scorecardresearch

SGB Scheme 2021-22-Series VIII: 29 नवंबर को खुलेगा गोल्ड बांड का सब्सक्रिप्शन, 4,791 रु/ग्राम होगा इश्यू प्राइस

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की आठवीं सीरीज सब्सक्रिप्शन के लिए 29 नवंबर को खुलेगी और 03 दिसंबर, 2021 को बंद हो जाएगी.

SGB Scheme 2021-22-Series VIII: 29 नवंबर को खुलेगा गोल्ड बांड का सब्सक्रिप्शन, 4,791 रु/ग्राम होगा इश्यू प्राइस
गोल्ड बॉन्ड का मूल्य 4,791 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है.

Sovereign Gold Bond Scheme 2021-22: सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 का इश्यू प्राइस 4,791 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है. यह जानकारी भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने दी है. सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड स्कीम 2021-22 की आठवीं सीरीज सब्सक्रिप्शन के लिए 29 नवंबर को खुलेगी और 03 दिसंबर, 2021 को बंद हो जाएगी. RBI ने एक बयान में कहा, ‘‘गोल्ड बॉन्ड का मूल्य 4,791 रुपये प्रति ग्राम तय किया गया है.’’

New Coronavirus variant: दिल्ली LG ने बुलाई इमरजेंसी मीटिंग, कोरोना के नए वैरिएंट से निपटने की तैयारियों पर होगी चर्चा, जानें कितना खतरनाक है यह वायरस

डिजिटली पेमेंट पर मिलेगी छूट

RBI के अनुसार सरकार ने केंद्रीय बैंक के साथ विचार-विमर्श कर ऑनलाइन आवेदन करने और डिजिटल माध्यम से भुगतान करने पर निवेशकों को प्रति ग्राम 50 रुपये की छूट देने का निर्णय लिया है. ऐसे निवेशकों के लिए गोल्ड बॉन्ड का इश्यू प्राइस 4,741 रुपये प्रति ग्राम होगा. सीरीज 7 का इश्यू प्राइस 4,761 रुपये प्रति ग्राम था. आरबीआई भारत सरकार की ओर से बांड जारी करेगा. ये बांड बैंकों (स्मॉल फाइनेंस बैंकों और पेमेंट बैंकों को छोड़कर), स्टॉक होल्डिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (SHCIL), नामित डाकघरों और मान्यता प्राप्त स्टॉक एक्सचेंजों जैसे नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज लिमिटेड के माध्यम से बेचे जाएंगे.

VLCC Health Care को मिली SEBI की मंजूरी, दिसंबर के अंत तक आ सकता है IPO, जानें पूरी डिटेल

क्या है सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2020-21

RBI सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2020-21 भारत सरकार की तरफ से जारी करता है. बॉन्ड में निवेशक एक ग्राम के मल्टीप्लाई यानी गुणक में निवेश कर सकते हैं. इसमें निवेश की अवधि आठ साल है. पांचवें साल से योजना से ब्याज भुगतान की तिथि से बाहर निकलने का विकल्प उपलब्ध है. बॉन्ड की बिक्री व्यक्तिगत रूप से भारत के निवासियों, हिंदू अविभाजित परिवारों, ट्रस्ट्स, विश्वविद्यालय और परमार्थ संस्थानों को ही की जाएगी.

इसमें व्यक्तिगत रूप से और हिंदू अविभाजित परिवार प्रति वित्त वर्ष न्यूनतम एक ग्राम सोने और अधिकतम चार किलो सोने के लिये निवेश कर सकते हैं. जबकि ट्रस्ट और इस प्रकार की अन्य इकाइयां प्रति वर्ष 20 किलो सोने में निवेश कर सकते है. गोल्ड बॉन्ड की बिक्री बैंकों (स्मॉल फाइनेंस बैंकों और भुगतान बैंकों को छोड़कर), स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया, मनोनीत डाकघरों और मान्यता प्राप्त शेयर बाजारों (बीएसई और एनएसई) के जरिये की जाएगी.

Get Business News in Hindi, latest India News in Hindi, and other breaking news on share market, investment scheme and much more on Financial Express Hindi. Like us on Facebook, Follow us on Twitter for latest financial news and share market updates.

First published on: 26-11-2021 at 22:20 IST

TRENDING NOW

Business News