया जा रहा है. इसमें सरकार अपनी 10 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी. वहीं, इस साल की बात करें तो इरकॉन के पहले अबतक 21 कंपनियां आईपीओ के जरिए बाजार से 28,000 करोड़ रुपए जुटा चुकी हैं. जबकि साल 2017 में 36 कंपनियों ने कुल 67,000 करोड़ रुपए बाजार से जुटाए थे.

कंपनी के बारे में

इरकॉन इंटरनेशनल सरकारी इंजीनियरिंग एंड कंस्ट्रक्शन कंपनी है. कंपनी इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट, रोड, हाईवे, फ्लाईओवर, टनेल, एयरक्रॉफ्ट मेंटिनेंस, कमर्शियल और रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी के निर्माण, रनवे, इलेक्ट्रिकल, मकैनिकल और औद्योगिक क्षेत्रों के विकास के काम में है. कंपनी की प्रेजेंस विदेशों में भी है, जहां कंपनी लगातार अपना मार्केट बढ़ाने पर जोर दे रही है.

कंपनी को कहां है एडवांटेज

कंपनी कई सेक्टर में कंस्ट्रक्शन बिजनेस में है, जिसका फायदा कंपनी को हो रहा है. इसी वजह से विदेशों से भी कंपनी के पास मजबूत आॅर्डर हैं. कंपनी का आॅपरेटिंग सिस्टम मजबूत है और ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर है. पिछले 2 फाइनेंशियल की बात करें तो आॅर्डरुबक में 12 फीसदी औसत सालाना दर से ज्यादा तेजी आई है. कंपनी के पास 500 करोड़ रुपये की रेंज में कई आॅर्डर हैं. कंपनी का क्रेडिट प्रोफाइल बेहतर है. मजबूत मैनेजमेंट के साथ ट्रेंड इंम्प्लाई कंपनी की ताकत हैं.

मजबूत है आॅर्डरबुक

मार्च 2018 तक कंपनी का आॅर्डरबुक करीब 22407 करोड़ रुपये है. कंपनी के पास इंडियन रेलवे के कई बड़े आकार के आॅर्डर हैं, जो कंपनी की बेहतर स्थिति को दिखाते हैं. कंपनी की बैलेंसशीट मजबूत है और कैश रिच कंपनी मानी जाती है. वित्त वर्ष 2018 में कंपनी का रेवेन्यू 4028 करोड़ रुपये का रहा, जबकि मुनाफा 412 करोड़ रुपये रहा. कंपनी के कुल राजस्व में एक्सपोर्ट का हिस्सा करीब 15 फीसदी है.

निवेश पर क्या है सलाह

ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआईडायरेटक्ट डॉट काम की रिपोर्ट के अनुसार कंपनी का बिजनेस बेहतर है. आॅर्डरबुक मजबूत है. रेलवे के बड़े आॅर्डर मिलनेक का फायदा कंपनी को मिल रहा है. पिछले कुछ फाइनेंशियल से कंपनी का प्रदर्शन अच्छा रहा है. वहीं, शेयर का वैल्युएशन भी भी आकर्षक लग रहा है. ऐसे में सिर्फ लिस्टिंग गेन के लिए आूफर प्राइस पर निवेश किया जा सकता है.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. खुल गया इरकॉन इंटरनेशनल का 467 करोड़ का IPO, निवेश से पहले जानें 5 जरूरी बातें

Go to Top