मुख्य समाचार:

Q1 नतीजों के बाद मारुति सुजुकी में गिरावट, निवेशक शेयर खरीदें या करें बिकवाली

नतीजों के बाद मारुति के शेयरों में क्या करें निवेशक

July 29, 2019 11:18 AM
Maruti Suzuki Q1 Result, MSI, Maruti Suzuki Net Profit, Brokerage On Maruti Suzuki India, Maruti Sales, buy or sell maruti suzukiनतीजों के बाद मारुति के शेयरों में क्या करें निवेशक

जून तिमाही में निराशाजनक नतीजों के बाद सोमवार को मारुति सुजुकी के शेयरों में बिकवाली देखी जा रही है. कारोबार में कंपनी का शेयर 2.5 फीसदी तक टूटा है. जून तिमाही में वॉल्यूम कमजोर रहने की वजह से कंपनी का मुनाफा सालाना आधार पर 27 फीसदी कम हो गया है. रेवेन्सू 14 फीसदी कमजेार रहा है, EBITDA मार्जिन घटकर 10.4 फीसदी रहा है. हालांकि कमजोर नतीजों के बाद भी कुछ बड़े ब्रोकरेज हाउस ने शेयर में खरीद की सलाह दी है. जानते हैं बड़े ब्रोकरेज हाउस की राय…..

तिमाही नतीजे एक नजर में

मारुति सुजुकी का मुनाफा सालाना आधार पर 27 फीसदी घटकर 1435 करोड़ रुपये रहा है. रेवेन्यू सालाना आधार पर 14 फीसदी घटकर 19720 करोड़ रुपये रहा है. जून तिमाही के दौरान मारुति सुजुकी का वाल्यूम सालाना आधार पर करीब 18 फीसदी घटकर 4,02,594 यूनिट रहा है. मारुति का EBITDA 3351 करोड़ रुपये से घटकर 2048 करोड़ रुपये रहा है. वहीं इस दौरान EBITDA मार्जिन घटकर 10.4 फीसदी रहा है.

क्यों प्रभावित हुआ मुनाफा

कंपनी का कहना है कि हायर सेल्स प्रमोशंन एक्सपेंसेज, डेप्रिसिएसंश और लो कैपेसिटी यूटिलाइजेशन के चलते जून तिमाही में कंपनी के नतीजे प्रभावित हुए हैं. हालांकि विज्ञापन के खर्चों में कटौती, कास्ट रिडक्शन के दूसरे प्रयासों, कमोडिटी की कीमतों के स्थिर होने और रुपये में मजबूती की वजह से मुनाफा ज्यादा प्रभावित होने से बच गया.

नोमुरा

रेटिंग: Neutral
टारेट: 6290 रुपये
पहले का टारगेट: 6717 रुपये

डिमांड कंडीशन अभी भी टाइट बना हुआ है, जबकि रेगुलेटरी कास्ट से मार्जिन पर दबाव की उम्मीद है. कंपनी ने आगे वॉल्यूम को लेकर कोई गाइडेंस नहीं दिया है, जिससे साफ है कि आगे भी डिमांड को लेकर अनिश्चितता बनी हुई है.

गोल्डमैन सैक्स

रेटिंग: ‘Buy’
टारगेट: 7210 रुपये

ब्रोकरेज के अनुसार कार डिमांड सुस्त रहने के चलते मारुति का मुनाफा प्रभावित हुआ है. हालां​कि कंपनी ने खर्चों में कमी की है, जिससे मार्जिन 10.4 फीसदी रहा है. आगे BS-VI ट्रांजिशन का सबसे ज्यादा फायदा मारुति को हो सकता है.

Citi

रेटिंग: ‘Buy’
टारगेट: 7400 रुपये

ब्रोकरेज के अनुसार कंपनी का ग्रॉस मार्जिन 80 बेसिस प्वॉइंट घट गया है. कंपनी कैपेसिटी यूटिलाइजेशन बढ़ाने में लगी है. हालांकि कंपनी इस पोजिशन में है कि वह आगे आउटपरफॉर्म कर सकती है.

UBS ग्रुप

रेटिंग: ‘Sell’
टारगेट: 5800 रुपये

ब्रोकरेज के अनुसार कंपनी का आउटलुक कमजोर दिख रहा है. रूरल और अर्बन दोनों ही उिमंड कमजोर बनी हुई है. टाइट फाइनेंस अवेबिलिटी और कमजोर फुटफाल के चलते डिमांड पर असर होगा. लोअर यूटिलाइजेशन के चलते मार्जिन पर दबाव हो सकता है.

मोतीलाल ओसवाल

रेटिंग: ‘Buy’
टारगेट: 6950 रुपये

ओरिजिनल इक्विपमेंट मैन्युुफैक्चरर स्पेस में कंपनी सबसे अच्छे पोजिशन में है. इस वजह से मौजूदा समय में इंडस्ट्री पर जो दबाव है, उसे मारुति सबसे बेहतर ढंग से हैंडल कर सकती है.

(Disclaimer: यह एक रिपोर्ट है, हमने यहां शेयर खरीदने की सलाह नहीं दी है. बाजार में जोखिम को देखते हुए अपने स्तर पर सलाह लेकर ही निवेश करें.)

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

  1. बिज़नस न्यूज़
  2. कारोबार बाजार
  3. Q1 नतीजों के बाद मारुति सुजुकी में गिरावट, निवेशक शेयर खरीदें या करें बिकवाली

Go to Top