मुख्य समाचार:

3 महीने में 250 करोड़ घाटे के बाद भी झूमा मारुति, क्या शेयर में आगे मिलेगा मुनाफा?

Maruti Suzuki Stock: तिमाही नतीजों के बाद आज मारुति सुजुकी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है.

Updated: Jul 30, 2020 11:44 AM
Maruti Suzuki, Indian Automaker Company, biggest automaker company maruti, should you invest in maruti suzuki stocks, मारुति सुजुकी के शेयरों में तेजी, brokerage view on mariti stocks, buy maruti, sell maruti, reduce maruti, maruti suzuki demand, lockdown impact on maruti, production of maruti, Maruti net salesMaruti Suzuki Stock Rose Even Loss: तिमाही नतीजों के बाद आज मारुति सुजुकी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है.

साल 2003 में लिस्टिंग के बाद से देश की सबसे बड़ी कार बनाने वाली कंपनी मारुति सुजुकी को पहली बार तिमाही घाटा हुआ है. जून तिमाही में मारुति को 49.4 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. इसके बाद भी तिमाही नतीजों के बाद आज मारुति सुजुकी के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है. मारुति का शेयर करीब 3 फीसदी मजबूत होकर 6376 रुपये के स्तर पर चला गया. ब्रोकरेज हाउस और एक्सपर्ट का कहना है कि लॉकडाउन खुलने के बाद जब मारुति का प्रदर्शन नॉर्मल होने लगा, उस दौरान पहली तिमाही में गिने चुने दिन ही बचे थे. इसलिए जून तिमाही के नतीजों पर लॉकडाउन का असर ज्यादा दिखा है. हालांकि अब देशभर में डिमांड बढ़ने से कंपनी का प्रदर्शन पटरी पर आने लगा है. वहीं मैनेजमेंट की कमेंट्री भी उम्मीद बढ़ाने वाली है.

लॉकडाउन ने डिमांड पड़ गई ठप

सप्लाई साइड में चुनौतियां बढ़ने से कंपनी के मार्केट शेयर में सालाना आधार पर 430 बेसिस प्वॉइंट और तिमाही आधार पर 700 बेसिस प्वॉइंट की कमी आई है और यह 47.3% रह गया है. अप्रैल-जून तिमाही में मारुति सुजुकी को 249.4 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ है. जबकि पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में उसे 1,435.5 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था. इस
तिमाही में कंपनी की शुद्ध बिक्री घटकर 3,677.5 करोड़ रुपये रह गई, जो एक साल पहले की इसी अवधि में 18,735.2 करोड़ रुपये दर्ज की गई थी.

जून तिमाही में कंपनी ने 76,599 यूनिट सेल की, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान तिमाही में मारुति ने 4,02,594 यूनिट सेल की. कंपनी ने घरेलू बाजार में 67,027 यूनिट सेल की. जून तिमाही में 9572 यूनिट का एक्सपोर्ट.

कंपनी के साथ पॉजिटिव फैक्टर

ब्रोकरेज हाउस मोतीलाल ओसवाल के मुताबिक लॉकडाउन खुलने के बाद से डिमांड धीरे धीरे बढ़ रही है. मैनेजमेंट कमेंट्री के अनुसार रिटेल में डिमांड 85-90% तक बैक हो चुकी है. अनलॉक के बाद से कंपनी का आपरेटिंग परफॉर्मेंस पटरी पर आने लगा है.

एंट्री लेवल कारों की डिमांड बढ़कर 65% हुई है जो पहले 55-56% थी. सैलरीड कस्टमर्स का शेयर 45% से बढ़कर 49% हो गया है. पहली बार कार खरीदने वालों का योगदान 50-51% हो गया है. जबकि रिप्लेसमेंट घटा है. करंट प्रोडक्शन का लेवल बढ़ा है.

क्या है ब्रो​करेज की राय

प्रभुदास लीलाधर

सलाह: Buy
लक्ष्य: 6858 रुपये
करंट प्राइस: 6186 रुपये
रिटर्न: 11 फीसदी

मोतीलाल ओसवाल

सलाह: Buy
लक्ष्य: 6850 रुपये
करंट प्राइस: 6186 रुपये
रिटर्न: 11 फीसदी

दोलत कैपिटल

सलाह: Reduce
लक्ष्य: 6520 रुपये
करंट प्राइस: 6186 रुपये
रिटर्न: 5 फीसदी

ईस्ट इंडिया सिक्युरिटीज

सलाह: Sell
लक्ष्य: 5243 रुपये
करंट प्राइस: 6186 रुपये

(नोट: हमने यहां कंपनी के तिमाही प्रदर्शन और ब्रोकरेज हाउस की रिपोर्ट के आधार पर जानकारी दी है. बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. 3 महीने में 250 करोड़ घाटे के बाद भी झूमा मारुति, क्या शेयर में आगे मिलेगा मुनाफा?

Go to Top