मुख्य समाचार:

SIP: 2-3 साल के लिए करनी है एसआईपी, थोड़ा बदलें तरीका; COVID-19 के खतरों से मिलेगी सुरक्षा

अगर 2-3 साल के लिए SIP करनी है तो मौजूदा स्थिति में डेट कटेगिरी में अल्ट्रा शॉर्टटर्म, कॉरपोरेट बांड और शॉर्ट टर्म फंड में निवेश करना चाहिए.

Updated: May 27, 2020 12:42 PM
mutual fund, SIP, best mutual fuund to investment in COVID-19 crisis, Should you change your SIP strategy during COVID-19 crisis, shift to debt fund if short term investment target, equity fund, low duration fund, corporate fund, liquid fund, short duration fund, best mutual funds for SIP, एसआईपी, डेट म्यूचुअल फंडअगर 2-3 साल के लिए SIP करनी है तो मौजूदा स्थिति में डेट कटेगिरी में अल्ट्रा शॉर्टटर्म, कॉरपोरेट बांड और शॉर्ट टर्म फंड में निवेश करना चाहिए.

COVID-19 के दौर में इक्विटी से निवेशकों का रिटर्न बिगड़ा है. जिसके बाद निवेशक एक बार फिर सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (SIP) को लेकर लगातार सवाल पूछ रहे हैं. अप्रैल के महीने के आंकड़ों पर नजर डालें तो एसआईपी में इनफ्लो 8000 करोड़ से ज्यादा रहा है. एसआईपी के जरिए एक मुश्त की बजाए हर महीने एक तय राशि निवेश किया जा सकता है, जिससे मार्केट की वोलैटिलिटी में इक्विटी की बजाए यहां सुरक्षा मिलती है. हालांकि एक्सपर्ट का कहना है कि का लक्ष्य पहले देखें लें, उस आधार पर स्कीम का चुनाव करें. अगर 2-3 साल के लिए SIP करनी है तो मौजूदा स्थिति में डेट कटेगिरी में अल्ट्रा शॉर्टटर्म, लिक्विड, कॉरपोरेट बांड और शॉर्ट टर्म फंड में निवेश करना चाहिए.

BPN फिनकैप कंस्लटेंट्स प्राइवेट लिमिटेड के डायरेक्‍टर एके निगम का कहना है कि र्शार्ट टर्म निवेश का लक्ष्य रखने वालों को अभी डेट फंड का चुनाव करना चाहिए जो बाजार में अनिश्चितता से सुरक्षा दे सकते हैं. इक्विटी मार्केट में अभी दबाव है और इसे पूरी तरह से पटरी पर आने में कुछ समय लगेगा. दूसरी ओर अभी ब्याज दरों में कटौती और स्माल सेविंग्स स्कीम में ब्याज दरें घटने से डेट मार्केट को फायदा होगा. डेट सेग्मेंट में ज्यादातर कटेगिरी का रिटर्न 1 साल के दौरान बेहतर हुआ है. ऐसे में 2 से 3 साल का लक्ष्य है तो इस सेग्मेंट में एसआईपी शुरू कर अपने शॉर्ट टर्म गोल पूरे किए जा सकते हैं.

1 साल का लक्ष्य: लो ड्यूरेशन फंड

एक्सपर्ट 1 साल का एसआईपी लक्ष्य रखने वालों को शॉर्ट और लो ड्यूरेशन फंड में निवेश की सलाह दे रहे हैं. लो ड्यूरेशन फंड 6 से 12 महीना पैसे रखने वालों के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है. शॉर्ट ड्यूरेशन फंड की बात करें तो अलग अलग फंड का 1 साल में रिटर्न 9 फीसदी तक रहा है. ये हैं बेस्ट फंड…..

DSP लो ड्यूरेशन

1 साल का रिटर्न: 9.35 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 8.04 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.26 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.09 लाख

आदित्य बिरला सनलाइफ लो ड्यूरेशन

1 साल का रिटर्न: 9.06 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 8.35 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.25 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.10 लाख

कोटक लो ड्यूरेशन

1 साल का रिटर्न: 8.87 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 8.44 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.26 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.10 लाख

SBI मैगनम लो ड्यूरेशन

1 साल का रिटर्न: 8.81 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 7.90 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.25 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.08 लाख

2 साल का लक्ष्य: कॉरपोरेट बांड

एक्सपर्ट 2 साल का एसआईपी लक्ष्य रखने वालों को कॉरपोरेट बांड फंड में निवेश की सलाह दे रहे हैं. कॉरपोरेट बांड फंडों ने पिछले 1 साल में औसत 9 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. वहीं अलग अलग फंड का 1 साल में रिटर्न 16 फीसदी तक रहा है. ये हैं बेस्ट फंड…..

L&T ट्रिपल एस बांड

1 साल का रिटर्न: 16.25 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 9.84 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.30 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.32 लाख

UTI कॉरपोरेट बांड फंड

1 साल का रिटर्न: 12.69 फीसदी
3 साल का रिटर्न: —
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.28 लाख

नोट: इस फंड को अभी 3 साल नहीं हुए.

सुदंरम कॉरपोरेट बांड

1 साल का रिटर्न: 12.49 फीसदी
3 साल का रिटर्न: 8.63 फीसदी
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.28 लाख
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.19 लाख

SBI कॉरपोरेट बांड फंड

1 साल का रिटर्न: 12 फीसदी
3 साल का रिटर्न: —
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.28 लाख

नोट: इस फंड को अभी 3 साल नहीं हुए.

3 साल का लक्ष्य: शॉर्ट ड्यूरेशन फंड

एक्सपर्ट 3 साल का एसआईपी लक्ष्य रखने वालों को शॉर्ट ड्यूरेशन फंड में निवेश की सलाह दे रहे हैं. शॉर्ट ड्यूरेशन फंडों ने पिछले 1 साल में औसत 5.18 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दिया है. वहीं 3 साल का औसत रिटर्न 5.66 फीसदी रहा है. अलग अलग फंड का 3 साल में रिटर्न 9 फीसदी तक रहा है. ये हैं बेस्ट फंड…..

Axis शॉर्ट टर्म फंड

3 साल का रिटर्न: 8.73 फीसदी
1 साल का रिटर्न: 11.31 फीसदी
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.17 लाख
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.27 लाख

L&T शॉर्ट टर्म बांड फंड

3 साल का रिटर्न: 8.73 फीसदी
1 साल का रिटर्न: 11.39 फीसदी
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.17 लाख
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.28 लाख

IDFC आल सीजन बांड फंड

3 साल का रिटर्न: 8.70 फीसदी
1 साल का रिटर्न: 12 फीसदी
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.19 लाख
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.28 लाख

कोटक बांड शॉर्ट टर्म फंड

3 साल का रिटर्न: 8.64 फीसदी
1 साल का रिटर्न: 11.15 फीसदी
3 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 4.16 लाख
1 साल में 10 हजार मंथली एसआईपी की वैल्यू: 1.27 लाख

(Source: value research)

(नोट: हमने यहां फंड के प्रदर्शन और एक्सपर्ट से बात चीत के आधार पर जानकारी दी है. बाजार के जोखिम को देखते हुए निवेश के पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. SIP: 2-3 साल के लिए करनी है एसआईपी, थोड़ा बदलें तरीका; COVID-19 के खतरों से मिलेगी सुरक्षा

Go to Top