मुख्य समाचार:
  1. नतीजों के बाद RIL में आई तेजी, क्या मुनाफे के लिए निवेशकों को शेयर में लगाना चाहिए दांव

नतीजों के बाद RIL में आई तेजी, क्या मुनाफे के लिए निवेशकों को शेयर में लगाना चाहिए दांव

आरआईएल का शेयर खरीदें या इंतजार करें

July 22, 2019 11:21 AM
RIL, Reliance Industries, RIL Stocks, Invest In RIL, Brokerage On RIL Stocks, RIL gain after q1 resultआरआईएल का शेयर खरीदें या इंतजार करें

जून तिमाही के नतीजों के बाद रिलांयस इंडस्ट्रीज के शेयरों में सोमवार को 1.5 फीसदी की तेजी देखी जा रही है. कारोबार के शुरू में ही शेयर 1268 रुपये के भाव तक पहुंच गया जो शुक्रवार को 1249 रुपये पर बंद हुआ था. जून तिमाही में आरआईएल को 10,104 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है, वहीं टेलिकॉम और रिटेल बिजनेस भी बेहतर रहा है. ऐसे में निवेशकों के मन में सवाल उठ रहा है कि क्या आरआईएल के शेयरों में निवेश करने का सही समय है या अभी इंतजार करना चाहिए.

ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के मुताबिक आरआईएल के नतीजों के बाद कई एनालिस्ट ने टारगेट प्राइस घटा दिया है, हालांकि निवेश की भी सलाह दी है. एनालिस्ट के मुताबिक रिफाइनिंग मार्जिन कमजोर रहने और पेट्रोकेम से कमाई घटने की वजह से शार्ट टर्म में शेयरों मे असर पड़ सकता है. उनका कहना है कि अदर इनकम के बढ़ने और खर्च में कमी के चलते कंपनी के मुनाफे में बढ़ोत्तरी रही है. हालांकि कंपनी के टेलिकॉम आर्म जियो को 891 करोड़ का मुनाफा हुआ है जो बेहतर संकेत हैं.

बैंक आफ अमेरिका मेरिल लिंच

रेटिंग: Buy
टारगेट: 1560
पहले कितना था टारगेट: 1515

इडेलवाइस

रेटिंग: Buy
टारगेट: 1652
पहले कितना था टारगेट: 1701

Equirus कैपिटल

रेटिंग: Add
टारगेट: 1398
पहले कितना था टारगेट: 1458

प्रभुदास लीलाधर

रेटिंग: Accumulate
टारगेट: 1363 रुपये
पहले कितना था टारगेट: 1406 रुपये

सेंट्रम

रेटिंग: Buy
टारगेट: 1430 रुपये
पहले कितना था टारगेट: 1450 रुपये

जेफरीज

रेटिंग: अंडरपरफॉर्म
टारगेट: 990

UBS

रेटिंग: Buy
टारगेट: 1500

क्रेडिट सूइस

रेटिंग: न्यूट्रल
टारगेट: 1350

नतीजे एक नजर में

RIL Q1 earnings: Key Highlights
Consolidated Net Profit: RIL का FY20 की पहली तिमाही में शुद्ध मुनाफा 10,104 करोड़ रुपये
Consolidated Revenue: कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू 1.57 लाख करोड़ रुपये
Consolidated EBIDTA: FY20 की पहली तिमाही में आरआईएल का EBIDTA 21,315 करोड़ रुपये
Petrochemicals (EBIDTA) : 8,810 करोड़ रुपये
Refining (EBIDTA) : 5,152 करोड़ रुपये
Oil & Gas (EBIDTA) : 207 करोड़ रुपये
Organised retail (EBIDTA) : 2,049 करोड़ रुपये
Digital Services (EBIDTA) : 4,908 करोड़ रुपये

Go to Top